अपना शहर चुनें

States

फिर सरकार पर भड़कीं महबूबा मुफ्ती, कहा- BJP नेताओं को प्रचार की छूट, तो मुझे क्यों नहीं

महबूबा मुफ्ती (AP)
महबूबा मुफ्ती (AP)

महबूबा मुफ्ती (Mehbooba Mufti) ने एक के बाद एक ट्वीट कर सरकार पर जमकर निशाना साधा है. महबूबा ने लिखा, 'एक पखवाड़े से भी कम समय में तीसरी बार गैरकानूनी तरीके से हिरासत में लिया गया. यह सच में लोकतंत्र है.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 9, 2020, 3:49 PM IST
  • Share this:
जम्मू. जम्मू-कश्मीर (Jammu-Kashmir) की पूर्व मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती ने एक बार फिर बीजेपी (BJP) सरकार पर निशाना साधा है. बुधवार को पूर्व सीएम ने दावा किया कि उन्हें फिर से गैरकानूनी तरीके से हिरासत में ले लिया गया है. उन्होंने सरकार के खिलाफ ट्वीट के जरिए नाराजगी जताई है. इसके अलावा उन्होंने राज्य में भारतीय जनता पार्टी के नेताओं की तुलना में दूसरे नेताओं के साथ भेदभाव किए जाने के आरोप भी लगाए हैं.

मुफ्ती ने आरोप लगाए हैं कि उन्हें आदिवासी समुदाय के परिवारों से मिलने के लिए गुपकार (Gupkar) स्थित निवास से बाहर नहीं जाने दिया जा रहा है. इन परिवारों को जंगल की जमीनों से जबरदस्ती हटा दिया गया था. खास बात है कि मुफ्ती आदिवासी परिवारों के निष्कासन को लेकर काफी मुखर रही हैं. उनका कहना है कि ये परिवार यहां सैकड़ों सालों से रह रहे हैं. हाल ही में उन्होंने समुदाय से मुलाकात के लिए पहलगाम का दौरा किया था.

यह भी पढ़ें: महबूबा मुफ्ती को नहीं किया गया है नजरबंद, पुलिस ने बताया क्यों नहीं जाने दिया गया पुलवामा



उन्होंने एक के बाद एक ट्वीट कर सरकार पर जमकर निशाना साधा है. महबूबा ने ट्वीट किया, 'एक पखवाड़े से भी कम समय में तीसरी बार गैरकानूनी तरीके से हिरासत में लिया गया. यह सच में लोकतंत्र है.' उन्होंने लिखा, 'अगर मेरी गतिविधियों को सुरक्षा के नाम पर रोक दिया गया है, तो बीजेपी मंत्रियों को कश्मीर में कैसे आजाद होकर प्रचार अभियान की अनुमति दी गई है. जबकि, मुझे डीडीसी चुनाव (DDC Elections) पूरे होने तक इंतजार करने के लिए कहा गया है.'

हिरासत में लेना सरकार का सबसे अच्छा तरीका बन गया है
मंगलवार को ट्वीट के जरिए मुफ्ती ने सरकार को आड़े हाथों लिया था. उन्होंने लिखा, 'किसी भी तरह के विपक्ष को चुप कराने के लिए गैर कानूनी तरीके से हिरासत में लेना भारत सरकार का सबसे पसंदीदा तरीका बन गया है.' उन्होंने लिखा, 'मुझे एक बार फिर हिरासत में लिया गया क्योंकि मैं बडगाम जाना चाहती थी, जहां सैकड़ों परिवारों को उनके घर से निकाल दिया गया है.' पीपुल्स डेमोक्रेटिक पार्टी की प्रमुख मुफ्ती ने आरोप लगाया है, 'भारत सरकार बगैर कोई सवाल पूछे जम्मू-कश्मीर के लोगों पर लगातार जुल्म करना चाहती है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज