बेटा सिंगापुर में, रिश्‍तेदारों ने मुंह फेरा, तब पुलिस ने कोविड मरीज को दिया कंधा

जंगपुरा पुलिस चौकी के पुलिसकर्मी ने पेश की मानवता की मिसाल. जंगपुरा पुलिस चौकी के पुलिसकर्मी ने पेश की मानवता की मिसाल. (सांकेतिक फोटो)

जंगपुरा पुलिस चौकी के पुलिसकर्मी ने पेश की मानवता की मिसाल. जंगपुरा पुलिस चौकी के पुलिसकर्मी ने पेश की मानवता की मिसाल. (सांकेतिक फोटो)

काफी देर तक शव को पड़ा देख जंगपुरा पुलिस चौकी से कई पुलिसकर्मी पहुंचे और वृद्धा को कंधा दिया और लोधी कॉलोनी श्मशान घाट में महिला के शव का रीति रिवाज से अंतिम संस्कार करवाया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 23, 2021, 10:04 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. देश में कोरोना (Corona) के बढ़ते मामलों के बीच कुछ ऐसी भी तस्‍वीर भी सामने आ रही हैं, जिसे देखने के बाद लगता है कि अभी भी मानवता जिंदा है. कोरोना के इस मुश्किल दौरान राजधानी दिल्‍ली (Delhi) के जंगपुरा में एक वृद्धा की मौत हो गई. 71 वर्षीय वृद्धा का बेटा सिंगापुर (Singapore) में है. कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए उसने सिंगापुर से आने से इनकार कर दिया तो वहीं कोरोना से मौत की खबर सुनकर रिश्‍तेदारों ने भी दूरी बना ली. काफी देर तक शव को पड़ा देख जंगपुरा पुलिस चौकी से कई पुलिसकर्मी पहुंचे और वृद्धा को कंधा दिया और लोधी कॉलोनी श्मशान घाट में महिला के शव का रीति रिवाज से अंतिम संस्कार करवाया.

पुलिसकर्मी ने जिस तरह से मानवता का परिचय दिया है उसे देखने के बाद हर तरफ उनकी तरीफ हो रही है. दक्षिण-पूर्व जिला पुलिस अधिकारियों के अनुसार वृद्धा सुरेन्द्र कौर(71) ओ ब्लाक जंगपुरा एक्सटेंशन में अकेली रहती थीं. कोरोना टीका लगवाने के बाद से वह काफी बीमार चल रही थीं. 19 अप्रैल को सुरेंद्र कौर का निधन हे गया. आरडब्ल्यूए इसकी जानकारी जंगपुरा चौकी प्रभारी प्रकाश मीणा को दी. इसके बाद वृद्धा के रिश्‍तेदारों को सूचना दी गई.



पुलिकर्मियों को बताया गया है वृद्धा का बेटा गुनजीत सिंह सिंगापुर में रहता है. उसे मां की मौत की जानकारी दी गई तो उसने भारत आने से इनकार कर दिया. वृद्धा की मौत कोरोना से होने की बात मानकार रिश्‍तेदारों ने भी दूरी बना ली.
इसे भी पढ़ें :- भारत में कोरोना से हाहाकर, 24 घंटे में मिले 3.32 लाख केस, 2556 मरीजों की मौत

पुलिस ने वृद्धा के शव को एम्स की मोर्चरी में रखवा दिया. अगले दिन पुलिस ने किसी तरह वृद्धा के शव की भतीजे जिनीपाल सिंह को बुलाकर पहचान करवाई. बीमारी की वजह से मौत होने के कारण वृद्धा को पोस्‍टमार्टम कराया गया. हालांकि बाद में भतीजे ने अंतिम संस्कार करने से मना कर दिया. इसके बाद जंगपुरा चौकी प्रभारी प्रकाश मीणा व उनकी टीम वृद्धा के शव को लोधी कॉलोनी श्मशान घाट ले गई और वृद्धा के शव का अंतिम संस्कार करवाया गया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज