Home /News /nation /

पूर्व चीनी राजनयिक ने कहा, मसूद अजहर एक आतंकवादी है, चीन इस पर अपना रुख तय करे

पूर्व चीनी राजनयिक ने कहा, मसूद अजहर एक आतंकवादी है, चीन इस पर अपना रुख तय करे

Photo: News18.com

Photo: News18.com

पाकिस्तान और चीन भले ही यह मानें या न मानें कि मसूद अजहर एक आतंकवादी है, लेकिन एक पूर्व चीनी राजदूत इस मुद्दे पर भारत के साथ खड़े नजर आ रहे हैं. उन्होंने इस पर चीन से भी भारत का समर्थन करने की अपील की है.

  • Bhasha
  • Last Updated :
    पाकिस्तान और चीन भले ही यह मानें या न मानें कि मसूद अजहर एक आतंकवादी है, लेकिन एक पूर्व चीनी राजदूत इस मुद्दे पर भारत के साथ खड़े नजर आ रहे हैं. उन्होंने इस पर चीन से भी भारत का समर्थन करने की अपील की है.

    चीन की सरकारी नीति के खिलाफ दुर्लभ तरीके से असहमति जताते हुए भारत में सेवाएं दे चुके एक पूर्व चीनी राजनयिक माओ सिवेई ने जैश-ए-मोहम्मद के चीफ मसूद अजहर पर संयुक्त राष्ट्र (यूएन) की ओर से पाबंदी लगाने के भारत के प्रयास को बाधित करने के चीन के प्रयासों में बदलाव की वकालत की है.

    माओ सिवेई ने दलील दी है कि मसूद अजहर एक आतंकवादी है और बीजिंग को उसी हिसाब से अपना रुख तय करना चाहिए.

    ‘वीचैट’ पर अजहर को लेकर भारत-चीन के गतिरोध पर अपने लंबे ब्लॉग में माओ सिवेई ने कहा कि चीन को अजहर के खिलाफ भारत की शिकायत का लाभ उठाना चाहिए और दोनों देशों के बीच निष्क्रिय राजनयिक परिस्थितियों से मुक्ति पानी चाहिए. सिवेई कोलकाता में चीन के महावाणिज्य दूत के रूप में सेवाएं दे चुके हैं.

    यह ब्लॉग 28 दिसंबर को प्रकाशित हुआ. दो दिन बाद ही चीन ने भारत की अर्जी पर अपनी तकनीकी रोक को हटाने से इनकार कर दिया था. सिवेई ने पाकिस्तान के आतंकी संगठनों लश्कर-ए-तैयबा और जैश-ए-मोहम्मद के इतिहास को खंगाला और लिखा कि जब भी भारत और पाकिस्तान ने अपने संबंधों को सामान्य करने का प्रयास किया तो किस तरह इन
    संगठनों ने हिंसक हमले किए.

    पठानकोट आतंकी हमले के मामले में अजहर के खिलाफ भारतीय सबूतों का उल्लेख करते हुए पूर्व चीनी राजनयिक ने आरोपपत्र का जिक्र किया जिनमें फेसबुक और टेलीफोन रिकॉर्ड के साथ डीएनए नमूनों का विवरण है.

    उन्होंने लिखा, ‘‘उपरोक्त के मद्देनजर मुझे लगता है कि चीन को अब भारत की शिकायत को गंभीरता से अध्ययन करने और स्थिति निर्धारित करने के अवसर के तौर पर लेना चाहिए और संयुक्त राष्ट्र की 1267 समिति की सूची में जैश प्रमुख का नाम शामिल कराने को लेकर बनी निष्क्रिय राजनयिक स्थिति से मुक्ति पानी चाहिए.’’

    सिवेई ने कहा, ‘‘पहली बात तो क्या अजहर एक आतंकवादी है? दूसरी बात कि क्या पठानकोट हमले को जैश-ए-मोहम्मद संगठन ने अंजाम दिया? पहले सवाल का जवाब ‘हां’ होना चाहिए.’’

    Tags: Masood Azhar

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर