होम /न्यूज /राष्ट्र /BBC की बैन डॉक्यूमेंट्री पर JNU में बवाल, बत्ती गुल और पत्थरबाजी.... JNUSU ने दर्ज कराई शिकायत, ये है लेटेस्ट अपडेट

BBC की बैन डॉक्यूमेंट्री पर JNU में बवाल, बत्ती गुल और पत्थरबाजी.... JNUSU ने दर्ज कराई शिकायत, ये है लेटेस्ट अपडेट

पुलिस के आश्वासन के बाद आइशी घोष ने प्रदर्शन वापस लेने का ऐलान किया. ANI

पुलिस के आश्वासन के बाद आइशी घोष ने प्रदर्शन वापस लेने का ऐलान किया. ANI

JNU News: जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में एक बार फिर बवाल शुरू हो गया है. इस बार बवाल बीबीसी की बैन डॉक्यूमेंट्री ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

JNU में BBC की विवादित डॉक्युमेंट्री को दिखाने पर बवाल
डॉक्युमेंट्री देख रहे छात्रों पर पत्थरबाजी का आरोप
JNUSU ने वसंत कुंज थाने में दर्ज कराई शिकायत

नई दिल्ली. जवाहर लाल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) एक बार फिर विवाद का केंद्र बन गई है. इस बार विवाद का कारण बीबीसी की बैन डॉक्यूमेंट्री ‘India: The Modi Question’ की स्‍क्रीनिंग है. इस डॉक्यूमेंट्री ने कैंपस में बखेड़ा खड़ा कर दिया है. दरअसल कुछ छात्र इस डॉक्यूमेंट्री को देख रहे थे तभी उनपर पत्थरबाजी हुई. इसके साथ ही इंटरनेट बंद कर बिजली भी काट दी गई. हालांकि बाद में कैंपस में बिजली बहाल की गई.

न्यूज एजेंसी ANI के अनुसार पीएम मोदी पर प्रतिबंधित बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग के दौरान पथराव किए जाने के दावों के साथ जेएनयू के छात्रों ने वसंत कुंज थाने के बाहर विरोध प्रदर्शन किया. इसके बाद थाने के बाहर जेएनयू छात्रसंघ (JNUSU) की अध्यक्ष आइशी घोष (Aishe Ghosh) ने मीडिया से बातचीत की. उन्होंने कहा कि हमने इस मामले में शिकायत दर्ज कराई है.

पढ़ें- BBC Documentary- बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री विवाद पर अमेरिका ने दिया करारा जवाब, पाक पत्रकार की बोलती बंद

आइशी घोष ने आगे कहा कि ‘पुलिस ने हमें आश्वासन दिया है कि वे तुरंत घटना की जांच करेंगे. हमने इसमें शामिल सभी व्यक्तियों के नाम और विवरण दिए हैं. फिलहाल, हम विरोध प्रदर्शन वापस ले रहे हैं. हम जेएनयू प्रॉक्टर कार्यालय में भी शिकायत दर्ज कराएंगे. दरअसल, ये बवाल इसलिए खड़ा हुआ है क्योंकि कुछ दिन पहले ही जेएनयू प्रशासन ने बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री (JNU BBC Documentary Screening) ना दिखाने का फैसला किया था. लेकिन जेएनयू छात्र संघ ने ऐलान कर दिया कि वो अपनी तरफ से छात्रों के लिए डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग करेंगे.’

बता दें कि केंद्र सरकार ने BBC की विवादित डॉक्यूमेंट्री पर नए आईटी नियमों के तहत प्रतिबंध लगाया है. जेएनयू से पहले मंगलवार को केरल में कई जगहों पर यह डॉक्यूमेंट्री दिखाई गई है. राज्य में सत्तारूढ़ CPM से जुड़े छात्र संगठन SFI समेत कई दलों ने स्‍क्रीनिंग की. वहीं हैदराबाद यूनिवर्सिटी में भी छात्रों के एक समूह ने डॉक्यूमेंट्री की स्‍क्रीनिंग की. इसे लेकर यूनिवर्सिटी प्रशासन ने रिपोर्ट मांगी है.

Tags: Jnu, JNU Violence

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें