दिलबाग सिंह जम्मू कश्मीर के नए पुलिस प्रमुख, कहा-आतंकवाद से निबटना शीर्ष प्राथमिकता

राज्य के पुलिस प्रमुख की जिम्मेदारी संभालने के तत्काल बाद पीटीआई के साथ बातचीत में सिंह ने कहा कि अभी उनकी प्राथमिकता निर्दोष आम लोगों के हितों की रक्षा करते हुए आतंकवाद से सख्ती से निबटना है.

भाषा
Updated: September 7, 2018, 11:17 PM IST
दिलबाग सिंह जम्मू कश्मीर के नए पुलिस प्रमुख, कहा-आतंकवाद से निबटना शीर्ष प्राथमिकता
दिलबाग सिंह जम्मू कश्मीर के नए पुलिस प्रमुख
भाषा
Updated: September 7, 2018, 11:17 PM IST
जम्मू कश्मीर पुलिस के नये महानिदेशक दिलबाग सिंह ने शुक्रवार को कार्यभार संभाल लिया. उनके पूर्ववर्ती एस पी वैद का गुरूवार की रात तबादला कर दिया गया. वैद को परिवहन आयुक्त बनाया गया है.

सिंह 1987 बैच के आईपीएस अधिकारी हैं. राज्य के पुलिस प्रमुख की जिम्मेदारी संभालने के तत्काल बाद पीटीआई के साथ बातचीत में सिंह ने कहा कि अभी उनकी प्राथमिकता निर्दोष आम लोगों के हितों की रक्षा करते हुए आतंकवाद से सख्ती से निबटना है.

उन्होंने कहा कि वह आतंक-विरोधी अभियान के अग्रिम मोर्च पर रह रहे पुलिसकर्मियों के कल्याण के लिए भी काम करेंगे. आईपीएस अधिकारी सिंह ने सादे समारोह में नये पुलिस प्रमुख का पद संभाला.

संबंधित घटनाक्रम में, जम्मू कश्मीर सरकार ने संघ लोक सेवा आयोग (यूपीएससी) से विचार-विमर्श के बगैर ही राज्य में अंतरिम पुलिस महानिदेशक की नियुक्ति की वजह बताने के लिए शुक्रवार को उच्चतम न्यायालय में एक आवेदन दायर किया.

प्रधान न्यायाधीश दीपक मिश्रा और न्यायमूर्ति ए एम खानविलकर और न्यायमूर्ति डी वाईचंद्रचूड़ की पीठ ने राज्य सरकार के आवेदन पर विचार किया और मामले की सुनवाई के लिए 10 सितंबर की तारीख निर्धारित की.

राज्य के पुलिस प्रमुख की जिम्मेदारी संभालने के बाद सिंह ने कहा कि वह आतंक-विरोधी अभियान के अग्रिम मोर्च पर रह रहे पुलिसकर्मियों के कल्याण के लिए भी काम करेंगे.

ये भी पढ़ें: कश्मीर के नौजवान क्यों बन रहे हैं 'पॉली एब्यूजर्स' ?
Loading...
विभिन्न पदों पर राज्य पुलिस को अपनी सेवा दे चुके 55 वर्षीय सिंह ने मार्च में पुलिस महानिदेशक (कारा) का पदभार संभाला था. उन्हें गुरूवार की रात को अंतरिम पुलिस प्रमुख बनाया गया.

नए पुलिस प्रमुख ने कहा कि उनके सामने कठिन कार्यभार है लेकिन उन्हें यकीन है कि जम्मू-कश्मीर पुलिस इसे शानदार ढंग से पूरा करेगी.

उन्होंने कहा, ‘‘अभी मेरी प्राथमिकता निर्दोष आम लोगों के हितों की रक्षा करते हुए आतंकवाद से सख्ती से निबटना है. मैंने कार्यभार संभालने के बाद अपने वरिष्ठ अधिकारियों की एक बैठक पुलिस मुख्यालय में की. आज शाम जिला अधीक्षकों, रेंज डीआईजी और जोनल आईजी के साथ मुलाकात करूंगा जिसमें जमीनी हालात और अपनी प्राथमिकताओं पर ब्रीफिंग हासिल करूंगा.’’

उन्होंने नई जिम्मेदारियों को एक बड़ा सम्मान बताते हुए कहा कि सभी पुलिसकर्मियों, खास कर जवानों के कल्याण पर ध्यान दिया जाएगा.

आईपीएस अधिकारी वैद को कल रात पद से हटा दिया गया. प्रदेश की नौकरशाही द्वारा पुलिस के काम में दखल से बढ़े गतिरोध की पृष्ठभूमि में यह घटनाक्रम हुआ है.

वैद को परिवहन आयुक्त के पद पर भेज दिया गया. इस पद को 2006 के आईएएस अधिकारी सौगत विस्वास संभाल रहे थे. पद को अतिरिक्त सचिव से बढ़ाकर सचिव स्तर का कर दिया गया. इसका मुख्यालय जम्मू में होगा.

अपना पद छोड़ते हुए वैद ने संतोष जताया कि वह राज्य के लोगों की सेवा कर पाए.

वैद ने कहा, ‘‘मैं ईश्वर का शुक्रगुजार हूं जिसने मुझे अपने लोगों और अपने देश की सेवा का मौका दिया. मुझमें जताए गए भरोसे के लिए मैं पुलिस, सुरक्षा एजेंसियों और राज्य के लोगों का आभारी हूं. मैं नये डीजीपी को अपनी शुभकामनाएं देता है.’’

जम्मू कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने राज्य के पुलिस महानिदेशक को बदलने के समय की आलोचना करते हुए कहा कि एस पी वैद को हटाने की जल्दबाजी करने की कोई जरुरत नहीं थी और स्थायी व्यवस्था किए जाने के बाद ही ऐसा किया जाना चाहिए था.

ये भी पढ़ें: तलाशी के दौरान जवानों ने चलाई घर के अंदर गोली, वीडियो वायरल
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर