जम्मू-कश्मीर: कोरोना संक्रमण के बीच खुद तैयारियों का जायजा लेने पहुंचे LG मनोज सिन्हा

LG मनोज सिन्हा ने किया अस्पताल का दौरा

LG मनोज सिन्हा ने किया अस्पताल का दौरा

Coronavirus in Jammu Kashmir: जम्मू- कश्मीर ने मंगलवार को कोरोना वायरस के 4,352 ताजा मामले दर्ज किए, जिसके बाद केंद्रशासित प्रदेश में कुल मामलों की संख्या 2,24,898 हो गई

  • Share this:

श्रीनगर. कोरोना वायरस की दूसरी लहर का प्रकोप केंद्रशासित प्रदेश जम्मू कश्मीर (Coronavirus in Jammu Kashmir) भी झेल रहा है. केंद्रशासित प्रदेश में एक्टिव मामलों की संख्या 50 हजार के पार पहुंच गई है. ऐसे में राज्य के उपराज्यपाल ने भी सभी सुविधाओं को दुरुस्त करने का जिम्मा खुद ही उठाया है. इसी क्रम में एलजी मनोज सिन्हा ने मंगलवार को राज्य के ऑक्सीजन प्लांट्स, अस्पताल और वैक्सीनेशन सेंटर का दौरा कर तैयारियों का जायजा लिया. बता दें कि जम्मू कश्मीर प्रशासन ने पिछले 6 माह में केंद्रशासित प्रदेश में 27 नए ऑक्सीजन जेनरेशन प्लांट्स इंस्टॉल किए हैं. इससे पहले जम्मू कश्मीर में सिर्फ 17 ऐसे प्लांट्स थे, अब ये संख्या बढ़कर 44 हो गई है.

बता दें कि जम्मू- कश्मीर ने मंगलवार को कोरोना वायरस के 4,352 ताजा मामले दर्ज किए, जिसके बाद केंद्रशासित प्रदेश में कुल मामलों की संख्या 2,24,898 हो गई, जबकि पिछले 24 घंटों में रिकॉर्ड 65 लोगों की जान गई जिससे कोरोना से मरने वालों की संख्या 2,847 हो गई. ताजा मामलों में से 1,708 जम्मू संभाग से और 2,644 कश्मीर संभाग से सामने आए हैं. वहीं जम्मू में मंगलवार को 41 मौतें हुईं है और कश्मीर में 24 मौत के मामले दर्ज किए गए हैं.

ये भी पढ़ें- केंद्र का राज्यों को निर्देश- दूसरी डोज का इंतजार कर रहे लोगों का पहले करें टीकाकरण

अधिकारियों ने कहा कि श्रीनगर जिले में सबसे अधिक 846 मामले दर्ज किए गए, इसके बाद जम्मू जिले में 602 और बारामूला जिले में 361 मामले दर्ज किए गए. अधिकारियों ने कहा कि सक्रिय मामलों की संख्या 50,000 तक पहुंचकर 50,701 हो गई है, जबकि 1,71,350 मरीज अब तक ठीक हो चुके हैं.
घर-घर जाकर की जा रही ट्रेसिंग

वहीं केंद्रशासित प्रदेश में बढ़ते मामलों पर रोक लगाने के लिए प्रशासन ने घर-घर जाकर ट्रेसिंग करने के निर्देश दिए हैं. इस अभियान के तहत संभावित कोविड संक्रमित लोगों यानी कि जिन्हें संक्रमण के जरा भी लक्षण है उन्हें पहचानकर आईसोलेट किया जाएगा.




संबंधित उप-विभागीय मजिस्ट्रेटों और स्वास्थ्य, राजस्व, पुलिस और शहरी स्थानीय निकायों के सदस्यों की अगुवाई में विभिन्न टीमों ग्रामीण जनता की स्क्रीनिंग कर रही है और नए और संभावित मामलों की पहचान कर रही है. उन्होंने लोगों से अपील की है कि वे उन टीमों के साथ सहयोग करें जो कोविड-19 संक्रमण के प्रसार को कम करने में मदद और जांच करने के लिए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज