J&K-लद्दाख में सर्दी की दस्‍तक, द्रास में -4 डिग्री पहुंचा तापमान तो लेह में भी लुढ़का पारा

लद्दाख और जम्‍मू कश्‍मीर में कड़ाके की ठंड ने दस्‍तक दे दी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर- PTI)
लद्दाख और जम्‍मू कश्‍मीर में कड़ाके की ठंड ने दस्‍तक दे दी है. (प्रतीकात्‍मक तस्‍वीर- PTI)

Temperature Reached Minus Four Degrees in Dras: मौसम विभाग ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख के तापमान में बहुत तेजी से बदलाव हुआ है. मौसम के खुश्‍क रहने और आसमान साफ होने के कारण दिन और रात के तापमान में बदलाव दर्ज किया गया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 16, 2020, 4:27 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. इस बार अक्‍टूबर में ही हांड कंपाने वाली ठंड पड़ने लगी है. सर्दी की शुरुआत में ही पारा शून्‍य डिग्री के नीचे चला गया है. मौसम विभाग (IMD) के अनुसार, 16 अक्‍टूबर को दुनिया की दूसरी सबसे ठंडी जगह द्रास (Dras) रहा. द्रास का तापमान माइनस चार डिग्री दर्ज किया गया. जबकि इसी दिन लेह (Leh) का तापमान माइनस तीन डिग्री था. मौसम विभाग ने कहा कि जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख के तापमान में बहुत तेजी से बदलाव हुआ है. मौसम के खुश्‍क रहने और आसमान साफ होने के कारण दिन और रात के तापमान में बदलाव दर्ज किया गया है.

विभाग ने कहा कि इसके कारण दिन में काफी ज्‍यादा गर्मी और रात में सर्दी पड़ने लगी है. लद्दाख में शाम के वक्‍त लोग गर्म कपड़े पहनने लगे हैं और हीटर का उपयोग भी शुरू हो गया है. हालांकि मौसम विभाग का यह भी कहना है कि मौसम में आया बदलाव असामान्‍य बात नहीं है. यहां पर अगले कई दिनों तक बर्फबारी की कोई उम्‍मीद नहीं है. इसलिए जम्‍मू-कश्‍मीर और लद्दाख का तापमान अभी और भी गिर सकता है.

चीन को सर्दियों में भी LAC पर मिलेगा मुंहतोड़ जवाब
चीन से भारी तनाव के बीच भारतीय सेना आगामी सर्दी के मौसम में भी लद्दाख में वास्तविक नियंत्रण रेखा/एलएसी (LAC) पर डटे रहने के लिए पूरी तरह से तैयार है. इसी के तहत भारतीय वायुसेना का सी-17 ग्‍लोबमास्‍टर ट्रांसपोर्ट एयरक्राफ्ट लद्दाख के लेह एयरबेस पर जवानों के लिए आवश्‍यक सामान पहुंचा रहा है. वहीं भारतीय वायुसेना का चिनूक हेलीकॉप्‍टर भी लेह एयरबेस पर रक्षा और भीषण सर्दी में बचाव के लिए गर्म रखने वाले उपकरण पहुंचा रहा है. ऐसा कहा जा रहा है कि कपड़े और टेंट से लेकर राशन, ईंधन और गोला बारूद जैसे सभी आवश्यक सामान पर्याप्त मात्रा में सेना की अग्रिम चौकियों तक पहुंचा दिए गए हैं.
ये भी पढ़ें:


पाकिस्‍तान: जब भरी मीटिंग में पुलिस चीफ और SP के बीच चले लात-घूसे और जूते, जानें पूरा मामला
आतंकवाद के खिलाफ बहादुरी से लड़ने वाले शौर्य चक्र विजेता बलविंदर सिंह की हत्या

किसी भी चुनौती से निपटने के लिए वायुसेना अच्छी स्थिति में: वायुसेना प्रमुख भदौरिया
वायुसेना प्रमुख आरकेएस भदौरिया ने चीन के साथ पूर्वी लद्दाख में चल रहे गतिरोध के संदर्भ में अभी कुछ दिन पहले कहा कि किसी भी खतरे का सामना करने के लिए भारतीय वायुसेना बेहद 'अच्छी स्थिति' में है और देश के सुरक्षा परिदृश्य को देखते हुए सभी प्रासंगिक क्षेत्रों में काफी मजबूत तैनाती की गई है. वायुसेना दिवस से पहले एक संवाददाता सम्मेलन को संबोधित करते हुए भदौरिया ने कहा कि चीनी वायुशक्ति भारत की क्षमताओं से बेहतर नहीं हो सकती, लेकिन इसके साथ ही यह भी जोड़ा कि विरोधियों को कमतर आंकने का कोई सवाल नहीं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज