Home /News /nation /

JNU के वूमेन स्टडीज सेंटर ने वेबिनार वेबपेज में लिखा - 'भारतीय अधिकृत कश्मीर', मचा बवाल, रद्द हुआ कार्यक्रम

JNU के वूमेन स्टडीज सेंटर ने वेबिनार वेबपेज में लिखा - 'भारतीय अधिकृत कश्मीर', मचा बवाल, रद्द हुआ कार्यक्रम

वेबपेज पर जेएनयू प्रशासन ने भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. (फाइल फोटो)

वेबपेज पर जेएनयू प्रशासन ने भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की. (फाइल फोटो)

JNU, Jammu Kashmir: सेंटर फॉर वूमेन स्टडीज (Centre for Women Studies) द्वारा 'जेंडर रेजिस्टेंस एंड फ्रेश चैलेंजेज इन पोस्ट-2019 कश्मीर' शीर्षक वाले वेबिनार का आयोजन किया जाना था और इसी के लिए वेबपेज पर कश्मीर को लेकर विवादित बात लिखी थी. एबीवीपी इसे असंवैधानिक बताया और आयोजन रद्द होने के बाद आयोजकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी कई गई.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्ली:  जवाहर लाल नेहरू विश्वविद्यालय (JNU) में जम्मू कश्मीर (Jammu Kashmir) के मुद्दे पर एक कार्यक्रम को लेकर विवाद हो गया. विश्वविद्यालय के सेंटर फार वूमन स्टडीज ने एक वेबिनार आयोजित किया था और इस वेबिनार के आमंत्रण पत्र पर कुछ ऐसा लिखा कि छात्रों और शिक्षकों के बीच आपस में विरोध शुरू हो गया. यह विवाद इतना बढ़ गया कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने कार्यक्रम को ही रद्द करने के निर्देश दे दिए.

    जानकारी के अनुसार वेबिनार के लिए तैयार वेबपेज में जम्मू- कश्मीर केंद्र शासित प्रदेश को भारतीय अधिकृत कश्मीर के तौर पर उल्लेख किया गया था. जिस पर एबीवीपी ने कड़ी प्रतिक्रिया व्यक्त की. छात्रों और शिक्षकों का मुख्य विरोध कश्मीर को लेकर दिए गए संबोधन पर था. एक शिक्षक के मुताबिक इस वेबपेज पर जेएनयू प्रशासन ने भी तीखी प्रतिक्रिया व्यक्त की जिसके बाद शुक्ररात रात साढ़े आठ बजे वेबिनार को रद्द करने का फैसला लिया गया.

    बता दें कि सेंटर फॉर वूमेन स्टडीज द्वारा ‘जेंडर रेजिस्टेंस एंड फ्रेश चैलेंजेज इन पोस्ट-2019 कश्मीर’ शीर्षक वाले वेबिनार का आयोजन किया जाना था और इसी के लिए वेबपेज पर कश्मीर को लेकर विवादित बात लिखी थी. एबीवीपी इसे असंवैधानिक बताया और आयोजन रद्द होने के बाद आयोजकों के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी कई गई.

    यह भी पढ़ें- दिल्ली: सिनेमाघर फिर पूरी क्षमता के साथ खुलेंगे, शादी समारोह में शामिल हो सकेंगे 200 लोग

    जेएनयू के एबीवीपी ईकाई की तरफ से कहा गया है कि जेएनयू में कम्युनिस्टों की तरफ से भारत की संप्रुभता को कमजोर करने की एक बार फिर से कोशिश की गई है. इकाई की तरफ से कहा गया कि यह काफी दुर्भाग्यपूर्ण है कि वेबिनार वेबपेज में कश्मीर को भारतीय अधिकृत कश्मीर बताया गया है.

    Tags: Delhi news, Jammu kashmir, Jnu, PoK

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर