होम /न्यूज /राष्ट्र /

वैष्णो देवी यात्रा फिर शुरू, भारी बारिश से अचानक आई बाढ़ के कारण लगी थी अस्थाई रोक

वैष्णो देवी यात्रा फिर शुरू, भारी बारिश से अचानक आई बाढ़ के कारण लगी थी अस्थाई रोक

वैष्णो देवी यात्रा फिर शुरू (ANI)

वैष्णो देवी यात्रा फिर शुरू (ANI)

जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश के बाद अचानक आई बाढ़ के कारण रोकी गई वैष्णो देवी यात्रा फिर से शुरू कर दी गई है. माता वैष्णो देवी तीर्थ के लिए तीर्थयात्रियों की आवाजाही शनिवार को फिर से शुरू हो गई.

हाइलाइट्स

बाढ़ के कारण रोकी गई वैष्णो देवी यात्रा फिर से शुरू
भारी बारिश से अचानक आई बाढ़ के कारण वैष्णो देवी यात्रा को अस्थाई रूप से रोका गया था
भारी बारिश से वैष्णो देवी ट्रैक पर बाढ़ जैसे हालात दिखे

जम्मू. जम्मू-कश्मीर में भारी बारिश के बाद अचानक आई बाढ़ के कारण रोकी गई वैष्णो देवी यात्रा फिर से शुरू कर दी गई है. माता वैष्णो देवी तीर्थ के लिए तीर्थयात्रियों की आवाजाही शनिवार को फिर से शुरू हो गई. भारी बारिश के कारण अचानक आई बाढ़ के कारण वैष्णो देवी यात्रा को अस्थाई रूप से रोक दिया गया था. श्री माता वैष्णो देवी श्राइन बोर्ड के सीईओ अंशुल गर्ग ने कहा कि किसी के हताहत होने या संपत्ति के नुकसान की कोई खबर नहीं है और स्थिति नियंत्रण में है.

न्यूज एजेंसी एएनआई की खबर के मुताबिक धर्मस्थल बोर्ड ने बताया कि भारी बारिश के मद्देनजर कटरा से वैष्णो देवी की ओर जाने वाले तीर्थयात्रियों की आवाजाही रोकी गई थी. जबकि नीचे की ओर आने वाले तीर्थयात्रियों को प्राथमिकता दी जा रही थी. भवन क्षेत्र में श्राइन बोर्ड के कर्मचारियों, पुलिस और सीआरपीएफ के अधिकारियों और भवन में तैनात अतिरिक्त मुख्य कार्यकारी अधिकारी नवनीत की निगरानी में सांझीछत और फिर कटरा की ओर आने वाले यात्रियों को प्राथमिकता दी जा रही थी.

सोशल मीडिया पर शेयर किए गए कई वीडियो में वैष्णो देवी ट्रैक पर बाढ़ जैसे हालात दिखाई दे रहे थे. एक अधिकारी के अनुसार वैष्णो देवी मंदिर में जाने वाले तीर्थयात्रियों के आधार शिविर कटरा में शाम को कई घंटों तक मूसलाधार बारिश से होती रही. जिसके कारण अधिकारियों को एहतियात के तौर पर शनिवार सुबह 5 बजे तक यात्रा को रोकना पड़ा.

Indian Railways: माता वैष्णो देवी यात्रा करने जा रहे हैं तो चैक कर लें इस ट्रेन का टाइम टेबल, 10 अगस्त से इस टाइम पहुंचेगी ये ट्रेन

जब तेज बारिश शुरू हुई और आधी रात तक लगातार जारी रही, तब हजारों तीर्थयात्री मंदिर में मौजूद थे. अधिकारियों ने कहा कि इसके कारण हिमकोटी (बैटरी वाहन) ट्रैक को रोक दिया गया था. दहशत से बचने के लिए पब्लिक एड्रेस सिस्टम के जरिए नियमित घोषणाएं की गईं. अधिकारियों ने यह भी कहा कि आपातकालीन प्रतिक्रिया टीमों, सीआरपीएफ और चिकित्सा इकाइयों को हाई अलर्ट पर रखा गया.

Tags: Jammu and kashmir, Mata Vaishno Devi, Vaishno Devi

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर