जम्मू-कश्मीर: भारतीय सीमा में चोरी-छिपे ड्रोन भेज रहा पाकिस्तान, थर्मल कैमरे में कैद हुई तस्वीर

खुफिया सूत्रों के मुताबिक इस ड्रोन को इंटरनेशनल बॉर्डर के नजदीक के पाकिस्तानी गांव भीका चक से लॉन्च किया गया था. (सांकेतिक तस्वीर)

Pakistani Drone: जम्मू के कठुआ में इसकी हलचल देखी गई. ये ड्रोन भारतीय सीमा में घुसपैठ के बाद मिनी पंसर, फायरिंग रेंज और फिर फॉरवर्ड एरिया में बॉर्डर आउटपोस्ट होते हुए वापस पाकिस्तान की सीमा में लौट गया.

  • Share this:
नई दिल्ली. जम्मू-कश्मीर में सीमा पर पाकिस्तान (Pakistan) अपनी हरकतों से बाज़ नहीं आ रहा है. सीजफायर का उल्लंघन करने के साथ-साथ पाकिस्तान अब यहां गुपचुप तरीके से ड्रोन (Drone) भी भेजने लगा है. नए साल से ठीक एक दिन पहले यानी 31 दिसंबर को सीमा पर दो बार पाकिस्तान से भारतीय सीमा में ड्रोन ने घुसपेठ की. ड्रोन की सारी हरकत थर्मल कैमरे में कैद हो गई है. फॉरवर्ड एरिया में सीमा के अंदर दाखिल होने के बाद ये ड्रोन वापस चला गया.

खुफिया सूत्रों के मुताबिक इस ड्रोन को इंटरनेशनल बॉर्डर के नजदीक के पाकिस्तानी गांव भीका चक से लॉन्च किया गया था. कहा जा रहा है कि ये ड्रोन सीमा के पास 1500 मीटर अंदर घुस गया था. पहली बार इस ड्रोन को 31 दिसंबर को शाम 5 बजकर 14 मिनट से लेकर 5 बजकर 25 मिनट तक देखा गया. जम्मू के कठुआ में इसकी हलचल देखी गई. ये ड्रोन भारतीय सीमा में घुसपैठ के बाद मिनी पंसर, फायरिंग रेंज और फिर फॉरवर्ड एरिया में बॉर्डर आउटपोस्ट होते हुए वापस पाकिस्तान की सीमा में लौट गया.

दो बार घुसा अंदर
करीब 25 मिनट के बाद एक बार फिर से ये ड्रोन सीमा के अंदर दाखिल हुआ. शाम 5 बजकर 57 से लेकर 6 बजकर 15 मिनट तक इसे उड़ते देखा गया. इसकी मूवमेंट भी एक बार फिर से थर्मल कैमरे में कैद हुई. कुल मिलाकर ये पाकिस्तानी ड्रोन करीब 35 मिनट तक भारतीय सीमा में रहा. इस ड्रोन को भेजने का असल मकसद क्या था इसके बारे में खुफिया एजेंसी ने कोई जानकारी नहीं दी है.

ये भी पढ़ें:- आगरा-लखनऊ एक्सप्रेसवे पर कार में लगी आग, पति के सामने नवविवाहिता की मौत

पंजाब में भी कई बार पकड़े गए ड्रोन
बता दें कि पंजाब में पाकिस्तानी ड्रोन के पकड़े जाने की खबर आती रहती है. पिछले महीने पाकिस्तान के तस्करों और खालिस्तान के गुर्गों के जरिए भारत में नशीले पदार्थों और हथियारों की तस्करी करने के लिए ड्रोन का इस्तेमाल करने वाले दो लोगों को गिरफ्तार किया गया था. पिछले साल सितंबर में पंजाब सरकार ने बताया था कि उसने दो पाकिस्तानी ड्रोन बरामद किए हैं, जिनका इस्तेमाल सीमा पार से हथियारों को यहां पहुंचाने के लिए किया गया था. एक ड्रोन तरनताल और दूसरा अमृतसर से मिला था. पाकिस्तान द्वारा चीनी ड्रोनों के इस्तेमाल पर गंभीर संज्ञान लेते हुए सेना और बीएसएफ ने पूरी भारत-पाकिस्तान सीमा और नियंत्रण रेखा पर अलर्ट घोषित किया था.