अपना शहर चुनें

States

DDC चुनाव: दूसरे चरण में कुल 48.62% मतदान, जम्मू में 65.54 तो कश्मीर में 33.34 प्रतिशत वोटिंग

राज्य को दो भागों में बांटे जाने के बाद प्रदेश में पहली बार चुनाव कराए जा रहे हैं.. (PTI)
राज्य को दो भागों में बांटे जाने के बाद प्रदेश में पहली बार चुनाव कराए जा रहे हैं.. (PTI)

DDC Elections: राज्य निर्वाचन आयुक्त केके शर्मा ने कहा कि दूसरे चरण में 48.62 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. दूसरे चरण में जम्मू संभाग में 65.54 फीसदी व कश्मीर संभाग में 33.34 फीसदी मतदान हुआ.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 1, 2020, 9:00 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) से विशेष राज्य का दर्जा वापस लिए जाने और राज्य को दो भागों में बांटे जाने के बाद प्रदेश में पहली बार चुनाव कराए जा रहे हैं. मंगलवार को जम्मू-कश्मीर में जिला विकास परिषद चुनाव (District Development Council Elections) के दूसरे चरण में वोटिंग हुई. राज्य निर्वाचन आयुक्त केके शर्मा (State Election Commissioner KK Sharma) ने कहा कि दूसरे चरण में 48.62 फीसदी लोगों ने अपने मताधिकार का प्रयोग किया. दूसरे चरण में जम्मू संभाग में 65.54 फीसदी व कश्मीर संभाग में 33.34 फीसदी मतदान हुआ.

कड़ाके की ठंड के कारण शुरूआत में कम मतदाता पोलिंग बूथ पर पहुंच रहे थे. लेकिन जैसे-जैसे दिन बढ़ता गया मतदाताओं की संख्या बढ़ती गई. आज हुए मतदान में एक बार फिर राज्य में कोरोना वायरस संक्रमण के प्रति लोगों में जागरूकता दिखी. पोलिंग स्टेशन पर मतदाता चेहरे पर मास्क लगाए और सोशल डिस्टेसिंग को फॉलो करते हुए नजर आए.

डीडीसी के दूसरे चरण में 321 उम्मीदवार मैदान में
डीडीसी के दूसरे चरण के चुनाव के लिए 321 उम्मीदवार मैदान में हैं और इस चरण में पंजीकृत 7.90 लाख मतदाताओं के लिए 2,142 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं. यह चुनाव 83 सरपंच पदों के लिए हो रहा है जिसके लिए 223 उम्मीदवार मैदान में हैं. इसके अलावा 331 पंच पदों पर उपचुनाव हो रहे हैं जिसके लिए 700 से ज्यादा प्रत्याशी चुनाव मैदान में हैं.
ये भी पढ़ेंः- जम्मू-कश्मीर: गुपकार गठबंधन ने बीजेपी पर लगाए भेदभाव के आरोप, कहा- सुरक्षा के नाम पर प्रचार से रोका जा रहा



जिला विकास परिषद के इस चुनाव में गुपकार गठबंधन के दल भी चुनाव लड़ रहे हैं. इसके अलावा कांग्रेस, बीजेपी और जम्मू-कश्मीर अपनी पार्टी भी चुनावी मैदान में है.



मतदान केंद्रों को किया संवेदनशील घोषित
चुनाव के मद्देनजर, प्रशासन ने घाटी के सभी 1,300 मतदान केन्द्रों को संवेदनशील घोषित किया है. जम्मू-कश्मीर के निर्वाचन आयुक्त के.के शर्मा ने कहा, 'सुरक्षा के दृष्टिकोण से कश्मीर के लगभग सभी मतदान केन्द्र संवेदनशील हैं. घाटी के मतदान केन्द्रों पर अतिरिक्त सुरक्षा मुहैया कराई गई है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज