होम /न्यूज /राष्ट्र /जेएनयू में BBC की बैन डॉक्यूमेंट्री दिखाने पर बवाल, परिसर में पहुंची पुलिस, छात्रों ने वसंत कुंज थाने के बाहर किया प्रदर्शन

जेएनयू में BBC की बैन डॉक्यूमेंट्री दिखाने पर बवाल, परिसर में पहुंची पुलिस, छात्रों ने वसंत कुंज थाने के बाहर किया प्रदर्शन

जेएनयू छात्रों ने थाने के बाहर किया प्रदर्शन

जेएनयू छात्रों ने थाने के बाहर किया प्रदर्शन

जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष ने वसंत कुंज थाने के बाहर मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हमने शिकायत दर्ज कराई है और पुलिस ...अधिक पढ़ें

नई दिल्ली. जवाहराल नेहरू यूनिवर्सिटी (JNU) में एक बार फिर बवाल शुरू हो गया है. इस बार गुजरात दंगों पर बनी बीबीसी की बैन डॉक्यूमेंट्री (BBC Documentary) के चलते कैंपस में तनाव पैदा हो गया है. कथित तौर पर डॉक्यूमेंट्री देख रहे छात्रों पर पथराव किया गया. इंटरनेट बंद करने के साथ ही बिजली भी काट दी गई. हालांकि बाद में कैंपस में बिजली बहाल कर दी गई. पीएम मोदी पर प्रतिबंधित बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग के दौरान पथराव किए जाने का दावा करने के बाद जेएनयू छात्रों ने वसंत कुंज में एक पुलिस स्टेशन के बाहर विरोध प्रदर्शन किया.

जेएनयू छात्रसंघ की अध्यक्ष ने वसंत कुंज थाने के बाहर मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि हमने शिकायत दर्ज कराई है और पुलिस ने हमें आश्वासन दिया कि वे तुरंत घटना की जांच करेंगे. हमने इसमें शामिल सभी व्यक्तियों के नाम और विवरण दिए हैं. फिलहाल, हम विरोध प्रदर्शन वापस ले रहे हैं. हम जेएनयू प्रॉक्टर कार्यालय में भी शिकायत दर्ज कराएंगे. वहीं जेएनयू में एबीवीपी संगठन के छात्र गौरव कुमार ने कहा कि क्या आरोप लगाने वाले इन लोगों के पास कोई सबूत है कि हमने पथराव किया? उन्होंने कहा कि हमने पथराव नहीं किया.

दरअसल, ये बवाल इसलिए हो रहा है कि क्योंकि कुछ दिन पूर्व ही जेएनयू ने बीबीसी की डॉक्यूमेंट्री (JNU BBC Documentary Screening) ना दिखाने का फैसला किया था. लेकिन जेएनयू छात्र संघ (JNUSU) ने ऐलान कर दिया कि वो अपनी तरफ से छात्रों के लिए डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग करेगा. वहीं आज रात को कैंपस में छात्रों का विरोध प्रदर्शन तेज हो गया. बिजली काटने के चलते सभी छात्रों ने बाहर ही विरोध प्रदर्शन किया. वामपंथी संगठनों से जुड़े छात्र जेएनयू कैंपस से वसंत कुंज पुलिस स्टेशन तक विरोध मार्च निकाले रहे हैं.

JNU BBC DOCUMENTARY SCREENING 1

जेएनयू के छात्रों ने विरोध मार्च निकाला.

छात्र गुटों की तरफ से पथराव के आरोप भी लगाए गए हैं. लेकिन पुलिस की तरफ से पथराव की पुष्टि नहीं की गई. छात्रों द्वारा पीएम मोदी पर प्रतिबंधित बीबीसी डॉक्यूमेंट्री की स्क्रीनिंग के दौरान पथराव किए जाने का दावा करने के बाद जेएनयू कैंपस के बाहर पुलिस कर्मी पहुंचे. छात्रों ने आरोप लगाया कि विश्वविद्यालय प्रशासन ने छात्रसंघ के कार्यालय का बिजली और इंटरनेट कनेक्शन काट दिया. हालांकि, उन्होंने अपने मोबाइल फोन और अन्य उपकरणों पर डॉक्यूमेंट्री देखा.

जेएनयू प्रशासन के एक अधिकारी ने नाम गोपनीय रखने की शर्त पर ‘पीटीआई-भाषा’ से कहा, ‘विश्वविद्यालय में बिजली आपूर्ति लाइन में गंभीर खराबी आ गई है. हम इसकी जांच कर रहे हैं. इंजीनियरिंग विभाग कह रहा है कि इसे जल्द से जल्द सुलझा लिया जाएगा.’ डॉक्यूमेंट्री देखने के लिए जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय छात्र संघ (जेएनयूएसयू) कार्यालय के बाहर इकट्ठा हुए छात्रों ने दावा किया कि जब वे इसे अपने फोन पर देख रहे थे तो उन पर पत्थर फेंके गए. हालांकि, एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने कहा कि पुलिस को ऐसी किसी घटना की सूचना नहीं दी गई. (इनपुट भाषा से)

Tags: Jnu, PM Modi

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें