पश्चिम बंगाल में कमल खिलाने झारखंड के ये नेता डालेंगे डेरा, पार्टी ने दी है इन सीटों की जिम्मेदारी

झारखंड के दिग्गज नेताओं को भी पश्चिम बंगाल की कई सीटों की जिम्मेदारी देकर उन्हें वहां सक्रिय किया गया है. झारखंड के तीन पूर्व मुख्यमंत्री पश्चिम बंगाल के चुनाव समर में पसीना बहाते नजर आएंगे.

झारखंड के दिग्गज नेताओं को भी पश्चिम बंगाल की कई सीटों की जिम्मेदारी देकर उन्हें वहां सक्रिय किया गया है. झारखंड के तीन पूर्व मुख्यमंत्री पश्चिम बंगाल के चुनाव समर में पसीना बहाते नजर आएंगे.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में फोकस कर वहां भाजपा सरकार बनवाने के लिए सियासी व्यूह रचना शुरु कर दी है. इसी को लेकर झारखंड के दिग्गज नेताओं को भी पश्चिम बंगाल की कई सीटों की जिम्मेदारी देकर उन्हें वहां सक्रिय किया गया है. झारखंड के तीन पूर्व मुख्यमंत्री पश्चिम बंगाल के चुनाव समर में पसीना बहाते नजर आएंगे.

  • Share this:
रांची . पश्चिम बंगाल चुनाव ( West Bengal Election) में जीत दर्ज कराने के लिए भाजपा (BJP) ने पूरी ताकत झोंकना शुरू कर दी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ( Narendra Modi) से लेकर गृह मंत्री अमित शाह ने पश्चिम बंगाल में फोकस कर वहां भाजपा सरकार बनवाने के लिए सियासी व्यूह रचना शुरू कर दी है. इसी को लेकर झारखंड के दिग्गज नेताओं को भी पश्चिम बंगाल की कई सीटों की जिम्मेदारी देकर उन्हें वहां सक्रिय किया गया है. झारखंड के तीन पूर्व मुख्यमंत्री पश्चिम बंगाल के चुनाव समर में पसीना बहाते नजर आएंगे. पूर्व मुख्यमंत्री सह केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा जहां पश्चिम बंगाल में कैंप किये हुये हैं. उनके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी का कार्यक्रम भी तय हो चुका है. बाबूलाल मरांडी पश्चिम बंगाल का दौरा भी कर चुके हैं.

देश के बड़े राज्यों में से एक पश्चिम बंगाल में भगवा झंडा फहराना बीजेपी का सबसे बड़ा राजनीतिक लक्ष्य माना जा रहा है. ऐसे में बीजेपी की रणनीति को जान लेना भी बेहद जरूरी है. पश्चिम बंगाल चुनाव में अपनी जीत सुनिश्चित करने के लिये बीजेपी ने देश के कई राज्यों के बड़े रणनीतिकार और चुनावी राजनीति के माहिर खिलाडिय़ों को मैदान में उतारा है. पश्चिम बंगाल से सटे झारखंड राज्य के बीजेपी नेताओं को बड़ी जिम्मेदारी सौंपी गई है. जैसे - जैसे चुनाव की आहट से राजनीति की फिजा बदल रही है, वैसे-वैसे झारखंड बीजेपी के बड़े नेताओं का पश्चिम बंगाल का फेरा बढ़ गया है.

पश्चिम बंगाल चुनाव में लक्ष्य को साधने में जुटे अर्जुन

बीजेपी केंद्रीय नेतृत्व ने पश्चिम बंगाल चुनाव को लेकर झारखंड के बड़े नेताओं को विशेष जिम्मेदारी सौंपी है. केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा को पश्चिम बंगाल की 5 लोकसभा सीट पुरुलिया, बांकुड़ा, विष्णुपुर, झारग्राम, मेदनीपुर की जिम्मेदारी दी गई है. इन पांच लोकसभा की 35 विधानसभा सीटों पर केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा अपने लक्ष्य को साधने में जुटे है. राष्ट्रीय राजनीति में आदिवासी नेता के तौर पर स्थापित अर्जुन मुंडा पिछले कुछ महीनों से लगातार पश्चिम बंगाल में सक्रिय है और चुनावी बैठकों के साथ - साथ रैलियों को संबोधित कर रहे है .
झारखंड के इन नेताओं को भी मिली है जिम्मेदारी

झारखंड के तीन पूर्व मुख्यमंत्री पश्चिम बंगाल के चुनाव समर में पसीना बहाते नजर आएंगे. पूर्व मुख्यमंत्री सह केंद्रीय मंत्री अर्जुन मुंडा जहां पश्चिम बंगाल में कैंप किये हुये हैं. उनके अलावा पूर्व मुख्यमंत्री रघुवर दास और पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी का कार्यक्रम भी तय हो चुका है. बाबूलाल मरांडी पश्चिम बंगाल का दौरा भी कर चुके हैं. वहीं प्रदेश बीजेपी के अध्यक्ष सह सांसद दीपक प्रकाश, प्रदेश महामंत्री आदित्य साहू , प्रदीप वर्मा , पूर्व प्रशिक्षण प्रमुख गणेश मिश्रा , वर्तमान प्रशिक्षण सह प्रमुख पंकज सिन्हा सहित बीजेपी विधायकों और सांसदों को विधानसभावार जिम्मेदारी सौंपी गई है.

झारखंड से सटे पश्चिम बंगाल की सीटों पर विशेष नजर



बीजेपी ने झारखंड सीमा से सटे पश्चिम बंगाल की विधानसभा सीटों को लेकर खास रणनीति बनाई है. धनबाद से लेकर कोल्हान और संथाल परगना की सीमा से लगे बंगाल की सीटों पर झारखंड बीजेपी के कार्यकर्ताओं को टास्क दिया गया है. ऐसे कार्यकर्ताओं में सक्रिय से लेकर पूर्णकालिक सदस्य शामिल हैं, जो बीजेपी की विचारधारा को आम जनता के बीच प्रचारित और प्रसारित करने में सक्षम माने जाते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज