अपना शहर चुनें

States

कमल खिलेगा, कार्यकर्ताओं की शहादत व्‍यर्थ नहीं जाने देंगे : नड्डा

जेपी नड्डा
जेपी नड्डा

पश्चिम बंगाल, असम, तमिलनाडु, जम्मू एवं कश्मीर और केरल में कमल खिलेगा. पश्‍चिम बंगाल और केरल भी हिंसा का दौर खत्म होगा और एक दिन ऐसा भी आएगा जब वहां पार्टी की सरकार बनेगी. नड्डा ने ये बातें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में अपने पहले साल का कार्यकाल पूरा होने पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए लिखे गए एक पत्र में कही.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 21, 2021, 5:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भाजपा अध्यक्ष जे पी नड्डा ने बुधवार को कहा कि पश्चिम बंगाल के आगामी विधानसभा चुनाव में वहां की जनता लोकतांत्रिक तरीके से मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के नेतृत्व वाली तृणमूल कांग्रेस की सरकार को करारा जवाब देगी. कार्यकर्ताओं की शहादत व्‍यर्थ नहीं जाने देंगे और वहां कमल खिलेगा जबकि जम्मू एवं कश्मीर और केरल में भी हिंसा का दौर खत्म होगा और एक दिन ऐसा भी आएगा जब वहां पार्टी की सरकार बनेगी.

नड्डा ने ये बातें पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष के रूप में अपने पहले साल का कार्यकाल पूरा होने पर पार्टी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए लिखे गए एक पत्र में कही. उन्होंने कहा, ‘‘विगत कुछ वर्षों में पार्टी के 300 से अधिक कार्यकर्ताओं एवं समर्थकों की पश्चिम बंगाल में निर्मम हत्या हुई है. मैं उन सभी कार्यकर्ताओं को अपने विनम्र श्रद्धांजलि देते हुए यह प्रण लेता हूं कि उनकी शहादत कभी व्यर्थ नहीं जाने देंगे.’’ नड्डा ने पिछले साल उनके काफिले पर हुए हमले का उल्लेख करते हुए कहा कि लगातार सुरक्षा घेरे में रहने वाले उनके जैसे देश के सबसे बड़ी राजनीतिक पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पर भी जब पश्चिम बंगाल में दिन के उजाले में जानलेवा हमला हो सकता है तो ऐसी परिस्थिति में पार्टी के आम कार्यकर्ता किस मुश्किल में कार्य करते होंगे, यह आसानी से समझा जा सकता है.

उन्होंने कहा कि पश्चिम बंगाल की ‘‘तानाशाह सरकार’’ को लगता है की भाजपा के ‘‘निरपराध’’ कार्यकर्ताओं की हत्या कर वह पार्टी के आचार, विचार, संस्कार और विस्तार को दबाया जा सकता है. उन्होंने कहा, ‘‘यह उसकी भूल है. मुझे विश्वास है कि इस बार के विधानसभा चुनाव में पश्चिम बंगाल की जनता लोकतांत्रिक तरीके से राज्य की नई सरकार को करारा जवाब देगी और पश्चिम बंगाल में कमल खिलेगा.’’




भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि जम्मू कश्मीर में अलगाववाद एवं आतंकवाद का डटकर मुकाबला करते हुए लोकतंत्र की जड़ों को मजबूत करते हुए पार्टी के कार्यकर्ताओं ने अपने प्राणों की आहुति दी लेकिन इसके बावजूद वहां हाल ही में हुए स्थानीय चुनावों में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बनकर उभरी. उन्होंने कहा कि केरल में भी राज्य सरकार के ‘‘संरक्षण’’ में वामपंथी हिंसा का सामना करते हुए भाजपा के कई कार्यकर्ताओं ने ‘‘सर्वोच्च बलिदान’’ दिया.

नड्डा ने कहा, ‘‘भाजपा हिंसा की राजनीति में विश्वास नहीं करती है. लोकतंत्र में हिंसा का स्थान कतई नहीं होना चाहिए. हम लोकतांत्रिक तरीके से जवाब देते रहेंगे. एक दिन ऐसा आएगा जब वहां भी कमल खिलेगा.’’ भाजपा अध्यक्ष ने कहा कि पश्चिम बंगाल, तमिलनाडु, असम और केरल में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं. उन्होंने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान किया कि इन राज्यों में भी पार्टी की ‘‘विजय यात्रा’’ को जारी रखना है.

उन्होंने कहा कि भाजपा आज अपने उत्कर्ष पर है पर लेकिन यहां रुकना नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘जब तक हर पंचायत और हर वार्ड में भाजपा का प्रतिनिधि नहीं चुना जाता और हर घर में भाजपा का कार्यकर्ता ना हो, तब तक हमें अपनी विचारधारा का ध्वज लेकर चलते रहना है.’’ नड्डा ने कोरोना संक्रमण काल में भाजपा कार्यकर्ताओं द्वारा किए गए कार्य की सराहना करते हुए कहा कि एक राजनीतिक दल के रूप में चुनाव में विजय प्राप्त करने के अलावा किस तरह सेवा का सेतु बना जा सकता है, इसका पार्टी कार्यकर्ताओं ने ‘‘अप्रतिम एवं अनुकरणीय’’ उदाहरण प्रतिस्थापित किया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज