• Home
  • »
  • News
  • »
  • nation
  • »
  • निर्भया केस में फांसी की जल्दी पर वकील ने उठाए सवाल, केंद्र ने कहा- 'न्याय को विफल कर रहे दोषी'

निर्भया केस में फांसी की जल्दी पर वकील ने उठाए सवाल, केंद्र ने कहा- 'न्याय को विफल कर रहे दोषी'

निर्भया गैंगरेप और मर्डर के दोषी अपनी फांसी की सजा माफ कराने के लिए नए-नए पैंतरे अपना रहे हैं.

निर्भया गैंगरेप और मर्डर के दोषी अपनी फांसी की सजा माफ कराने के लिए नए-नए पैंतरे अपना रहे हैं.

केंद्र सरकार के वकील (Solicitor General) तुषार मेहता (Tushar Mehta) ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) से कहा, "यहां पर 'न्याय के आदेश को विफल' (frustrate mandate of law) करने के लिए एक लगातार और सोचे-समझे तरीके को देखा जा सकता है."

  • Share this:
    नई दिल्ली. केंद्र सरकार के वकील (Solicitor General) तुषार मेहता ने रविवार को दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) में कहा कि निर्भया गैंगरेप और मर्डर (Nirbhaya Gang Rape and Murder) मामले के दोषियों द्वारा लगातार और सोचा-समझा तरीका अपनाया जा रहा है ताकि उनकी फांसी में देरी के जरिए वे 'न्याय के आदेश को विफल' (frustrate mandate of law) कर सकें.

    तुषार मेहता (Suresh Mehta) ने जस्टिस सुरेश कैत ने बताया कि दोषी पवन गुप्ता (Convict Pawan Gupta) का क्यूरेटिव याचिका या दया याचिका (curative or mercy petition) न दाखिल करना एक लगातार और सोचा-समझा कदम है. मेहता ने हाईकोर्ट से कहा, "यहां पर न्याय के आदेश को विफल करने के लिए एक लगातार और सोचे-समझे तरीके को देखा जा सकता है."

    दोषियों के वकील ने कहा- 'जल्दी न्याय के चक्कर में न्याय दबकर रह जाता है'
    निर्भया गैंगरेप और मर्डर केस के मामले में दोषियों पवन, अक्षय और विनय की ओर से पक्ष रखते हुए वकील AP सिंह ने दिल्ली हाईकोर्ट (Delhi High Court) की जल्दीबाजी पर सवाल खड़े किए. उन्होंने कहा, मात्र इस मामले में इतनी जल्दी क्यों दिखाई जा रही है? जल्दी न्याय करने के चक्कर में न्याय दबकर रह जाता है.

    वकील AP सिंह ने आगे कहा कि ये दोषी गरीब, ग्रामीण और दलित परिवारों (Poor, Rural and Dalit Families) से आते हैं. "इन्हें कानून में अस्पष्टता का खामियाजा भुगतने के लिए नहीं छोड़ा जा सकता है."

    मामले में अब भी जारी है सुनवाई
    दिल्ली हाईकोर्ट, केंद्र सरकार (Central Government) की याचिका पर सुनवाई कर रहा है. केंद्र सरकार ने अपनी याचिका में निर्भया गैंगरेप और मर्डर के मामले में फांसी की सजा पा चुके चारों दोषियों की फांसी की सजा पर रोक लगाए जाने के खिलाफ याचिका डाली है. इस मामले में सुनवाई अभी चल रही है.

    यह भी पढ़ें: निर्भया गैंगरेप: फांसी पर रोक के फैसले को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई आज

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज