होम /न्यूज /राष्ट्र /जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में दो विस्फोटों के पीछे लश्कर-ए-तैयबा का हाथ: पुलिस

जम्मू-कश्मीर के उधमपुर में दो विस्फोटों के पीछे लश्कर-ए-तैयबा का हाथ: पुलिस

उधमपुर जिले में हाल ही में हुए दो विस्फोटों के पीछे पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी संगठन का हाथ है. (फोटो-ANI)

उधमपुर जिले में हाल ही में हुए दो विस्फोटों के पीछे पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी संगठन का हाथ है. (फोटो-ANI)

Udhampur Bus Bomb Blast: जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने कहा कि उधमपुर जिले में हाल ही में हुए दो विस्फो ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

बीते 28 और 29 सितंबर को उधमपुर में दो बसों में विस्फोट की घटना घटित हुई थी.
जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक ने बताया कि इन दोनों ब्लास्ट के पीछे लश्कर-ए-तैयबा का हाथ है.
जम्मू कश्मीर पुलिस के महानिदेशक ने बताया कि पकड़े गए एक आतंकी ने इसका खुलासा किया है.

जम्मू. जम्मू-कश्मीर के पुलिस महानिदेशक दिलबाग सिंह ने रविवार को कहा कि उधमपुर जिले में हाल ही में हुए दो विस्फोटों के पीछे पाकिस्तान स्थित लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी संगठन का हाथ है, जो केंद्रीय गृह मंत्री के दौरे से पहले यह दर्शाने के लिए किए गए कि केंद्रशासित प्रदेश में ‘सब ठीक नहीं है’. उन्होंने कहा कि तीन दिनों के भीतर एक आतंकवादी की गिरफ्तारी के साथ मामले का पर्दाफाश हो गया, जिसके पास से पांच और आईईडी बरामद किए गए. उन्होंने कहा कि बरामद आईईडी में से तीन इस्तेमाल के लिए तैयार चुंबक बम हैं.

पुलिस महानिदेशक ने संवाददाताओं से कहा, ‘पाकिस्तान विकास का दुश्मन और विनाश का प्रेमी है. पिछले 30 वर्षों में उस देश ने यही किया है. वह नहीं चाहेगा कि कोई विकास हो. निश्चित रूप से पाकिस्तान और उसकी एजेंसियां यह सुनिश्चित करती रही हैं कि घाटी में शांति नहीं बल्कि अशांति बनी रहे. अब चीजें बेहतर हो रही हैं और हर गुजरते दिन के साथ सुधार हो रहा है.’ उनके साथ अतिरिक्त महानिदेशक, मुकेश सिंह, जम्मू और उधमपुर जिले के अन्य वरिष्ठ पुलिस अधिकारी भी मौजूद थे.

पुलिस प्रमुख ने कहा कि जब भी किसी बड़े व्यक्ति का दौरा होता है, तो आतंकवादी हमला करने के लिए बेताब हो जाते हैं. उन्होंने कहा, ‘जम्मू-कश्मीर में समग्र सुरक्षा स्थिति में बड़ा बदलाव आया है, जैसा कि तथ्यों से साबित भी हुआ है. यह केवल दावों पर आधारित नहीं है. बहुत बड़ी संख्या में सफल अभियान किए गए हैं. हमने आतंकवाद रोधी अभियानों के दौरान अपने लोगों और उनकी संपत्तियों को सुरक्षित रखने के प्रयास किए हैं.’

सिंह ने कहा कि सुरक्षा बलों को केंद्र शासित प्रदेश में लोगों का समर्थन प्राप्त है और क्षेत्र में सुरक्षा परिदृश्य चार साल पहले की तुलना में ‘आज काफी बेहतर’ है. महानिदेशक ने कहा, ‘इसलिए, हाई प्रोफाईल यात्रा या ऐसी कोई भी गतिविधि जो लोगों को सकारात्मक संदेश देती है, तभी सीमा पार आतंकवादी और उनके आका यह दर्शाने की कोशिश करते हैं कि सब ठीक नहीं है.’

चार अक्टूबर से शुरू हो रहे अमित शाह के इस क्षेत्र के दौरे के बारे में पूछे गए सवालों के जवाब में उन्होंने कहा, ‘अभी भी कुछ आतंकवादी बचे हैं और हमारे अभियान जारी हैं तथा हम उनसे जल्द ही निपट लेंगे.’ मुकेश सिंह ने कहा कि पुलिस ने कठुआ जिले में जैश-ए-मोहम्मद के एक मॉड्यूल का भी भंडाफोड़ किया है, जिसके एक सदस्य को एक चुंबक बम के साथ गिरफ्तार किया गया है. बता दें कि जम्मू-कश्मीर में 28 और 29 सितंबर को आठ घंटे की अवधि के भीतर दो बसों में विस्फोट हुआ था.

ये धमाके ऐसे समय हुए जब केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह की दो दिवसीय यात्रा के मद्देनजर सुरक्षाबलों को पूरे केंद्रशासित प्रदेश में हाई अलर्ट पर रखा गया है. उधमपुर जिले में 28 सितंबर की रात करीब साढ़े 10 बजे डोमेल चौक पर एक पेट्रोल पंप के पास खड़ी बस में हुए पहले विस्फोट में दो लोग घायल हो गए थे. वहीं, 29 सितंबर को सुबह लगभग छह बजे पुराने बस स्टैंड के पास हुए दूसरे विस्फोट में कोई हताहत नहीं हुआ था. इस धमाके में एक बस क्षतिग्रस्त हो गयी थी.

Tags: Jammu kashmir, Udhampur

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें