• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • जम्मू IAF स्टेशन आतंकी हमला: NIA ने अपने हाथों में ली जांच, इन दफाओं में दर्ज किया केस

जम्मू IAF स्टेशन आतंकी हमला: NIA ने अपने हाथों में ली जांच, इन दफाओं में दर्ज किया केस

जम्मू के वायु सेना स्टेशन पहुंची NIA की टीम ने विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है. (ANI Twitter/29 June 2021)

जम्मू के वायु सेना स्टेशन पहुंची NIA की टीम ने विभिन्न धाराओं के तहत केस दर्ज किया है. (ANI Twitter/29 June 2021)

Jammu Air Force Station Drone Attack: जम्मू में उच्च सुरक्षा वाले हवाई अड्डा परिसर स्थित वायुसेना स्टेशन में शनिवार देर रात ड्रोन का इस्तेमाल करते हुए दो बम गिराये गए थे.

  • Share this:

    श्रीनगर. जम्मू हवाई अड्डा परिसर में स्थित वायुसेना स्टेशन (Jammu Air Force Station Attack) पर दो ड्रोनों के जरिए किए गए आतंकी हमले की जांच की जिम्मेदारी अब राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) ने संभाल ली है. मंगलवार को जम्मू वायु सेना स्टेशन पहुंची एनआईए की टीम ने ड्रोन हमले की जांच अपने हाथ में ली. एनआई ने विस्फोटक पदार्थ अधिनियम, 1908 की धारा 3 और 4, यूए (पी) अधिनियम, 1967 की धारा 13, 16, 18 और 23 और आईपीसी की धारा 307, 120 बी के तहत मामला दर्ज किया है.


    गौरतलब है कि जम्मू में उच्च सुरक्षा वाले हवाई अड्डा परिसर स्थित वायुसेना स्टेशन में शनिवार देर रात ड्रोन का इस्तेमाल करते हुए विस्फोटक गिराये गए थे, जिसमें दो जवान मामूली रूप से घायल हो गए थे. पाकिस्तान स्थित आतंकवादियों का देश के किसी महत्वपूर्ण प्रतिष्ठान पर इस तरह का यह पहला ड्रोन हमला है.


    जम्मू ड्रोन ब्लास्ट का क्‍या है इराक-सीरिया ल‍िंक? NIA करेगी हमले की जांच


    पहला विस्फोट शनिवार देर रात एक बजकर 40 मिनट के आसपास हुआ, जबकि दूसरा उसके छह मिनट बाद हुआ. उन्होंने बताया कि इस बम विस्फोट में दो वायुसेना कर्मी घायल हो गए. उन्होंने बताया कि पहले धमाके में शहर के बाहरी सतवारी इलाके में भारतीय वायुसेना द्वारा संचालित हवाई अड्डे के उच्च सुरक्षा वाले तकनीकी क्षेत्र में एक मंजिला इमारत की छत को नुकसान हुआ, जबकि दूसरा विस्फोट छह मिनट बाद जमीन पर हुआ.


    कश्मीर में कायराना हरकत का सूद और ब्याज समेत दिया जाएगा जवाब, नकवी की आतंकियों को चेतावनी


    अधिकारियों ने बताया कि ड्रोन द्वारा गिरायी गई विस्फोटक सामग्री आरडीएक्स और अन्य रसायनों के मिश्रण का उपयोग कर बनायी गई हो सकती है, लेकिन इस बारे में अंतिम पुष्टि होने का इंतजार है. जांचकर्ताओं ने हवाई अड्डे की चारदीवारी पर लगे कैमरों सहित सीसीटीवी फुटेज खंगाला है ताकि यह पता लगाया जा सके कि ड्रोन कहां से आए थे. हालांकि सभी सीसीटीवी कैमरे सड़क की ओर लगे थे.




    अधिकारियों ने कहा कि ड्रोन ने विस्फोटक सामग्री गिराई और वे रात के दौरान या तो सीमा पार या किसी अन्य स्थान चले गए. जम्मू हवाई अड्डे और अंतरराष्ट्रीय सीमा के बीच हवाई दूरी 14 किलोमीटर है. हवाई अड्डा परिसर स्थित वायुसेना स्टेशन में किसी को भी प्रवेश करने की अनुमति नहीं है और एनआईए की एक टीम समेत अन्य जांच दल मौके पर मौजूद बारीक से बारीक साक्ष्य को एकत्र कर रहे हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज