J&K पुलिस के डीजीपी बोले-दविंदर को बर्खास्त करने की सिफारिश, मेडल भी छीना जाएगा

दिलबाग सिंह ने कहा, दविंदर सिंह के मामले में एनआईए जांच कर रही है.

दिलबाग सिंह ने कहा, दविंदर सिंह के मामले में एनआईए जांच कर रही है.

जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) ने कहा है कि डीएसपी दविंदर सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है. पुलिस विभाग ने सरकार से उसे बर्खास्त करने की मांग की है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 15, 2020, 7:17 PM IST
  • Share this:

श्रीनगर. हिजबुल (Hizbul) आतंकियों के साथ पकड़े गए जम्मू-कश्मीर (Jammu and Kashmir) पुलिस के डीएसपी दविंदर सिंह (Davinder Singh) पर शिकंजा कसता जा रहा है. जम्मू-कश्मीर पुलिस के डीजीपी दिलबाग सिंह (Dilbag Singh) ने कहा है कि डीएसपी दविंदर सिंह को सस्पेंड कर दिया गया है. पुलिस विभाग ने सरकार से उसे बर्खास्त करने की मांग की है. इस कार्रवाई के साथ उससे उसका वीरता मेडल भी वापस लिया जाएगा, जो दविंदर को 2018 में जम्मू-कश्मीर सरकार की ओर से दिया गया था.

डीजीपी दिलबाग सिंह ने कहा है कि उसने पूछताछ के दौरान और क्या-क्या बताया, ये अभी हम नहीं बता सकते क्योंकि ये सब जांच का विषय है. इस मामले में एनआईए जांच कर रही है.

दिलबाग सिंह ने कहा, 'जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एक बड़ा सफल ऑपरेशन किया है. हमारी फोर्सेस में डोडा में सक्रिय हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी हारून को मार गिराया है. यह ओसामा का साथी था. वह हथियारों को लूटने और आरएसएस नेताओं की हत्या के पीछे थे. किश्तवाड़ और डोडा में जो राजनीतिक लोगों की हत्या हुई और कई लोगों के हथियार लूटे गए उनमें यह शामिल था. ओसामा को काफी देर पहले मार गिराया गया था और आज हमने हारून को मार गिराया है.
हमने कश्मीर में भी हमाद खान और उसके साथी को मार गिराया था. 6 तारीख को यह सफल ऑपरेशन हुआ था. आदिल का सफाया हमने बड़गाम में किया. पिछले कुछ दिनों से बहुत कामयाब ऑपरेशन रहे हैं.



यह भी पढ़ें :-

डीएसपी दविंदर सिंह की कहानी पारदर्शिता के साथ बताया जाना क्‍यों है जरूरी

हिज्बुल के आतंकियों के साथ पकड़े गए DSP दविंदर सिंह बर्खास्त

आतंकियों के मददगार DSP दविंदर को जल्द ही मिलने वाली थी तरक्की

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज