• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • कश्मीर में दो सिख लड़कियों के जबरन धर्मांतरण और शादी से समुदाय में गुस्सा, यूपी-एमपी की तरह कानून बनाने की मांग

कश्मीर में दो सिख लड़कियों के जबरन धर्मांतरण और शादी से समुदाय में गुस्सा, यूपी-एमपी की तरह कानून बनाने की मांग

दो लड़कियों को अगवा कर उनका बलपूर्वक धर्मांतरण और शादी करने के खिलाफ श्रीनगर में प्रदर्शन करते सिख समुदाय के लोग.

दो लड़कियों को अगवा कर उनका बलपूर्वक धर्मांतरण और शादी करने के खिलाफ श्रीनगर में प्रदर्शन करते सिख समुदाय के लोग.

Jammu Kashmir Sikh Girl Force Conversion: भाजपा नेता आरपी सिंह ने कहा कि अकाल तख्त के जत्थेदार ने इस तरह के जबरन धर्मांतरण के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए केंद्र को पत्र भेजा है.

  • Share this:

    श्रीनगर. कश्मीर में बंदूक के बल पर दो सिख लड़कियों को अगवा कर उनका बलपूर्वक धर्मांतरण करने का मामला सामने आया है. इतना ही नहीं, बाद में उन लड़कियों की शादी जबरदस्ती दूसरे धार्मिक समुदाय से जुड़े उम्रदराज व्यक्ति से करा दी गई. इसके बाद घाटी के सिखों में भारी गुस्सा है और वे लगातार विरोध-प्रदर्शन कर रहे हैं. इस संबंध में अकाली दल के नेता मनजिंदर सिंह सिरसा की अगुआई में एक प्रतिनिधिमंडल ने रविवार को जम्मू-कश्मीर के उप-राज्यपाल से मुलाकात की और दोनों लड़कियों को वापस उनके परिवार को लौटाने की मांग की.


    श्रीनगर में अदालत परिसर के बाहर पीड़ितों के जबरन धर्मांतरण और विवाह के खिलाफ भी विरोध प्रदर्शन किया गया, जहां दो लड़कियों में से एक को एक आरोपी से शादी करने के लिए लाया गया था. प्रदर्शनकारियों ने मांग की कि पीड़ितों में से एक को परिवार के पास वापस भेजा जाए, लेकिन उन्हें अदालत में प्रवेश नहीं करने दिया गया. रविवार को श्रीनगर में गुरुद्वारा बुंगा बरजुला के बाहर भी विरोध प्रदर्शन किया गया. दिल्ली सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के प्रमुख मनजिंदर सिंह सिरसा भी रविवार को श्रीनगर पहुंचे और विरोध प्रदर्शन का नेतृत्व किया.


    अवैध धर्मांतरण मामला: यूपी में अब तक सामने आए 50 मामले, 78 गिरफ्तार, सबसे ज्यादा मेरठ में केस


    ऑल पार्टी सिख कोऑर्डिनेशन कमेटी के अध्यक्ष जगमोहन सिंह रैना ने कहा कि जबरन धर्म परिवर्तन के ऐसे कई मामले सामने आ रहे हैं और ऐसे मामलों में गंभीर कार्रवाई की जरूरत है. उन्होंने कहा कि इस तरह के जबरन धर्मांतरण और विवाह के खिलाफ उत्तर प्रदेश और मध्य प्रदेश में बनाए गए कानून की तर्ज पर जम्मू-कश्मीर में भी इसी तरह के कानून बनाए जाने चाहिए. राष्ट्रीय सिख मोर्चा के अध्यक्ष वरिंदरजीत सिंह जीत ने जबरन धर्म परिवर्तन और विवाह की निंदा की और कहा कि ऐसे मामलों में आरोपियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जानी चाहिए, ताकि भविष्य में फिर कोई ऐसा करने की हिम्मत ना करे. इस संबंध में सिरसा ने केंद्र को पत्र भी लिखा है.




    भाजपा नेता आरपी सिंह ने कहा कि अकाल तख्त के जत्थेदार ने इस तरह के जबरन धर्मांतरण के खिलाफ कार्रवाई करने के लिए केंद्र को पत्र भेजा है. पत्र में कहा गया है, 'युवा सिख लड़कियों को बचाने के लिए जम्मू-कश्मीर में भी यूपी और एमपी की तरह ही कानून बनाया जाना चाहिए. इसी तरह पंजाब में विशेष रूप से गुरदासपुर क्षेत्र में पैसे या एहसान का लालच देकर बहुत से लोगों का धर्मांतरण किया जा रहा है.'

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज