Home /News /nation /

जम्मू-कश्मीर में निशाना बनाकर की गई हत्याओं के बाद खुफिया एजेंसियां सतर्क, सरकार ने बनाया ये प्लान

जम्मू-कश्मीर में निशाना बनाकर की गई हत्याओं के बाद खुफिया एजेंसियां सतर्क, सरकार ने बनाया ये प्लान

विभिन्न राज्यों की आतंकवाद रोधी इकाइयों को ग्रेडेड इनपुट पर तेजी से काम करने को कहा गया है (सांकेतिक फोटो)

विभिन्न राज्यों की आतंकवाद रोधी इकाइयों को ग्रेडेड इनपुट पर तेजी से काम करने को कहा गया है (सांकेतिक फोटो)

Jammu Kashmir: सूत्रों ने दावा किया कि जांच की निगरानी एनआईए कर रही है क्योंकि एजेंसी हाल ही में भारत और विदेशों में निशाना बनाकर की गई हत्याओं और जांच लिंक में साजिशों को देखेगी. पिछले एक हफ्ते में, एनआईए ने जम्मू-कश्मीर और देश के अन्य हिस्सों में आईएसआईएस की साजिश से संबंधित लगभग तीन दर्जन छापे मारे हैं.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली. आतंकवाद से निपटने के लिए केंद्र सरकार ने गृह मंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) की अध्यक्षता में एक उच्च-स्तरीय बैठक के बाद एक अखिल भारतीय योजना तैयार की है. ये योजना विशेष रूप से जम्मू-कश्मीर (Jammu Kashmir) में हाल ही में निशाना बनाकर की गई हत्याओं के बाद, इस आशंका के बीच कि प्रॉक्सी संगठनों के माध्यम से, पाकिस्तान स्थित आतंकवादी संगठन अगले कुछ महीनों के लिए कानून-व्यवस्था को नुकसान पहुंचा सकते हैं और नागरिकों और जवानों को निशाना बना सकते हैं को मद्देनजर रखते हुए तैयार की गई है.

    सूत्रों के मुताबिक, विभिन्न एजेंसियों को न केवल जम्मू-कश्मीर बल्कि दिल्ली, उत्तर प्रदेश और पंजाब जैसे अन्य राज्यों के लिए सहयोगात्मक तरीके से काम करने का जिम्मा सौंपा गया है. विभिन्न राज्यों की आतंकवाद रोधी इकाइयों को ग्रेडेड इनपुट पर तेजी से काम करने को कहा गया है ताकि देश के अन्य हिस्सों में रह रहे आतंकवादियों के मददगारों को गिरफ्तार किया जा सके. खुफ़िया एजेंसियों को एक बड़ा काम दिया गया है और सूत्रों ने दावा किया है कि रोज़ाना खुफ़िया सूचनाओं और संकेतों की संख्या में लगभग 40 प्रतिशत की वृद्धि हुई है.

    ये भी पढ़ें- बच्चों को कब लगेगी वैक्सीन, क्या होंगे साइड इफेक्ट, क्या है विशेषज्ञों की राय? यहां जानिए सब

    मल्टी-एजेंसी सेंटर, जिसमें सेंट्रल इंटेलिजेंस, जांच एजेंसियों, सुरक्षा बलों, दिल्ली पुलिस सहित 28 एजेंसियां ​​​​शामिल हैं, अपने सभी सदस्यों के साथ बारीकी से निगरानी और समन्वय कर रही हैं. खतरे को बताने वाले जम्मू-कश्मीर से संबंधित इनपुट, जिसमें औसतन हर महीने कुल लगभग 19 फीसदी इनपुट मिलते थे वह बढ़कर 32 फीसदी हो गए हैं. विभिन्न खुफिया और जांच एजेंसियों के शीर्ष चार अधिकारी सभी संचालन और इनपुट की निगरानी कर रहे हैं.

    सूत्रों ने दावा किया कि जांच की निगरानी एनआईए कर रही है क्योंकि एजेंसी हाल ही में भारत और विदेशों में निशाना बनाकर की गई हत्याओं और जांच लिंक में साजिशों को देखेगी. पिछले एक हफ्ते में, एनआईए ने जम्मू-कश्मीर और देश के अन्य हिस्सों में आईएसआईएस की साजिश से संबंधित लगभग तीन दर्जन छापे मारे हैं.

    16 जगहों पर छापेमारी के बाद चार आतंकी गिरफ्तार
    एनआईए ने केंद्र शासित क्षेत्र जम्मू-कश्मीर में 16 जगहों पर छापेमारी के बाद आतंकवादियों के चार सहयोगियों को गिरफ्तार किया है. एक अधिकारी ने बुधवार को बताया कि यह गिरफ्तारी केंद्र शासित क्षेत्र और नई दिल्ली सहित अन्य प्रमुख शहरों में हमले के लिए विभिन्न आतंकवादी संगठनों द्वारा साजिश रचने की जानकारी मिलने के बाद की गई छापेमारी के दौरान की गई.

    ये भी पढ़ें- UP Election: अखिलेश ने रथ यात्रा निकाल दिखाई अपनी ताकत, देखें Exclusive Photos

    एनआईए ने इस संबंध में 10 अक्टूबर को मामला दर्ज कर जांच शुरू की थी.

    एनआईए के एक प्रवक्ता ने बताया कि चार आरोपियों- वसीम अहमद सोफी, तारिक अहमद डार, बिलाल अहमद मीर उर्फ ‘बिलाल फाफू’ और तारिक अहमद बफांदा- को गिरफ्तार किया है, ये चारों श्रीनगर के निवासी हैं. इन्हें श्रीनगर, पुलवामा और शोपियां जिले में छापेमारी के दौरान गिरफ्तार किया गया.

    एनआईए ने कहा कि प्रारंभिक जांच से पता चला है कि गिरफ्तार किए गए आरोपी विभिन्न प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों के सहयोगी या ‘सक्रिय कार्यकर्ता’ (ओजीडब्ल्यू) हैं और आतंकवादियों को साजो-सामान और भौतिक सहायता प्रदान करते रहे हैं.

    एनआईए ने कहा कि यह मामला प्रतिबंधित आतंकवादी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा (एलईटी), जैश-ए-मोहम्मद, हिज़्ब-उल-मुजाहिदीन, अल बद्र और इसी तरह के अन्य संगठन तथा उनके सहयोगी जैसे, ‘द रेसिस्टेंस फ्रंट’ तथा ‘पीपल अगेंस्ट फासिस्ट फोर्सेस’ के सदस्यों द्वारा जम्मू-कश्मीर और नई दिल्ली सहित अन्य प्रमुख शहरों में आतंकवादी कृत्यों को अंजाम देने की साजिश रचने के संबंध में मिली जानकारी से जुड़ा है. एनआईए ने कहा कि मामले की आगे की जांच जारी है.

    Tags: Jammu kashmir, Jammu kashmir news, Lashkar-e-taiba, NIA

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर