Home /News /nation /

जयललिता के स्मारक पर शशिकला ने दिए वापसी के संकेत; AIADMK ने कहा- पार्टी में कोई जगह नहीं

जयललिता के स्मारक पर शशिकला ने दिए वापसी के संकेत; AIADMK ने कहा- पार्टी में कोई जगह नहीं

Sasikala AIADMK News: शशिकला दिवंगत मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक नेता जे जयललिता की करीबी सहयोगी और सहेली हैं. वर्ष 2017 में शशिकला को अन्नाद्रमुक से निकाल दिया गया था.

Sasikala AIADMK News: शशिकला दिवंगत मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक नेता जे जयललिता की करीबी सहयोगी और सहेली हैं. वर्ष 2017 में शशिकला को अन्नाद्रमुक से निकाल दिया गया था.

Sasikala AIADMK News: शशिकला दिवंगत मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक नेता जे जयललिता की करीबी सहयोगी और सहेली हैं. वर्ष 2017 में शशिकला को अन्नाद्रमुक से निकाल दिया गया था.

    चेन्नई. अन्नाद्रमुक (एआईएडीएमके) से निष्कासित नेता वीके शशिकला द्वारा शनिवार को चेन्नई के मरीना में तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता के स्मारक की यात्रा से राजनीतिक हलकों में कई तरह के कयास लगने शुरू हो गए हैं. अपने वाहन पर एआईएडीएमके के झंडे के साथ शशिकला को स्मारक में प्रवेश करते देखा गया. इस दौरान उनके समर्थकों द्वारा “एआईएडीएमके महासचिव त्याग थाई चिन्नम्मा” के नारे लगाए जा रहे थे.

    आंखों में आंसू लिए जयललिता की करीबी सहयोगी अपने समय की राजनीतिक उस्ताद को पुष्पांजलि अर्पित करती हुई नजर आईं. गौरतलब है कि शशिकला दिवंगत मुख्यमंत्री और अन्नाद्रमुक नेता जे जयललिता की करीबी सहयोगी और सहेली हैं. वर्ष 2017 में शशिकला और दिनाकरन को अन्नाद्रमुक से निकाल दिया गया था.

    मैं हूं कांग्रेस की पूर्णकालिक अध्यक्ष, सख्त तेवरों से सोनिया ने G-23 नेताओं के दिया बड़ा संदेश

    श्रद्धांजलि के बाद पत्रकारों से बात करते हुए शशिकला ने अन्नाद्रमुक को पुनर्जीवित करने की अपनी क्षमता पर भरोसा जताया. उन्होंने कहा, “मैंने अपनी जिंदगी का तीन चौथाई हिस्सा जयललिता के साथ बिताया है. मुझे स्मारक का दौरा किए चार साल से अधिक समय हो गया है. जया स्मारक पर मैंने अपने सीने से बोझ उतार दिया है. मुझे यकीन है कि जयललिता और एमजीआर अन्नाद्रमुक कैडर की रक्षा करेंगे.”

    युवक की निर्मम हत्या के मामले में आरोपी सरबजीत सिंह को कोर्ट ने 7 दिन की पुलिस रिमांड पर भेजा

    AIADMK का शशिकला पर हमला
    हालांकि स्मारक स्थल पर शशिकला की यात्रा को पार्टी के उन सदस्यों ने गंभीरता से नहीं लिया, जिन्होंने वहां उनकी पर नाराजगी जाहिर की और उनके राजनीति में वापसी के दावों का भी खंडन किया. पार्टी प्रवक्ता और पूर्व मंत्री डी. जयकुमार ने कहा, “शशिकला का अन्नाद्रमुक में कोई स्थान नहीं है. अम्मा मेमोरियल में उनके आगमन का कोई राजनीतिक प्रभाव नहीं है, वह जयललिता के कई लाभार्थियों में से एक हैं. अगर वह राजनीति में जगह चाहती हैं तो एएमएमके सही जगह है. उनके अभिनय के लिए उन्हें ऑस्कर पुरस्कार मिल सकता है, लेकिन अन्नाद्रमुक में कोई जगह नहीं है.”

    शशिकला ने पहले भी दिए है पार्टी में वापसी के संकेत
    यह पहली बार नहीं है कि शशिकला ने पार्टी में वापसी के संकेत दिए हैं. बीते मई माह में भी शशिकला ने इस ओर इशारा किया था जब उन्होंने अपने समर्थकों से कहा था कि जल्द ही एक ‘अच्छा निर्णय’ लिया जाएगा. उनकी इस टिप्पणी को पार्टी पर दोबारा नियंत्रण हासिल करने के प्रयासों और राजनीति में वापसी के संकेत के रूप में देखा गया था.

    शशिकला ने की विधानसभा चुनाव नहीं लड़ने की घोषणा
    शशिकला ने छह अप्रैल को हुए तमिलनाडु विधानसभा चुनाव से पहले घोषणा की थी कि वह राजनीति से दूर रहेंगी और फिर मई में उन्होंने कहा कि वह पार्टी को ”अंतर्कलह” के कारण बर्बाद होते नहीं देख सकतीं. दरअसल, तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत जे जयललिता की विश्वासपात्र रहीं शशिकला की फोन पर अपने दो वफादार नेताओं से हुई संक्षिप्त बातचीत में यह बात सामने आई थी.

    पहली ऑडियो क्लिप में उन्हें यह कहते हुए सुना जा सकता था, ”हम निश्चित रूप से पार्टी को सुव्यवस्थित कर लेंगे. मैं आऊंगी.” दूसरी ऑडियो क्लिप में वह अन्नाद्रमुक की ओर इशारा करते हुए अपने समर्थक से कहती हैं कि पार्टी नेताओं की कड़ी मेहनत से खड़ी हुई है, जिसमें वह भी शामिल हैं और ”उन्हें लड़ते हुए” देखकर दुख होता है तथा वह इसके चलते मूकदर्शक बनकर पार्टी को बर्बाद होते नहीं देख सकतीं.

    आय से अधिक संपत्ति मामले में शशिकला को हुई थी जेल
    साल 2017 में आय से अधिक संपत्ति मामले में सजा मिलने के बाद शशिकला को जेल भेज दिया गया था. दो साल पहले उन्हें और उनके भांजे दिनाकरण ने पार्टी पर से अपनी पकड़ खो दी थी. ऐसे में उनके इस बयान को पार्टी पर दोबारा नियंत्रण हासिल करने के प्रयास के संकेत के तौर पर देखा जा रहा है. शशिकला को इस साल जनवरी में जेल से रिहा किया गया था.

    Tags: Aiadmk, J Jayalalithaa, VK Sasikala

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर