शुजात बुखारी की हत्या पर रो पड़ीं महबूबा मुफ्ती, कहा- न्याय होगा

बुखारी को 2000 में हुए हमले के बाद पुलिस सुरक्षा दी गई थी. उन्होंने कई शांति सम्मेलनों के आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी.


Updated: June 14, 2018, 10:38 PM IST
शुजात बुखारी की हत्या पर रो पड़ीं महबूबा मुफ्ती, कहा- न्याय होगा
जम्मू-कश्मीर की सीएम महबूबा मुफ्ती.

Updated: June 14, 2018, 10:38 PM IST
राइजिंग कश्मीर के संपादक शुजात बुखारी और उनके दो पीएसओ की गुरुवार को श्रीनगर में अज्ञात बंदूकधारियों ने गोली मारकर हत्या कर दी गई. उनकी हत्या की निंदा करते हुए जम्मू-कश्मीर की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती रो पड़ीं. टीवी चैनलों पर प्रसारित हो रहे फुटेज में सीएम वरिष्ठ पत्रकार के साथ कुछ दिन पहले हुई अपनी मुलाकात को याद करते हुए रोती नज़र आईं.

अपने आंसुओं को थामने की कोशिश करती हुई भावुक महबूबा मुफ्ती ने कहा, ‘मैं क्या कह सकती हूं. कुछ दिन पहले ही वह मुझसे मिलने आए थे.’

महबूबा ने ट्वीट किया, ‘शुजात बुखारी के अचानक चले जाने से स्तब्ध और दुखी हूं. आतंकवाद की बुराई ने ईद के ठीक पहले अपना घिनौना चेहरा दिखाया है.’



उन्होंने कहा, ‘मैं बर्बर हिंसा की कड़ी निंदा करती हूं और प्रार्थना करती हूं कि ईश्वर उनकी (बुखारी) आत्मा को शांति प्रदान करें. उनके परिवार के प्रति मेरी गहरी संवेदनाएं.' महबूबा ने लिखा- 'शुजात की हत्या से आतंकवाद का घिनौना चेहरा दिखा है. शांति बहाल करने के हमारे प्रयासों को कमतर करने वाली शक्तियों के खिलाफ हमें एकजुट होना चाहिए. न्याय होगा.’

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने भी बुखारी की हत्या पर दुख जताया. उमर ने ट्वीट किया, ‘मैं पूरी तरह स्तब्ध हूं. दुख को शब्दों में बयां नहीं कर सकता. शुजात को जन्नत में जगह मिले और उनके प्रियजनों को इस कठिन समय को सहने की शक्ति मिले.’



माकपा नेता एम वाई तारिगामी ने कहा कि यह शांति के दूत को खामोश करने का हिंसक लोगों का बर्बर प्रयास है. यह प्रेस की स्वतंत्रता पर हमला है और इसकी कड़े शब्दों में निंदा किए जाने की जरूरत है.

बुखारी को 2000 में हुए हमले के बाद पुलिस सुरक्षा दी गई थी. उन्होंने कई शांति सम्मेलनों के आयोजन में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी. यह घटना उस समय हुई जब वह प्रेस एंक्लेव स्थित अपने कार्यालय से एक इफ्तार पार्टी में शामिल होने जा रहे थे.

(इनपुट भाषा से)

 

 

 
News18 Hindi पर Jharkhand Board Result और Rajasthan Board Result की ताज़ा खबरे पढ़ने के लिए यहाँ क्लिक करें .
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Nation News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर