अपना शहर चुनें

States

बढ़ी Jet Airways की मुश्किलें, कंपनी बोली- एक साथ नहीं चुका पाएंगे पायलटों की सैलरी

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी के एक हजार से ज्यादा पायलटों ने 1 अप्रैल से विमान नहीं उड़ाने के अपने फैसले पर अडिग रहने का निर्णय किया है.

  • News18.com
  • Last Updated: March 31, 2019, 12:06 AM IST
  • Share this:
प्राइवेट सेक्टर की एविएशन कंपनी जेट एयरवेज ने शनिवार को पायलटों और मेंटनेंस स्टाफ को बकाया वेतन देने में असमर्थता जताई है. हालांकि कंपनी ने दिसंबर तक 87.5 फीसदी सैलरी देने का आश्वासन दिया है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी के एक हजार से ज्यादा पायलटों ने 1 अप्रैल से विमान नहीं उड़ाने के अपने फैसले पर अडिग रहने का निर्णय किया है.

इस बीच एयरलाइन पायलट बॉडी और नेशनल एविएटर्स गिल्ड (एनएजी) ने रविवार को नई दिल्ली और मुंबई में अपने मेंबर्स को अपनी बात रखने और कंपनी की बात सुनने के लिए बुलाया है.

मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, कंपनी के एक हजार से ज्यादा पायलटों ने 1 अप्रैल से विमान नहीं उड़ाने के अपने फैसले पर अडिग रहने का निर्णय किया है. ऐसे में पैसेंजर्स को भी परेशानी झेलनी पड़ रही है, क्योंकि 30 अप्रैल तक जेट एयरवेज ने अपनी 30 उड़ानें कैंसिल कर दी हैं. एक तिहाई उड़ानें ही ऑपरेशन में हैं. ऐसा माना जा रहा है कि आने वाले दिनों में इसमें और कटौती की जा सकती है. कंपनी भारी कर्ज़ तले दबी है.



यह भी पढ़ें:   फारूक अब्दुल्ला के बिगड़े बोले, कहा- CRPF के जो 40 लोग शहीद हो गए, उसका भी मुझे शक है
जेट एयरवेज के करीब 1100 पायलटों के प्रतिनिधित्व का दावा करने वाले संगठन ‘नेशनल एविएटर्स गिल्ड' ने पिछले सप्ताह घोषणा की थी कि अगर उनके बकाये वेतन का भुगतान नहीं किया गया और 31 मार्च तक पुनर्जीवन योजना पर स्थिति स्पष्ट नहीं की जाती है तो वे एक अप्रैल से विमान नहीं उड़ाएंगे.

यह भी पढ़ें:  ट्विटर यूजर ने पूछा खुद को चौकीदार क्यों कहती हैं आप? सुषमा स्वराज ने दिया ये जवाब

आपको बता दें कि लगातार घाटे में चल रही और नकदी संकट से जूझ रही जेट एयरवेज पिछले चार महीने से कर्मचारियों की सैलरी भी नहीं दे पाई है. इसकी वजह से उसे अपने कई विमानों को खड़ा करना पड़ा है और साथ ही वह कर्मचारियों के वेतन भुगतान तथा कर्ज़ भुगतान में भी देरी हो रही है.

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज