हमले के बाद भी जारी रहेगी अमरनाथ यात्रा, पीएम मोदी बोले- ऐसे हमलों से देश झुकेगा नहीं

जम्‍मू कश्‍मीर के अनंतनाग में पुलिस काफिले पर आतंकी हमला हुआ है.

News18Hindi
Updated: July 11, 2017, 12:06 AM IST
News18Hindi
Updated: July 11, 2017, 12:06 AM IST
जम्‍मू कश्‍मीर के अनंतनाग में आतंकी हमले में अमरनाथ यात्रा पर गए 7 यात्रियों की मौत हो गई. मरने वालों में पांच महिलाएं भी हैं. साथ ही तीन जवानों सहित 15 लोग जख्‍मी भी हुए हैं और इनमें से कई की हालत नाजुक है. बस अमरनाथ यात्रा से दर्शन के बाद लौट रही थी.

हमले की प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, कांग्रेस अध्‍यक्ष सोनिया गांधी सहित सभी नेताओं ने निंदा की है. पीएम ने कहा कि इस तरह के कायराना हमलों के सामने देश झुकेगा नहीं. वहीं सोनिया ने कहा कि शिवभक्‍तों पर हमला मानवता के खिलाफ है. वहीं हमले के बाद भी अमरनाथ यात्रा जारी रहेगी. हमले के बाद गृह मंत्रालय ने बैठक की और सुरक्षा व्‍यवस्‍था की समीक्षा की गई. लश्‍कर ए तैयबा को हमले के लिए जम्‍मेदारी माना जा रहा है.



हालांकि पुलिस का कहना है कि हमले में निशाने पर अमरनाथ यात्रा नहीं थी. हमला सुरक्षाबलों के काफिले को निशाना बनाकर किया गया था. आतंकी हमला दो अलग-अलग जगहों पर यात्रा की सुरक्षा में लगे जवानों पर हुआ. बस यात्रियों को मिली सुरक्षा का हिस्‍सा नहीं थी. इसके कारण वह फायरिंग के निशाने पर आ गई.

निशाना बने यात्री गुजरात के रहने वाले हैं. बस का नंबर GJ09 Z 9976 है और गुजरात के साबरकांठा से रजिस्‍टर्ड है. बस में 17 यात्रियों में सवार थे. घायलों को श्रीनगर और अनंतनाग के अस्‍पतालों में भर्ती कराया गया है. अनंतनाग हमले के बाद जम्‍मू, उधमपुर में सुरक्षा व्‍यवस्‍था बढ़ा दी गई है.

गुजरात के मुख्‍यमंत्री विजय रुपाणी ने हमले में मारे गए लोगों को शहीद बताया. उन्‍होंने कहा कि मारे गए लोगों को वायुसेना के प्‍लेन से लाया जाएगा. जो घायल हैं उनके बेहतर इलाज का बंदोबस्‍त होगा. रुपाणी ने मंगलवार के अपने सभी कार्यक्रम रद्द कर दिए हैं.

UPDATE: 7 #Amarnath yatris killed as militants open fire in #Anantnag in #Kashmir, say police.

Loading...




आतंकियों ने शाम को फायरिंग की. इसके जवाब में सुरक्षाबलों ने भी फायरिंग की. इसी दौरान अमरनाथ यात्रियों को बालटाल से मीर बाजार ले जा रही एक बस रास्‍ते में आ गई. बस ना तो अमरनाथ यात्रा के काफिले का हिस्‍सा थी और ना ही श्राइन बोर्ड में रजिस्‍टर्ड थी. उसको किसी तरह की कोई सुरक्षा नहीं थी. बता दें कि अमरनाथ यात्रा को जाने वाले वाहनों को सुरक्षा दी जाती है और वह सुरक्षाबलों के घेरे में जाती हैं.

जम्‍मू कश्‍मीर के आईजी ने बताया कि बटेंगू में फायरिंग हुई. हमला सुरक्षाबलों पर था ना कि यात्रियों पर. फायरिंग जम्मू-श्रीनगर हाईवे पर हुई जिसके चलते अमरनाथ यात्रियों की एक बस भी चपेट में आ गई. हमले में तीन जवान भी घायल हुए हैं.

जम्‍मू कश्‍मीर की पर्यटन मंत्री प्रिया सेठी ने बताया कि यह बहुत ही दुर्भाग्‍यपूर्ण बात है. सरकार ने पूरी तैयारी कर रखी थी. सुरक्षाबलों ने जिस तरह से आतंकियों पर दबाव बना रखा था उसी का बदला लेने के लिए यह हमला हुआ है.

Live Updates:

  • गृह मंत्रालय ने हमले के पीछे लश्‍कर का हाथ बताया.

  • कश्‍मीर में इंटरनेट सेवाएं ब्‍लॉक कर दी गई हैं.

  • जम्‍मू-श्रीनगर हाईवे पर यातायात रोका गया

  • पैंथर्स पार्टी ने राज्‍यपाल शासन लागू करने की मांंग की.

  • पीएम मोदी ने हमले पर दुख जताया है. उन्‍होंने कहा कि भारत इस तरह के कायराना हमलों के आगे झुकेगा नहीं.

  • हमले में मारे गए सभी यात्री गुजरात के वलसाड के रहने वाले हैं.

  • पुलिस ने बयान जारी कर कहा कि आतंकियों ने पर्यटकों की बस को निशाना बनाया.

  • एनएसए अजीत डोवाल ने पीएम मोदी से बात की है.

  • हमले के बाद भी जारी रहेेेेगी अमरनाथ यात्रा

  • अमरनाथ यात्रा के लिए अब तक 12 जत्थे जा चुके हैं, तय शेड्यूल के मुताबिक कल 13वां जत्था सुबह रवाना होगा


ये भी पढ़ें

लश्‍कर ने किया अमरनाथ यात्रियों पर हमला, गृह मंत्रालय ने बुलाई आपात बैठक

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...