घाटी के बाद जम्मू बना कोरोना का नया हॉटस्पॉट, एक हफ्ते में 3 की मौत और 20 केस

घाटी के बाद जम्मू बना कोरोना का नया हॉटस्पॉट, एक हफ्ते में 3 की मौत और 20 केस
जम्मू में लगातार बढ़ रहे हैं कोरोना के केस (फाइल फोटो)

जम्मू (Jammu) का करण बाग इलाका कोरोना का नया हॉटस्पॉट बनने की तरफ अग्रसर है. यहां पिछले 1 हफ्ते में तीन मौतें हुई है और 20 से अधिक कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. 25 मार्च से लगातार जारी लॉकडाउन (Lockdown) की मार आम आदमी पर पड़ रही है और उसका जीना दुर्लभ हो रहा है. इसी बीच कोरोना (Coronavirus) भी अब गरीबों से निवाला छीनने पर उतारू है. मामला जम्मू के करण बाग इलाके का है, जहां एक दुकान पर अपनी रोजी-रोटी चलाने वाले सूरत का पूरा परिवार ही कोरोना की वजह से तबाह हो गया है.

कश्मीर घाटी (Kashmir Ghati) के बाद अब जम्मू में भी कई इलाके कोरोना के हॉटस्पॉट बनते जा रहे हैं. दिन की शुरुआत जम्मू के तरफ दिलों इलाके से हुई थी जहां दो मृत्यु होने के बाद लगातार केसों की संख्या 30 को पार कर गई थी. वहीं अब जम्मू का करण बाग इलाका कोरोना का नया हॉटस्पॉट बनने की तरफ अग्रसर है. यहां पिछले 1 हफ्ते में तीन मौतें हुई हैं और 20 से अधिक कोरोना वायरस के मामले सामने आए हैं. जिन 3 लोगों की मृत्यु हुई है वे एक ही परिवार से थे और परिवार का चौथा सदस्य अभी भी वेंटिलेटर पर मौत से लड़ाई लड़ रहा है. वही उनके अलावा उनकी एक बहू और उसके दो बच्चे भी कोरोना से संक्रमित हैं. यह परिवार एक दुकान चलाकर अपनी रोजी-रोटी का गुजारा करता था.

जम्मू-कश्मीर में कोरोना वायरस के मामले लगातार बढ़ रहे हैं और इसी के चलते प्रशासन की तरफ से लगातार कड़े कदम भी उठाए जा रहे हैं. जिन इलाके से मामले सामने आ रहे हैं उन इलाकों में प्रशासन की तरफ से लॉकडाउन को सुचारू रूप से लगवाया जा रहा है, ताकि कोरोना वायरस के कहर को और बढ़ने से रोका जा सके. यह परिवार अपने अन्य रिश्तेदारों के साथ जम्मू के पुंछ में गुरुद्वारे में दर्शन करने गया था और वहां से आने के बाद ही इनमें कोरोना वायरस की पुष्टि हुई. जिसके बाद लगातार पूरे इलाके को कंटेनमेंट जोन में तब्दील कर दिया गया और प्रशासन की तरफ से बड़े पैमाने पर कोरोना की टेस्टिंग की गई जिसके बाद यह मामले सामने आए थे.



जम्मू-कश्मीर में कोरोना का ग्राफ लगातार बढ़ता जा रहा है और पूरे केंद्र शासित प्रदेश में मामलों की संख्या 18,879 पहुंच गई है. वहीं अगर मृत्यु की बात करें तो पूरे जम्मू-कश्मीर में 339 तक मृत्यु का आंकड़ा पहुंच गया है. जम्मू-कश्मीर में लॉकडाउन के बाद से ही कोरोना का ग्राफ तेजी से बढ़ रहा है और लगातार मामलों की संख्या भी बढ़ती जा रही है. 28 जुलाई को ही जम्मू-कश्मीर से 489 मामले सामने आए जिनमें से 134 जम्मू संभाग से और 355 कश्मीर घाटी से हैं. पूरे जम्मू-कश्मीर में पिछले 24 घंटे में 12 मौतें भी हुई है.
वहीं, दूसरी ओर जम्मू-कश्मीर में जिस तरह से बढ़ते कोरोना वायरस के मामलों के चलते अस्पतालों पर बोझ पड़ रहा है उसको देखते हुए जम्मू-कश्मीर सरकार ने एक बड़ा फैसला लिया है और यह तय किया है कि कोरोना वायरस से संक्रमित वे लोग जिनमें किसी भी तरह के लक्षण नहीं हैं उन्हें घर पर ही रखा जाएगा और सरकार की तरफ से उन्हें एक ऑक्सीमीटर मुहैया करवाया जाएगा.

जम्मू-कश्मीर सरकार की तरफ से यह फैसला दिल्ली की केजरीवाल सरकार के उस फैसले की तर्ज पर लिया गया है, जिसमें दिल्ली में बढ़ते मामलों को देखते हुए केजरीवाल सरकार ने बिना लक्षण के रोगियों के घर पर रहने के आदेश दिए थे. जिसके बाद दिल्ली में कोरोना वायरस के मामलों की संख्या में भी कमी आई थी और रिकवरी रेट भी 80% को पार कर गया था. वहीं अगर जम्मू-कश्मीर की अब तक के आंकड़ों की बात करें तो जम्मू-कश्मीर में रिकवरी रेट 53% तक पहुंच गया है, हालांकि जिस तरह से लगातार मामले सामने आ रहे हैं उससे विशेषज्ञों का यह भी कहना है कि आने वाले दिनों में रिकवरी रेट में गिरावट दर्ज की जा सकती है क्योंकि जितने मामले पिछले 20 दिनों में सामने आए हैं उन्हें ठीक होने में समय अधिक लगेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading