• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • J&K धर्मांतरण मामला: बहन ने कहा- सिख महिला के साथ पसंद नहीं थे भाई के रिश्ते

J&K धर्मांतरण मामला: बहन ने कहा- सिख महिला के साथ पसंद नहीं थे भाई के रिश्ते

दो लड़कियों को अगवा कर उनका बलपूर्वक धर्मांतरण और शादी करने के खिलाफ श्रीनगर में प्रदर्शन करते सिख समुदाय के लोग.

दो लड़कियों को अगवा कर उनका बलपूर्वक धर्मांतरण और शादी करने के खिलाफ श्रीनगर में प्रदर्शन करते सिख समुदाय के लोग.

J&K Conversion Row: मनजिंदर सिंह सिरसा ने आरोप लगाया था कि हाल में कश्मीर में चार सिख महिलाओं का जबरन विवाह कराया गया और उन्हें इस्लाम धर्म कबूल करवाया गया. उन्होंने महिलाओं को उनके परिवार को सौंपने की मांग की थी.

  • Share this:
    जम्मू. पिछले दिनों कश्मीर से एक जबरन धर्मांतरण (J&K Conversion Row) का मामला सामने आया था. जिस सिख युवती को कथित धर्म बदलने का दबाव डाला गया था अब उसे छुड़ाकर उसके परिवार को सौंप दिया गया है. इसी हफ्ते एक सिख युवक से लड़की की शादी भी हो गई और वो दिल्ली आ गईं हैं. जबकि आरोपी युवक शाहीद नज़ीर भट इस वक्त जेल में है. इस बीच इस शख्स की बहन का कहना है कि उनके परिवारवालों को सिख महिला के साथ उनके भाई के रिश्ते पसंद नहीं थे.

    शाहिद नज़ीर भट 21 जून से गायब थे. उनके परिवरवालों को उसके बारे में कोई खबर नहीं थी. दो दिन बाद पुलिस ने परिवार को बताया कि वो एक सिख महिला के साथ भाग गया था और उसके परिवारवालों ने शिकायत दर्ज कराई थी. अपहरण और आपराधिक धमकी के आरोप में अब 29 साल के भट को गिरफ्तार कर लिया गया है. इसके अलावा भट के खिलाफ जबरन धर्मांतरण का भी मामला दर्ज किया गया है.

    भट का तलाक
    अंग्रेजी अखबार इंडियन एक्सप्रेस से बातचीत श्रीनगर के रैनावारी में रहने वाले भट के परिवार का कहना है कि उनका तलाक हो गया है. बड़ी बहन रुकैया भट ने कहा, ' उनकी छह साल की बेटी है जो उनके साथ रहती है. शादी के दो साल बाद उनका और उनकी पत्नी का तलाक हो गया.'

    रिश्ते से खुश नहीं
    रुकैया का कहना है कि वे कौर के साथ भट की दोस्ती से खुश नहीं थे. 'मेरे भाई का एक बच्चा है और मैंने उसके परिवार को सूचित किया कि उन्हें एक साथ देखा गया है. एक मौसी जो परिवार के घर में रहती है और नाम न बताने की इच्छा रखती है, कहती है, "कोई नहीं जानता था कि वे ऐसा करेंगे,'

    ये भी पढ़ें:- कोरोना काल में मनमानी फीस वसूली के खिलाफ याचिका, HC ने किया जवाब तलब

    पुलिस की चुप्पी!
    पुलिस के मुताबिक, 25 जून को भट और कौर रैनावारी थाने में आए थे. पुलिस इस बारे में चुप्पी साधे हुए है कि वे वहां क्यों आए. कौर को एक मजिस्ट्रेट के सामने पेश किया. अपना बयान दर्ज करने के बाद उसे उसके परिवार को सौंप दिया गया. उसके माता-पिता को कोर्ट के अंदर जाने की अनुमति नहीं दी गई थी.

    सिख प्रतिनिधिमंडल की मुलाकात
    इस बीच सिखों के एक प्रतिनिधिमंडल ने मंगलवार को केंद्रीय गृह राज्य मंत्री जी किशन रेड्डी से मुलाकात की और उन्हें जम्मू कश्मीर में समुदाय की लड़कियों के कथित जबरन धर्मांतरण और शादी के बारे में बताया. प्रतिनिधिमंडल ने रेड्डी को ज्ञापन सौंपा और मंत्री ने आश्वासन दिया कि जो भी आवश्यक कार्रवाई होगी, की जाएगी. प्रतिनिधिमंडल में दिल्ली के भाजपा नेता आर पी सिंह शामिल थे. रेड्डी ने कहा, ‘प्रतिनिधिमंडल ने कश्मीर में सिख बालिकाओं के कथित जबरन धर्मांतरण और विवाह कराने के बारे में ज्ञापन सौंपा. मैं केंद्रीय गृह मंत्री (अमित शाह) के साथ मामले में चर्चा करुंगा और जो भी कार्रवाई जरूरी होगी, की जाएगी.’

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज