होम /न्यूज /राष्ट्र /ज्योति रंजन हत्याकांड में गोली चलाने वाले 2 शूटर गिरफ्तार 1 फरार, छोटा भाई निकला साजिशकर्ता

ज्योति रंजन हत्याकांड में गोली चलाने वाले 2 शूटर गिरफ्तार 1 फरार, छोटा भाई निकला साजिशकर्ता

ज्योति रंजन हत्याकांड में शामिल दो शूटरों को राजगंज पुलिस बिहार के आरा से पकड़कर लाई (News18)

ज्योति रंजन हत्याकांड में शामिल दो शूटरों को राजगंज पुलिस बिहार के आरा से पकड़कर लाई (News18)

कारोबारी ज्योति रंजन हत्याकांड (Jyoti Ranjan Murder Case) में शामिल दो शूटरों को राजगंज पुलिस बिहार (Bihar) के 'आरा' से ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

धनबाद के राजगंज थाना क्षेत्र में खरनी मोड़ के समीप सनशाइन कॉलोनी में रहने वाले जूस कारोबारी ज्‍योति रंजन की हत्‍या
कारोबारी ज्योति रंजन हत्याकांड में शामिल दो शूटरों को राजगंज पुलिस बिहार के आरा से पकड़कर लाई हैं
व्यवसायी की हत्या की साजिश खुद उसके छोटे भाई सौरभ शर्मा ने अपने दोस्त श्रीकांत मिश्रा के साथ मिलकर रची थी

रिपोर्ट- संजय गुप्ता

धनबाद: धनबाद (Dhanbad) के राजगंज थाना क्षेत्र (rajaganj Police station area) में खरनी मोड़ (Kharni turn) के समीप सनशाइन कॉलोनी (Sunshine Colony) में रहने वाले जूस कारोबारी ज्‍योति रंजन (Jyoti ranjan) की हत्‍या (Murder) मामले की गुत्‍थी पुलिस ने 48 घण्टे में सुलझा ली थी. कारोबारी ज्योति रंजन हत्याकांड में शामिल दो शूटरों को राजगंज पुलिस बिहार (Bihar) के ‘आरा’ से पकड़कर लाई हैं. पकड़े गए शूटरों का नाम विकास उर्फ सोनू और राहुल कुमार हैं. जबकि पुलिस के आने की भनक पाकर चंदन नामक एक अन्य शूटर भाग गया. 29 सितंबर की रात्रि 8 बजे लगभग व्यवसायी ज्योति रंजन की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी. व्यवसायी की हत्या की साजिश खुद उसके छोटे भाई सौरभ शर्मा ने अपने दोस्त श्रीकांत मिश्रा के साथ मिलकर रची थी.

हत्या के बाद पुलिस के लिए आरोपियों को गिरफ्तार करना एक बड़ी चुनौती बन गई थी. लेकिन पुलिस  48 घण्टों के अंदर ही रंजन के मर्डर की गुत्थी को सुलझाने में सफल हो गई. व्यवसायी के हत्या के साजिशकर्ता छोटे भाई सौरभ और उसके दोस्त श्रीकांत को दाहसंस्कार स्थल से ही गिरफ्तार कर लिया गया था. फिलहाल दोनों को पुलिस जेल भेज चुकी हैं. वही व्यवसायी को गोली मारने वाले दोनों शूटरों को भी गिरफ्तार कर लिया गया हैं.

रांची को जल्द ही मिलेगी जाम से मुक्ति, कचहरी रोड सहित कई सड़कें होंगी फोरलेन

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक पूछताछ में दोनों आरोपियों ने हत्या में अपनी संलिप्तता स्वीकार की है. दोनों ने पुलिस को बताया है कि हत्याकांड को अंजाम देने के बाद चंदन से वे अलग हो गए थे. विकास व राहुल बाइक से तथा चंदन ट्रेन से आरा भाग गया था. ज्योति के भाई सौरभ कुमार के कहने पर उसके दोस्त श्रीकांत मिश्रा ने हत्या के लिए तीनों शूटरों को 8 लाख रुपए की सुपारी दी थी.

राजगंज थाना में प्रेसवार्ता कर जानकारी दी गई की हत्या में उपयोग की गई बाइक को पुलिस ने अपने हिरासत में ले ली. प्रेसवार्ता में कतरास सर्किल इंस्पेक्टर भिखारी राम एवं थाना प्रभारी संतोष कुमार मौजूद थे. कतरास सर्किल इंस्पेक्टर ने कहा कि 29 सितम्बर की व्यवसायी ज्योति रंजन को गोली मारकर हत्या कर दी गयी थी. व्यवसायी को गोली मारने वाले शूटर राहुल कुमार और सोनू कुमार को बिहार के भोजपुर आरा से गिरफ्तार कर लिया गया हैं.

शूटर को न्यायिक हिरासत में आज भेजा जा रहा है. व्यवसायी की हत्या की साजिश उसके छोटे भाई सौरभ और उसके मित्र श्रीकांत मिश्रा ने रची थी. दोनों को पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेजा जा चुका हैं. हत्या  में उपयोग हत्यारों को भी जब्त किया जा चुका हैं.

Tags: Arrested, Dhanbad news, Jharkhand news, Murder case

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें