लाइव टीवी

BJP अध्यक्ष बने जेपी नड्डा, PM मोदी बोले- सरकार और पार्टी के बीच की लकीर खत्म नहीं होने देंगे

News18Hindi
Updated: January 20, 2020, 6:24 PM IST
BJP अध्यक्ष बने जेपी नड्डा, PM मोदी बोले- सरकार और पार्टी के बीच की लकीर खत्म नहीं होने देंगे
पीएम मोदी ने कहा कि भाजपा ने देश की जनता और कार्यकर्ताओं के अनुरूप अपने आपको ढाला है.

जेपी नड्डा (JP Nadda) के निर्विरोध बीजेपी (BJP President Election) का राष्ट्रीय अध्यक्ष चुने जाने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ने कहा हमारी पार्टी का विश्वास, संघर्ष और संगठन है इसी को लेकर हम आगे बढ़ते रहे हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 20, 2020, 6:24 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारतीय जनता पार्टी (BJP) के राष्ट्रीय कार्यकारी अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा (JP Nadda) सोमवार को निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुन लिए गए हैं. पार्टी के राष्ट्रीय चुनाव अधिकारी राधा मोहन सिंह ने जेपी नड्डा को साल 2020-22 के लिए निर्विरोध बीजेपी का राष्ट्रीय अध्यक्ष घोषित किया. नड्डा के खिलाफ किसी ने नामांकन दाखिल नहीं किया था, लिहाजा उनका निर्विरोध राष्ट्रीय अध्यक्ष चुना जाना पहले से तय माना जा रहा था. नड्डा पार्टी में अमित शाह की जगह लेंगे. नए अध्यक्ष का चुनाव होने के बाद प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) ट्वीट कर लिखा कि-



मुझे नहीं लगता कि अमित शाह जी ने बतौर भाजपा अध्यक्ष जो कार्य किया उसे शब्दों में बयान किया जा सकता है. उनकी अध्यक्षता में बीजेपी को देश के कई हिस्सों में सेवा करने का अवसर मिला. लोकसभा चुनाव में हमें अब तक सबसे ज्यादा मतदान मिला. वह एक उत्कृष्ट कार्यकर्ता हैं.

पीएम मोदी ने इस मौके पर भाजपा मुख्यालय पहुंचकर कार्यकर्ताओं को संबोधित किया. पीएम ने कहा कि भाजपा ने देश की जनता और कार्यकर्ताओं के अनुरूप अपने आपको ढाला है. पार्टी ने अपने विस्तार के साथ-साथ कार्यकर्ताओं के विस्तार का भी ख्याल रखा, यही कारण है कि भाजपा को नई पीढ़ी का सहयोग मिलता जा रहा है. पीएम मोदी ने कार्यकर्ताओं से कहा कि ये मेरी खुशकिस्मती है कि आपके अंडर मुझे कभी राज्य में तो कभी राष्ट्रीय स्तर पर काम करने का मौका मिला.पार्टी का विश्वास संघर्ष और संगठन
पीएम ने कहा प्रारंभ से ही पार्टी का स्वभाव रहा कि हॉरिजेंटली पार्टी का जितना विस्तार हो, वो करेगी और कार्यकर्ता का वर्टिकल विस्तार होता रहे, उसी परंपरा के कारण भाजपा को नई-नई पीढ़ी मिल रही है. जो पार्टी को आगे बढ़ाने में सफल होती है.

पीएम ने कहा कि हमारे निवर्तमान अध्यक्ष अमित शाह और 2014 में भाजपा अध्यक्ष राजनाथ सिंह थे. आमतौर पर हमारी पार्टी का विश्वास, संघर्ष और संगठन है इसी को लेकर हम आगे बढ़ते रहे हैं. राजनीतिक दल के लिए सत्ता में रहते हुए दल को चलाना एक बड़ी चुनौती होती है क्योंकि राजनीतिक दल सरकार का हिस्सा दिखने लगता है. पीएम मोदी ने कहा कि हम सरकार और दल के बीच की लकीर खत्म नहीं होने देंगे.

बीजेपी में बिना किसी मुकाबले के होता है चुनाव
बीजेपी में हमेशा से ही अध्यक्ष पद का चुनाव आम सहमति और बिना किसी मुकाबले के हुआ है. ऐसे में बहुत कम संभावना थी कि इस बार भी पार्टी की परंपरा में कुछ बदलाव देखने को मिलेगा. नए अध्यक्ष के चुनाव के साथ ही पार्टी के वर्तमान अध्यक्ष अमित शाह का साढ़े पांच साल से अधिक का कार्यकाल भी समाप्त हो गया. बता दें कि अमित शाह के अध्यक्ष के तौर पर रहा कार्यकाल बीजेपी के लिए चुनावों के लिहाज से सर्वश्रेष्ठ रहा.

जुलाई में कार्यकारी अध्यक्ष बनाए गए थे नड्डा
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में अमित शाह के गृहमंत्री बनने के बाद भाजपा ने उनका उत्तराधिकारी चुनने की कवायद शुरू कर दी थी, क्योंकि पार्टी में 'एक व्यक्ति एक पद' की परंपरा रही है. नड्डा को गत वर्ष जुलाई में कार्यकारी अध्यक्ष नियुक्त किया गया था. यह इस बात का संकेत था कि हिमाचल प्रदेश से भाजपा के नेता संगठन के शीर्ष पद के लिए संभावित पसंद हैं.

BJP राष्ट्रीय अध्यक्ष, अमित शाह, जेपी नड्डा, भारतीय जनता पार्टी, BJP, amit shah, jp nadda, bjp president

लोकसभा चुनाव में मिली थी यूपी की कमान
नड्डा 2019 के लोकसभा चुनाव में राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण राज्य उत्तर प्रदेश में भाजपा के चुनाव अभियान के प्रभारी थे. भाजपा ने उत्तर प्रदेश में 80 लोकसभा सीटों में से 62 पर जीत दर्ज की. आम चुनावों में भाजपा के लिए महत्वपूर्ण राज्य संभालने के अलावा नड्डा मोदी सरकार के पहले कार्यकाल में कैबिनेट मंत्री थे. वह संसदीय बोर्ड के सदस्य रहे हैं जो कि पार्टी का निर्णय लेने वाला शीर्ष निकाय है.

इसे भी पढ़ें :- जेपी नड्डा: जेपी आंदोलन से लेकर भाजपा के शीर्ष पद तक!

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के विश्वसनीय हैं नड्डा
हिमाचल प्रदेश के एक ब्राह्मण परिवार से आने वाले जेपी नड्डा पार्टी के बड़े नेताओं में गिने जाते हैं. नड्डा भाजपा की पितृ संस्था राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का विश्वसनीय चेहरा माने जाते हैं. नरेंद्र मोदी सरकार के कार्यकाल में स्वास्थ्य मंत्री रहे 58 साल के नड्डा को अपनी लो-प्रोफाइल को बनाए रखने की वजह से कार्यकारी अध्यक्ष के तौर पर चुना गया था.

ये भी पढ़ें-
अध्यक्ष बनने के बाद नड्डा बोले- हम रुकने वाले नहीं, पूरे देश में खिलाएंगे कमल

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 20, 2020, 5:20 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर