चीन से टेंशन पर जापान ने दिया भारत को समर्थन, LAC पर यथास्थिति बदलने के एकतरफा प्रयास का विरोध

जापान के राजदूत सातोशी सुजुकी (Satoshi Suzuki) ने शुक्रवार को कहा कि हम वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line Of Actual Control) पर यथास्थिति भंग करने के किसी भी एकतरफा प्रयास के खिलाफ हैं.

जापान के राजदूत सातोशी सुजुकी (Satoshi Suzuki) ने शुक्रवार को कहा कि हम वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line Of Actual Control) पर यथास्थिति भंग करने के किसी भी एकतरफा प्रयास के खिलाफ हैं.

  • Share this:
    नई दिल्ली. चीन के साथ भारत के सीमा विवाद (India-China Standoff) पर जापान ने प्रतिक्रिया दी है. भारत को समर्थन देते हुए भारत में जापान के राजदूत सातोशी सुजुकी (Satoshi Suzuki) ने शुक्रवार को कहा कि हम वास्तविक नियंत्रण रेखा (Line Of Actual Control) पर यथास्थिति भंग करने के किसी भी एकतरफा प्रयास के खिलाफ हैं.

    उन्होंने ट्वीट किया है कि भारत के विदेश सचिव हर्षवर्द्धन श्रृंगला के साथ अच्छी बातचीत हुई. उन्होंने एलएसी की स्थितियों के बारे में अवगत कराया साथ ही भारत सरकार के शांति स्थापित करने के प्रयासों के बारे में भी जानकारी दी. जापान यथास्थिति भंग करने के किसी भी एकतरफा प्रयास के खिलाफ है.



    पहले भी कह चुका है जापान-शांति से निकले हल
    इससे पहले भी सीमा विवाद के संबंध में जापान कह चुका है कि इसका शांतिपूर्ण हल ही निकलना चाहिए. जापान Quad का सदस्य है. इसका निर्माण प्रशांत महासागरीय क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव के मद्दनेजर किया गया था. वहीं दक्षिणी चीन सागर में भी जापान का चीन के साथ विवाद है. दो द्वीपों को लेकर लंबे समय से विवाद की घटनाएं सामने आती रही हैं.



    भारत और चीन के बीच ताजा सीमा विवाद 5 मई से शुरू हुआ लेकिन 15 जून को गलवान घाटी की घटना के बाद ये मसला बहुत ज्यादा गंभीर हो गया है. इससे पहले गुरुवार को भारत के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता अनुराग श्रीवास्तव ने भारत और चीन के बीच सैन्य वार्ता मे आपसी सहमति से मुद्दों के समाधान का हल निकलने की उम्मीद जताई है. उन्होंने कहा बातचीत सकारात्मक रही. समाधान निकलने तक दोनों देश सैन्य और राजनयिक स्तर पर अपनी बैठकें जारी रखेंगे.

    इस द्विपक्षीय बातचीत के क्रम में डब्ल्यूएमसीसी (परामर्श और समन्वय के लिए कार्यकारी तंत्र) के ढांचे के तहत वार्ता भी शामिल हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.