लाइव टीवी

कोरोना वायरस: जम्मू-कश्मीर में 106 मामले, बंदीपोरा के 6 गांव 'रेड ज़ोन' घोषित

News18Hindi
Updated: April 5, 2020, 7:43 PM IST
कोरोना वायरस: जम्मू-कश्मीर में 106 मामले, बंदीपोरा के 6 गांव 'रेड ज़ोन' घोषित
कश्मीर (Kashmir) में रविवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमण के 14 नए मामले सामने आए. इसके बाद जम्मू- कश्मीर (Jammu Kashmir) में इस जानलेवा विषाणु से संक्रमितों की तादाद 100 के पार पहुंच गई.

कश्मीर (Kashmir) में रविवार को कोरोना वायरस (Coronavirus) से संक्रमण के 14 नए मामले सामने आए. इसके बाद जम्मू- कश्मीर (Jammu Kashmir) में इस जानलेवा विषाणु से संक्रमितों की तादाद 100 के पार पहुंच गई.

  • Share this:
श्रीनगर. देश भर में कोरोना वायरस (Coronavirus) के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. वायरस के प्रसार को रोकने के लिए पूरे देश में लॉकडाउन (Lockdown) जारी है, इसके अलावा तमाम तरह की पांबदियां भी लगाई जा रही हैं. जिन क्षेत्रों में वायरस के फैलने का खतरा ज्यादा है उन्हें रेड ज़ोन घोषित किया जा रहा है और वहां लोगों के जरूरी सामान खरीदने के लिए निकलने पर भी प्रतिबंध लगाया जा रहा है. ऐसा ही मामला जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) में सामने आया है जहां बंदीपोरा (Bandipora) के छह गांवों को रेड ज़ोन घोषित किया है. इन गांवों में कोनान, गुंडकैसर, गुंड-दचीना, हकबारा, मडवान और पेठकोटे शामिल हैं. बता दें कश्मीर में भी तेजी से कोरोना वायरस के केस सामने आ रहे हैं.

कश्मीर में सामने आए नए केस
कश्मीर में रविवार को कोरोना वायरस से संक्रमण के 14 नए मामले सामने आए. इसके बाद जम्मू- कश्मीर में इस जानलेवा विषाणु से संक्रमितों की तादाद 100 के पार पहुंच गई. अधिकारियों के मुताबिक, केंद्रशासित प्रदेश में कोरोना वायरस से पीड़ितों की संख्या 106 हो गई है.

वहीं इस बीमारी से दो लोगों की मौत हो चुकी है. चार लोग ठीक हो कर घर जा चुके हैं, जबकि इलाज के बाद सात मरीजों की हुई जांच में संक्रमण नहीं पाया गया है. इन मरीजों के नमूनों को दोबारा जांच के लिए भेजा जाएगा और इस रिपोर्ट में भी संक्रमण नहीं पाए जाने पर उन्हें अस्पताल से छुट्टी दी जाएगी.



राज्य में 28000 से ज्यादा लोगों को निगरानी में रखा गया है, जिनमें से 10600 लोग या तो सरकारी पृथक केंद्रों में हैं या घर पर पृथकवास में हैं.



सख्त की गई पाबंदियां
कोरोना वायरस पर लगाम लगाने के लिए कश्मीर में लोगों की आवाजाही और उनके एकत्रित होने पर लगाई पाबंदियों को रविवार को सख्त कर दिया गया. यह कदम तब उठाया गया जब एक दिन पहले घाटी में इस संक्रमण के 14 मामले सामने आए जो एक ही दिन में संक्रमण की सर्वाधिक संख्या है.

अधिकारियों ने बताया कि सुरक्षाबलों ने घाटी में मुख्य सड़कों को सील कर दिया और लोगों की आवाजाही की जांच करने तथा लॉकडाउन लागू करने के लिए कई स्थानों पर अवरोधक लगा दिए. उन्होंने बताया कि घाटी में बाजार बंद रहे और सड़कों से सार्वजनिक वाहन नदारद रहे. केवल दवाओं और किराने की दुकानें ही खुलीं.

इन लोगों को दी गई छूट
प्रधानमंत्री द्वारा घोषित किए गए देशव्यापी लॉकडाउन से एक हफ्ते से अधिक समय पहले ही कश्मीर में शैक्षणिक संस्थान बंद थे जबकि जिमखाने, पार्क, क्लब और रेस्तरां समेत सभी सार्वजनिक स्थान भी बंद थे. प्रशासन ने बताया कि स्वास्थ्य देखभाल कर्मियों समेत आवश्यक सेवाओं को पाबंदियों से छूट दी गई हैं.

19 मार्च को लगाई गई थीं पाबंदियां
संक्रामक रोग को फैलने से रोकने के लिए घाटी के कई हिस्सों में सबसे पहले 19 मार्च को पाबंदियां लगाई गई थी. शहर के खानयार इलाके की 67 वर्षीय महिला के कोविड-19 से संक्रमित पाए जाने के बाद ये कदम उठाए गए थे. वह उमरा करने के बाद 16 मार्च को सऊदी अरब से लौटी थीं.

अधिकारियों ने बताया कि प्रशासन ने संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए केंद्र शासित प्रदेश में व्यापक अभियान चलाया है. उन्होंने बताया कि संक्रमित लोगों के संपर्क में आए करीब 2000 लोगों की पहचान कर ली गई है.

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
दावा: स्वस्थ होने के बाद भी कोरोना वायरस का मरीज लोगों को कर सकता है संक्रमित

कम प्रदूषण के चलते घर से क्या-क्या देख रहे हैं लोग, ट्विटर पर VIRAL हुईं फोटो

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 5, 2020, 7:07 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading