जम्मू कश्मीर: सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ में एक आतंकवादी ढेर, एक अन्य ने किया सरेंडर

मुठभेड़ के दौरान एक आतंकवादी मारा गया जबकि एक अन्य आतंकवादी ने अपील पर आत्मसमर्पण कर दिया (File photo)
मुठभेड़ के दौरान एक आतंकवादी मारा गया जबकि एक अन्य आतंकवादी ने अपील पर आत्मसमर्पण कर दिया (File photo)

Jammu Kashmir: गुलशनपोरा क्षेत्र निवासी आतंकवादी को पकड़ लिया गया. पकड़ा गया आतंकवादी इस वर्ष 25 सितम्बर से लापता था.

  • Share this:
श्रीनगर. जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के पुलवामा (Pulwama) में सोमवार को सुरक्षा बलों (Security Forces) के साथ एक मुठभेड़ में एक अज्ञात आतंकवादी (Terrorists) मारा गया जबकि एक अन्य ने आत्मसमर्पण कर दिया. यह जानकारी एक रक्षा प्रवक्ता ने दी. सेना ने बताया कि सुरक्षा बलों ने पुलिस द्वारा मुहैया करायी गई सूचना के आधार पर जिले के अवंतीपोरा (Awantipora) क्षेत्र के नूरपोरा (Noorpora) में एक संयुक्त अभियान शुरू किया था.

प्रवक्ता ने बताया कि इस मुठभेड़ के दौरान एक आतंकवादी मारा गया जबकि एक अन्य आतंकवादी ने अपील पर आत्मसमर्पण कर दिया. उन्होंने कहा, ‘‘गुलशनपोरा क्षेत्र निवासी आतंकवादी को पकड़ लिया गया.’’ उन्होंने कहा कि पकड़ा गया आतंकवादी इस वर्ष 25 सितम्बर से लापता था. प्रवक्ता ने कहा कि मुठभेड़ स्थल से एक एके राइफल अन्य सामग्री बरामद की गई है.

पाकिस्तानी रेंजर्स ने अंतरराष्ट्रीय सीमा के पास की गोलीबारी
वहीं पाकिस्तानी रेंजर्स (Pakistani Rangers) ने जम्मू कश्मीर के कठुआ जिले (Kathua District) में अंतरराष्ट्रीय सीमा (International Border) के पास सीमा चौकियों और बस्तियों पर भारी गोलाबारी की जिससे कुछ मकान क्षतिग्रस्त हो गए. आधिकारिक सूत्रों ने सोमवार को इस बारे में जानकारी दी. उन्होंने बताया कि पाकिस्तानी रेंजर्स ने सीमा चौकियों और सांबा-हीरानगर सेक्टर में लोंडी, मनयारी, करोल मात्रा, चक चंगा क्षेत्रों में बस्तियों पर मोर्टार से गोले दागे और गोलीबारी की.
उन्होंने बताया कि गोलाबारी में कुछ मकान क्षतिग्रस्त हो गए जिससे बाशिंदों के बीच दहशत फैल गयी. करोल मात्रा के रतन चंद ने कहा, ‘‘अगर ऐसी स्थिति बनी रही तो हमें सुरक्षित स्थानों पर जाना होगा.’’



प्रखंड विकास कमेटी (बीडीसी) अध्यक्ष करण कुमार ने कहा कि कई मकानों और अन्य ढांचों को नुकसान पहुंचा है लेकिन सरकार से लोगों को अब तक मुआवजा नहीं मिला है. उन्होंने कहा, ‘‘अक्सर गोलीबारी होती रहती है. केंद्र सरकार को ग्रामीणों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने के लिए कदम उठाना चाहिए और पाकिस्तान को मुंहतोड़ जवाब देना चाहिए ताकि फिर से वह ऐसी हिमाकत ना करे.’’
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज