जम्मू-कश्मीर एनकाउंटर पर बोले उपराज्यपाल मनोज सिन्हा- तथ्यों की कर रहे हैं जांच

मनोज सिन्हा (फ़ाइल फोटो)

मनोज सिन्हा (फ़ाइल फोटो)

Jammu Kashmir: परिजनों ने दावा किया है कि ये एनकाउंटर फर्जी था, जबकि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एनकाउंटर का वीडियो जारी करते हुए कहा है कि ये तीनों आतंकी थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 8, 2021, 1:34 PM IST
  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा (Jammu Kashmir L-G Manoj Sinha) ने कहा है कि श्रीनगर में दिसंबर में हुए एनकाउंटर के संबंध में तथ्यों का अध्ययन करने के बाद वो सही जवाब देंगे. इस एनकाउंटर में सुरक्षा बलों ने तीन संदिग्ध आतंकवादियों को मार गिराया था. श्रीनगर के बाहरी इलाके पारिमपोरा में हुई तीन लोगों की मौत के बाद हंगामा मचा हुआ है. मुठभेड़ में मारे गए युवकों के परिवार वालों ने शव की मांग की थी. परिजनों ने दावा किया है कि ये एनकाउंटर फर्जी था, जबकि जम्मू-कश्मीर पुलिस ने एनकाउंटर का वीडियो जारी करते हुए कहा है कि ये तीनों आतंकी थे.

उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि वो तथ्यों का अध्ययन कर रहे हैं. संवाददाता सम्मेलन में एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा, ‘हमारे पास सभी तथ्य आ रहे हैं. मैं व्यक्तिगत रूप से उनका अध्ययन कर रहा हूं. सही समय पर हम आपको सही उत्तर देंगे.’ पत्रकार ने उनसे सवाल किया था कि क्या सरकार इस एनकाउंटर की जांच का आदेश देगी और शवों को उनके परिवारों को सौंपेगी. परिवार शवों को वापस करने और मुठभेड़ की जांच की मांग कर रहे हैं.

क्या हुआ था एनकाउंटर के दौरान?

आपको बता दें कि 29-30 की दरमियानी रात श्रीनगर के पारिमपोरा इलाके में आर्मी से मिली जानकारी के आधार पर जम्मू-कश्मीर पुलिस और सीआरपीएफ ने एक ऑपरेशन चलाया था. सुरक्षाबलों का कहना था कि ये युवा हमले की प्लानिंग कर रहे थे. इन्हें ऑपरेशन के दौरान सरेंडर करने के लिए भी कहा गया था. लेकिन ये नहीं माने. हालांकि तीनों का आंतकियों की लिस्ट में नाम नहीं था. लेकिन सुरक्षाबलों का कहना है कि ये तीनों आतंकियों के लिए काम कर रहे थे. मुठभेड़ में एजाज मकबूल गनई, जुबैर अहमद लोन और अतहर मुश्ताक वानी मारे गए थे.
ये भी पढ़ें:- दल-बदलुओं को चुनाव नहीं लड़ने देने की मांग, SC ने सरकार और EC से मांगा जवाब

क्या कहना है पुलिस का

जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पिछले एनकाउंटर के दो वीडियो जारी किए. इसमें सुना जा सकता है कि पुलिस इन्हें सरेंडर करने के लिए कह रही है. लेकिन दूसरी तरफ से कोई आवाज़ नहीं आ रही है. एनकाउंटर में मारे गए युवाओं के रिश्तेदारों ने रेजीडेंसी रोड पर विरोध प्रदर्शन किया. प्रदर्शनकारियों ने हाथों में तख्तियां ले रखी थीं जिन पर लिखा था कि ‘हम न्याय चाहते हैं’ और ‘निर्दोषों को मारना बंद करो. ’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज