कर्नाटक में गुजराती बिजनेस कर रहें राज्यपाल, मोदी सरकार भी शामिल: कुमारस्वामी

कुमारस्वामी ने कहा था 'मैं बीजेपी को चेतावनी देना चाहता हूं कि वे इस बार ऑपरेशन कमल की कोशिश भी न करें. इस बार यह उन पर उलटा पड़ जाएगा. हम बीजेपी के दोगुने विधायकों को अपने पाले में ले आएंगे.'

News18Hindi
Updated: May 16, 2018, 11:37 PM IST
कर्नाटक में गुजराती बिजनेस कर रहें राज्यपाल, मोदी सरकार भी शामिल: कुमारस्वामी
जेडीएस नेता एचडी कुमारस्वामी.
News18Hindi
Updated: May 16, 2018, 11:37 PM IST
कर्नाटक में राज्यपाल वजुभाई वाला की ओर से बीजेपी को सरकार का गठन करने की अनुमति दे दी गई है. जेडीएस नेता एचडी कुमारस्‍वामी से राज्यपाल के इस फैसले पर आपत्ति जाहिर की है. कुमारस्वामी ने कहा- 'राज्‍यपाल सिस्‍टम सही करें, गुजराती बिजनेस न करें.' उन्‍होंने सवाल किया कि येदियुरप्‍पा ने कहा था कि मैं शपथ लेने के 24 घंटे के भीतर किसानों का कर्ज माफ कर दूंगा, क्‍या अब वह ऐसा करेंगे?

कुमारस्‍वामी ने कहा, 'हम इतनी आसानी से हार नहीं मानेंगे. येदियुरप्‍पा को बहुमत साबित करने के लिए 15 दिन का नहीं 3 दिन का समय मिलना चाहिए. हम सब जानते हैं क्‍या हो रहा है. इसमें कोई शक नहीं कि राज्‍यपाल डबल गेम खेल रहे हैं. वो यहां बिजनेस कर रहे हैं. कर्नाटक के लोग इसकी वजह से नुकसान उठाएंगे. कोई शक नहीं कि इसमें केंद्र सरकार का भी हाथ है.'

जेडीएस नेता ने कहा, 'आप इस देश को किस ओर लेकर जा रहे हैं? किसी को 3 करोड़ रुपये ऑफर किए जा रहे हैं, किसी को 5 करोड़ तो किसी को 100 करोड़ रुपये, सड़क पर घूमने वाले की कोई कीमत है?' इससे पहले बुधवार को कुमारस्वामी ने कहा था 'मैं बीजेपी को चेतावनी देना चाहता हूं कि वे इस बार ऑपरेशन कमल की कोशिश भी न करें. इस बार यह उन पर उलटा पड़ जाएगा. हम बीजेपी के दोगुने विधायकों को अपने पाले में ले आएंगे.'

गुरुवार को ही जेडीएस के विधायकों की बैठक हुई जिसमें कुमारस्वामी को सदन का नेता चुना गया. इसके बाद उन्होंने कहा कि बीजेपी ने धर्मनिरपेक्ष मतों को बांटकर 104 सीटें पाई है. उन्होंने कहा कि बीजेपी पास संख्याबल नहीं है, प्रधानमंत्री को ऐसा नहीं कहना चाहिए था कि बीजेपी सरकार बनाएगी.

15 तारीख को कर्नाटक विधानसभा चुनाव के परिणाम आए हैं. जिसमें किसी भी दल को स्पष्ट बहुमत नहीं मिला. बीजेपी को 104, कांग्रेस को 78, जेडीएस को 38 और अन्य के खाते में 2 सीट आई थी. 15 मई को ही दिन में स्पष्ट परिणाम ना आने के चलते कांग्रेस और जेडीएस ने गठबंधन कर लिया. कांग्रेस की ओर से दिए गए प्रस्ताव को देर शाम जेडीएस ने स्वीकार भी कर लिया.

राज्यपाल की ओर से अनुमति मिलने के बाद कल येदियुरप्पा बतौर मुख्यमंंत्री सुबह 9.30 बजे शपथ ग्रहण करेंगे. हालांकि राज्यपाल के फैसले पर कांग्रेस ने कहा कि राज्यपाल को गैरकानूनी रास्ता नहीं अपनाना चाहिए.

ये भी पढ़ें: बीजेपी का हुआ कर्नाटक, कल सुबह 9:30 बजे शपथ लेंगे येदियुरप्पा

BJP नेताओं का आरोप- हमारे विधायकों के फोन टैप करवा रही कांग्रेस, निगाहें राज्यपाल पर
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर