J&K: राजौरी से लश्कर के 3 आतंकी गिरफ्तार, लेने पहुंचे थे पाकिस्‍तानी ड्रोन से गिराए गए हथियार

जम्‍मू कश्‍मीर से तीन आतंकी गिरफ्तार
जम्‍मू कश्‍मीर से तीन आतंकी गिरफ्तार

जम्‍मू कश्‍मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह (Jammu & Kashmir DGP Dilbag Singh ) ने बताया कि कश्‍मीर घाटी में ड्रोन (Drone) के जरिए आतंकियों तक हथियार पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. कश्मीर के राजौरी (Rajouri) में पुलिस ने ऐसे ही एक मामले में तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया है. ये आतंकी ड्रोन से गिराए गए हथियार और ड्रग्स उठाने आए थे. ऐसा बताया जा रहा है कि वह लश्‍कर ए तैयबा (Lashkar e Taiba) से संबंधित हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 19, 2020, 4:25 PM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. जम्‍मू कश्‍मीर (Jammu Kashmir) में सुरक्षाबलों की लगातार कार्रवाई से आतंकियों (Terrorist) के हौसले पस्‍त हैं. सेना की सख्‍ती से स्थित‍ि यह हो गई है कि आतंकियों के पास अब हथियार नहीं है. अब आतंकवाद को बढ़ावा देने के लिए पाकिस्‍तान (Pakistan) हर संभव कोशिश कर रहा है. वह घाटी में मौजूद आतंकियों तक हथियार पहुंचाने के लिए हर तरह का पैतरा अपना रहा है. जम्‍मू कश्‍मीर के डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि कश्‍मीर घाटी में ड्रोन (Drone) के जरिए आतंकियों तक हथियार पहुंचाने की कोशिश की जा रही है. ड्रोन के जरिए हथियार गिराने का मामला भी सामने आया है. कश्मीर के राजौरी (Rajouri) में पुलिस ने ऐसे ही एक मामले में तीन आतंकियों को गिरफ्तार किया है. ये आतंकी ड्रोन से गिराए गए हथियार और ड्रग्स उठाने आए थे. ऐसा बताया जा रहा है कि वह लश्‍कर ए तैयबा (Lashkar e Taiba) से संबंधित हैं.

डीजीपी दिलबाग सिंह ने बताया कि ड्रोन के जरिए आतंकियों को मिले हथियार और गोला बारूद को बरामद कर लिया गया है. ऐसा बताया जा रहा है कि ये तीनों आतंकी दक्षिण कश्‍मीर के शोपियां जिले के रहने वाले हैं. पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है. ऐसी आशंका है कि उनसे राजौरी और शोपियां में सक्रिय लश्‍कर के नेटवर्क के बारे में काफी जानकारी मिल सकती है.


जम्मू-कश्मीर के पुंछ में नियंत्रण रेखा के निकट चार मोर्टार निष्क्रिय किए
जम्मू कश्मीर के पुंछ जिले में सेना ने शुक्रवार को नियंत्रण रेखा के निकट संघर्ष विराम के उल्लंघन के दौरान पाकिस्तानी सेना की तरफ से दागे गए मोर्टार के चार बिना फटे गोलों का पता लगाकर उनको नष्ट किया गया. आधिकारिक सूत्रों ने यह जानकारी दी.



ये भी पढ़ें: राज्यसभा में कल पेश होगा कृषि सुधार विधेयक, जानें किसका पलड़ा है भारी

ये भी पढ़ें: दिल्ली पुलिस ने शरजील इमाम को अलीगढ़ न्यायालय में किया पेश, लौटा तिहाड़

उन्होंने कहा कि नियंत्रण रेखा से लगे बालाकोट इलाके को निशाना बनाकर बृहस्पतिवार को पाक की तरफ से दागे गए मोर्टार के गोलों के नहीं फटने की सूचना ग्रामीणों ने दी थी जिसके बाद बम निरोधक दस्ते का दल इलाके में पहुंचा था. उन्होंने कहा कि दल ने अभियान के दौरान इन गोलों का पता लगाकर उन्हें नष्ट किया और इलाके में जान-माल का कोई नुकसान नहीं होने दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज