अकाली दल और जीजेएम के बाद केरल में BJP को झटका, ये दल आज NDA छोड़ने का करेगा ऐलान

केरल कांग्रेस (पीसी थॉमस गुट) ने शनिवार को ऐलान किया कि वह रविवार को एनडीए छोड़ने की आधिकारिक घोषणा करेंगे. (file photo)
केरल कांग्रेस (पीसी थॉमस गुट) ने शनिवार को ऐलान किया कि वह रविवार को एनडीए छोड़ने की आधिकारिक घोषणा करेंगे. (file photo)

PC Thomas Kerala Congress to quit NDA: पीसी थॉमस ने कहा, 'कोई भी सीट, जो एनडीए द्वारा वादा की गई थी, हमें नहीं दी गई. हमारे पास NDA छोड़ने के अलावा कोई चारा नहीं है. हम रविवार को आधिकारिक घोषणा करेंगे. कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला ने यूडीएफ में हमारा स्वागत किया है. हम कल अपने फैसले की घोषणा करेंगे.'

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 25, 2020, 12:32 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पंजाब (Punjab) के शिरोमणि अकाली दल और पश्चिम बंगाल (West Bengal) के गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) के बाद अब भारतीय जनता पार्टी (BJP) को केरल (Kerala) से झटका लगा है. दरअसल, केरल कांग्रेस (पीसी थॉमस गुट) ने शनिवार को ऐलान किया कि वह रविवार को एनडीए छोड़ने की आधिकारिक घोषणा करेंगे. पीसी थॉमस ने कहा, 'कोई भी सीट, जो एनडीए द्वारा वादा की गई थी, हमें नहीं दी गई. हमारे पास NDA छोड़ने के अलावा कोई चारा नहीं है. हम रविवार को आधिकारिक घोषणा करेंगे. कांग्रेस नेता रमेश चेन्निथला ने यूडीएफ में हमारा स्वागत किया है. हम कल अपने फैसले की घोषणा करेंगे.'

इससे पहले बुधवार को पश्चिम बंगाल के दार्जिलिंग से अलग राज्‍य के लिए आंदोलन के बाद 2017 से फरार चल रहे गोरखा जनमुक्ति मोर्चा (जीजेएम) सुप्रीमो बिमल गुरूंग ने कहा कि उनका संगठन एनडीए से बाहर हो रहा है. उन्‍होंने कहा क‍ि केंद्र सरकार पहाड़ी क्षेत्र के लिए स्थायी राजनीतिक समाधान तलाशने में नाकाम रही है.

अकाली दल ने तोड़ी बीजेपी से 22 साल पुरानी दोस्ती
इससे पहले 26 सितंबर की देर शाम शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख सुखबीर सिंह बादल ने कृषि विधेयकों के विरोध में भाजपा नीत राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (NDA) से अलग होने की घोषणा की थी. यहां पार्टी की कोर समिति की बैठक के बाद उन्होंने यह घोषणा की. सुखबीर सिंह बादल ने कहा था, 'शिरोमणि अकाली दल की निर्णय लेने वाली सर्वोच्च इकाई कोर समिति की आज रात हुई आपात बैठक में भाजपा नीत राजग से अगल होने का फैसला सर्वसम्मति से लिया गया.' इससे पहले राजग के दो अन्य प्रमुख सहयोगी दल शिवसेना और तेलगु देशम पार्टी भी अन्य मुद्दों पर गठबंधन से अलग हो चुके हैं.
ये भी पढ़ें: बिहार चुनाव 2020: बीजेपी ने अपने दो वर्तमान विधायकों समेत 7 नेताओं को पार्टी से निकाला



ये भी पढ़ें: बिहार चुनाव से पहले कोरोना की चपेट में NDA नेता, फडणवीस और सुशील मोदी समेत अब तक 7 पॉजिटिव

अकाली दल ने कहा था, 'हमने एमएसपी (MSP) पर किसानों की फसलों के सुनिश्चित विपणन की रक्षा के लिए वैधानिक विधायी गारंटी देने से मना करने पर बीजेपी (BJP) के नेतृत्व वाले एनडीए गठबंधन से अलग होने का फैसला किया. इसके साथ ही सिख और पंजाबी मुद्दों पर भी सरकार असंवेदनशील थी.' अकाली दल और बीजेपी की दोस्‍ती 22 साल पुरानी थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज