होम /न्यूज /राष्ट्र /

आतंकवाद के ताबूत में सरकार एक साल में आखिरी कील ठोकेगी : मनोज सिन्हा

आतंकवाद के ताबूत में सरकार एक साल में आखिरी कील ठोकेगी : मनोज सिन्हा

जम्मू कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा ने आतंकवाद के खात्मे को लेकर बड़ा बयान दिया है.

जम्मू कश्मीर के एलजी मनोज सिन्हा ने आतंकवाद के खात्मे को लेकर बड़ा बयान दिया है.

उप-राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा, ‘‘हमने कई बेकसूर लोगों की जान गंवाई है, अब इसे रूकना होगा. आतंकवाद और इसके परिवेश में आखिरी कील ठोकने का वक्त आ गया है.’’

हाइलाइट्स

उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि यह हमारा दायित्व है कि मातृभूमि की प्रत्येक इंच की रक्षा करें.
मनोज सिन्हा ने कहा कि सरकार एक साल के भीतर आतंकवाद के ताबूत में आखिरी कील ठोकेगी.
राजौरी में आतंकियों ने सेना पर हमला कर दिया था, जिसमें 4 जवान शहीद हो गए थे.

श्रीनगर. जम्मू कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने शनिवार को दावा किया कि सरकार केंद्र शासित प्रदेश में आतंकवाद के ताबूत में एक साल में आखिरी कील ठोकेगी. सिन्हा ने यहां शेर-ए-कश्मीर इंटरनेशनल कंवेंशन सेंटर (एसकेआईसीसी) में एक कार्यक्रम में कहा, जहां उन्होंने 25 जिला विकास परिषद (डीडीसी), ब्लॉक विकास परिषद (बीडीसी) भवनों का शिलान्यास किया और पूरे केंद्र शासित प्रदेश में 1,000 अमृत सरोवरों का लोकार्पण किया. उपराज्यपाल ने कहा, ‘‘यह हमारा दायित्व है कि मातृभूमि की प्रत्येक इंच की रक्षा करें और यहां तक कि हम हर चीज का बलिदान करें.’’

उन्होंने कहा, ‘‘कुछ लोग, पड़ोसी देश के इशारे पर जम्मू कश्मीर में खलल डालने की कोशिश कर रहे हैं. पड़ोसी देश जिसकी हालत खुद दयनीय है जम्मू कश्मीर के लोगों के लिए कुछ अच्छा नहीं कर सकता.’’ उन्होंने कहा, ‘‘हमने कई बेकसूर लोगों की जान गंवाई है, अब इसे रूकना होगा. आतंकवाद और इसके परिवेश में आखिरी कील ठोकने का वक्त आ गया है.’’ राजौरी जिले में बृहस्पतिवार की तड़के आतंकवादियों ने सेना के एक शिविर पर एक आत्मघाती हमला किया था जिसमें चार जवान शहीद हो गये थे. यह हमला लगभग तीन साल के अंतराल के बाद जम्मू कश्मीर में ‘फिदायीन’ (आत्मघाती हमलावरों) की वापसी का संकेत है.

पुलिस ने बताया था कि दोनों आतंकवादियों के बारे में ऐसा माना जाता है कि वे पाकिस्तान स्थित जैश-ए-मोहम्मद (जेईएम) से थे. शहीद हुए सेना के जवानों में सूबेदार राजेंद्र प्रसाद (राजस्थान के झुंझुनू जिले के मालिगोवेन गांव के), राइफलमैन लक्ष्मणन डी (तमिलनाडु के मदुरै जिले के टी पुडुपट्टी गांव के), राइफलमैन मनोज कुमार (हरियाणा के फरीदाबाद के शाहजहांपुर गांव) और हरियाणा के हिसार जिले के राइफलमैन निशांत मलिक शामिल हैं.

Tags: Jammu kashmir, LG Manoj Sinha

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर