इटावा: हादसे का शिकार होते बची जोधपुर हावड़ा एक्सप्रेस, चालक ने इस तरह टाला हादसा

जोधपुर हावड़ा एक्सप्रेस के इंजन से टकराए गोवंश, बड़ा हादसा टला

जोधपुर हावड़ा एक्सप्रेस के इंजन से टकराए गोवंश, बड़ा हादसा टला

दिल्ली-हावड़ा रेलमार्ग पर जोधपुर हावड़ा एक्सप्रेस दो गोवंश से टकरा गई. यह घटना भरथना रेलवे स्टेशन के समीप डाउन ट्रैक पर हुई. गोवंश से टकराते ही ट्रेन के चालक ने सूझबूझ का परिचय देकर ट्रेन की रफ्तार पर कंट्रोल करते हुए ट्रेन को रोक लिया.

  • Share this:
इटावा. उत्तर प्रदेश ( Uttar Pradesh) के इटावा ( Etawah) जिले में दिल्ली-हावड़ा रेलमार्ग पर जोधपुर हावड़ा एक्सप्रेस ( Jodhpur Howrah Express) दो गोवंश से टकरा गई. यह घटना भरथना रेलवे स्टेशन के समीप डाउन ट्रैक पर हुई. गोवंश से टकराते ही ट्रेन के चालक ने सूझबूझ का परिचय देकर ट्रेन की रफ्तार पर कंट्रोल करते हुए ट्रेन को रोक लिया. यदि ट्रेन की रफ्तार पर पाने में देरी होती तो बड़ा हादसा हो सकता था. इस हादसे के बाद ट्रेन को करीब 10 मिनट रोका गया. इसके साथ ही एक मालगाड़ी और कालका एक्सप्रेस को भी ट्रेक पर रोकना पड़ा.

जानकारी के मुताबिक रविवार सुबह जोधपुर-हावड़ा एक्सप्रेस जोधपुर से हावड़ा जा रही थी. भरथना के समीप पहुंची फ्लाई ओवर के पास पोल संख्या 1137 के समीप ट्रैक के किनारे घूम रहे दो गोवंश डाउन लाइन पर आ गए. वह सीधे ट्रेन के इंजन से टकरा गए. तेज गति से आ रही ट्रेन को लोको पायलट ने इमरजेंसी ब्रेक लगाकर तुरंत रोका. इसके पीछे आ रही मालगाड़ी और डाउन लाइन पर कालका एक्सप्रेस को भी कंट्रोल ने रोक दिया. स्टेशन मास्टर मनोज कुमार सहित कर्मचारी मौके पर पहुंच गए. उन्होंने गोवंश के क्षत-विक्षत शव को रेलवे ट्रेक से हटवाया. इसके बाद ट्रेन को हावड़ा के लिए रवाना किया गया.

Youtube Video


यह कोई पहला मामला नही है जब कोई गौवंश यात्री रेलगाड़ी से टकराया हो. इससे पहले भी कई बार ऐसा देखा गया है कि रेल लाइन के किनारे से गुजरने वाले जानवर यात्री या मालगाडियो के इंजन की चपेट मे आ जाते हैं. इस कारण न केवल रेल संचालन प्रभावित होता है, बल्कि रेल इंजन खराब भी हो जाते हैं . जिनको बदलने के बाद रेलगाडी को चला पाना संभव होता है. इस प्रकिया मे कई घंटे लगते हैं. इस तरह के वाक्ये अकसर देखे जाते हैं. रेलवे ट्रेक पर ऐसी घटनाओं को रोका नहीं जा सका है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज