गार्ड ऑफ ऑनर के साथ भारत में शिंजो आबे का स्वागत

भाषा
Updated: September 13, 2017, 10:27 PM IST
गार्ड ऑफ ऑनर के साथ भारत में शिंजो आबे का स्वागत
एयरपोर्ट पर शिंजो आबे का स्वागत करते हुए पीएम मोदी
भाषा
Updated: September 13, 2017, 10:27 PM IST
जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे बुधवार को दो दिवसीय भारत यात्रा पर पहुंचे. यहां उनका अहमदाबाद और मुम्बई के बीच पहली बुलेट ट्रेन परियोजना की आधारशिला रखने के साथ कई अन्य महत्वपूर्ण समारोहों में हिस्सा लेने समेत बेहद व्यस्त कार्यक्रम है.

जापान के प्रधानमंत्री शिंजो आबे का आज यहां पहुंचने पर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने अहमदाबाद हवाई अड्डे पर जोरदार स्वागत किया.

स्वागत समारोह के तत्काल बाद आबे और उनकी पत्नी मोदी के साथ खुली जीप में 9 किलोमीटर के रोड शो में शामिल हुए और साबरमती आश्रम गए जहां, उन्होंने शांति के प्रतीक महात्मा गांधी की प्रतिमा के समक्ष कुछ समय बिताया.

जब आबे अहमदाबाद हवाई अड्डे पर पहुंचे तब वे औपचारिक परिधान में थे और सूट पहने हुए थे. हालांकि साबरमती आश्रम जाने के दौरान आबे कुर्ता-पायजामा और नीली सदरी पहने हुए थे और उनकी पत्नी ने सलवार कमीज और ओढ़नी पहनी था.

रोड शो के दौरान पूरे रास्ते दोनों नेता सड़क के किनारे उपस्थित भीड़ एवं पारंपरिक नृत्य संगीत का प्रदर्शन कर रहे कलाकारों की ओर हाथ हिलाकर उनका अभिवादन करते देखे गए.

महात्मा गांधी द्वारा स्थापित साबरमती आश्रम में आबे और उनकी पत्नी ने राष्ट्रपिता को श्रद्धांजलि दी. मोदी ने भारत आए अतिथियों को औपनिवेशिक शासन के खिलाफ अहिंसक संघर्ष में चरखा के महत्व को बताया.

यह पहला मौका है जब मोदी किसी दूसरे देश के शासनाध्यक्ष के साथ संयुक्त रूप से रोड शो कर रहे हैं जो दोनों देशों के करीबी संबंधों और आबे के साथ घनिष्ठता को प्रदर्शित करता है.

रोड शो के दौरान सड़क के किनारे उपस्थित भीड़ भारत और जापान के राष्ट्र ध्वज को लहरा रही थी. इस दौरान भारतीय संस्कृति के विविध आयामों को प्रदर्शित करने के लिये विभिन्न स्थानों पर 28 मंडप बनाये गए थे. कलाकार रंगबिरंगी पोशाक धारण किये हुए लोक नृत्य समेत अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम पेश कर रहे थे. यह रोड शो अहमदाबाद हवाई अड्डे से शुरू हुआ और करीब आठ किलोमीटर की दूरी तय करता हुआ साबरमती आश्रम पर समाप्त हुआ . आबे को हवाई अड्डे पर गार्ड ऑफ ऑनर दिया गया.

प्रधानमंत्री मोदी और प्रधानमंत्री आबे 14 सितंबर को गांधी नगर में महात्‍मा मंदिर में 12वीं भारत-जापान वार्षिक शिखर वार्ता करेंगे. दोनों नेता मीडिया के समक्ष अपना वक्‍तव्‍य भी देंगे. भारत-जापान व्‍यावसायिक शिष्‍टमंडल इसी दिन भारत पहुंचेगा.

प्रधानमंत्री मोदी और प्रधानमंत्री आबे के बीच यह चौथी वार्षिक शिखर वार्ता होगी. दोनों नेता ‘विशेष रणनीतिक एवं वैश्विक साझेदारी’ के फ्रेम वर्क के अंतर्गत भारत और जापान के बीच बहुउद्देशीय सहयोग की दिशा में हाल में हुई प्रगति की समीक्षा करेंगे और भावी दिशाएं तय करेंगे.

दोनों नेता अहमदाबाद और मुंबई के बीच चलने वाली भारत की तेज गति रेल परियोजना के भारत में निर्माण के शुभांरभ के लिए 14 सितंबर को आयोजित एक सार्वजनिक समारोह में भाग लेंगे. इस रेल के दो शहरों के बीच चलने से यात्रा में लगने वाले समय में उल्‍लेखनीय कमी आने की संभावना है. उच्‍च गति रेल नेटवर्क के क्षेत्र में जापान एक अग्रणी देश है और इसकी शिंककेनसेन बुलेट रेल दुनिया की सबसे तेज चलने वाली रेलगाड़ियों में से एक है.
First published: September 13, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर