तमिलिसई सौंदराजन: कांग्रेसी था परिवार, ऐसा रहा तेलंगाना की राज्यपाल बनने तक का सफर

तमिलिसई सौंदराजन (Tamilisai Soundararajan) की एक खास बात यह भी है कि वह तमिलनाडु कांग्रेस (Tamil Nadu Congress) की पूर्व अध्यक्ष कुमारी अनंतन की बेटी हैं. उनके परिवार में सभी कांग्रेस के सदस्य थे.

News18Hindi
Updated: September 1, 2019, 5:00 PM IST
तमिलिसई सौंदराजन: कांग्रेसी था परिवार, ऐसा रहा तेलंगाना की राज्यपाल बनने तक का सफर
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने तमिलिसई सौंदराजन को तेलंगाना का नया राज्यपाल नियुक्त किया है. (फाइल फोटो)
News18Hindi
Updated: September 1, 2019, 5:00 PM IST
राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ram Nath Kovind) ने तमिलिसई सौंदराजन (Tamilisai Soundararajan) को तेलंगाना (Telangana) का नया राज्यपाल नियुक्त किया है. वह राज्य की पहली महिला गवर्नर होंगी. फिलहाल वह तमिलनाडु बीजेपी (Tamil Nadu BJP) की अध्यक्ष है और उनका कार्यकाल दिसंबर में पूरा होना था. सौंदराजन का बीजेपी अध्यक्ष से राज्यपाल तक का सफर काफी दिलचस्प रहा है.

तमिलिसई सौंदराजन 2014 में तमिलनाडु बीजेपी की अध्यक्ष चुनी गई थीं. राजनीति में आने से पहले वह फिजिशियन थी. साल 1999 में उन्होंने राजनीति में कदम रखा और शुरुआत साउथ चन्नै जिला मेडिकल विंग के सचिव के रूप में की. इसके बाद बह पार्टी में कई अलग-अलग पदों पर रहते हुए प्रदेश अध्यक्ष के पद तक पहुंची.

कांग्रेस में था परिवार
तमिलिसई सौंदराजन की एक खास बात यह भी है कि वह तमिलनाडु कांग्रेस (Tamil Nadu Congress) की पूर्व अध्यक्ष कुमारी अनंतन की बेटी हैं. उनके परिवार में सभी कांग्रेस के सदस्य थे. सौंदराजन भले ही आरएसएस (RSS) बैकग्राउंड से न हों, लेकिन इसके बावजूद वह 2014 लोकसभा चुनाव (2014 Lok Sabha Election) के प्रचार के दौरान बीजेपी की स्टार कैंपेनर रहीं. हालांकि पिछले दो लोकसभा और विधानसभा चुनाव उनके लिए असफल रहे, जिनमें उन्हें शिकस्त मिली.

पिता आज प्रसन्न होंगे
तेलंगाना की राज्यपाल नियुक्त होने पर खुशी व्यक्त करते हुए तमिलिसई सौंदराजन ने कहा कि उनके पिता एवं कांग्रेस के वरिष्ठ नेता उनके बीजेपी में जाने के निर्णय पर प्रसन्न होंगे. उन्होंने कहा, "कांग्रेस नेता की बेटी के रूप में पली बढ़ी होने के बावजूद मैंने बीजेपी को चुना. मेरे जीवन की सबसे बड़ी चुनौती बीजेपी में शामिल होने के अपने निर्णय पर अडिग रहने और बिना किसी बाधा के अपना एक मुकाम बनाना था."

ईएसएल नरसिंह की जगह लेंगी
Loading...

तमिलिसई सौंदराजन, ईएसएल नरसिंहन की जगह राज्यपाल का कामकाज संभालेंगी. नरसिंहन तकरीबन एक दशक तक संयुक्त आंध्र प्रदेश के गवर्नर और दो साल तक छत्तीसगढ़ के राज्यपाल रह चुके हैं. उनके नाम आंध्र प्रदेश के लंबे समय तक राज्यपाल रहने का रिकॉर्ड दर्ज है. नैशनल डिफेंस कॉलेज के पूर्व छात्र नरसिंहन 1968 बैंच के आईपीएस अधिकारी रह चुके हैं. अलग-अलग स्थानों पर पोस्टिंग के बाद 1972 में वह खुफिया एजेंसी में शामिल हो गए और रिटायर होने तक वहीं बने रहे.

(भाषा इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें: शाह बानो केस में राजीव गांधी के खिलाफ खोला था मोर्चा, अब मोदी राज में केरल के राज्यपाल बने आरिफ मोहम्मद खान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 1, 2019, 4:50 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...