Kaal Bhairav Jayanti 2020: भगवान काल भैरव के बारे में ये ख़ास बातें जानें, पूजा में ना करें ये काम

काल भैरव से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें जानें (photo credit: instagram/rameshagarwala)

काल भैरव से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें जानें (photo credit: instagram/rameshagarwala)

Kaal Bhairav Jayanti 2020: भगवान काल भैरव से जुड़ी कुछ ख़ास बातें और काल भैरव जयंती के दिन किन कामों को नहीं करना चाहिए, जानें...

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 7, 2020, 8:57 AM IST
  • Share this:

Kaal Bhairav Jayanti 2020: काल भैरव जयंती साल 2020 में दिसंबर 7 तारीख को मनाई जाएगी. भगवान काल भैरव को भगवान शिव का ही अंश माना जाता है. काल भैरव जयंती को कालाष्टमी भी कहते हैं. कालाष्टमी के दिन भगवान भैरव की पूजा अर्चना करने से मंगल, शनि या राहु-केतु के बुरे प्रभावों से मुक्ति मिलती है. व्यक्ति भयमुक्त होता है और उसके जीवन की कई परेशानियां दूर हो जाती है. काल भैरव को शिव जी के क्रोध से पैदा हुआ माना जाता है. आइए जानते हैं भगवान काल भैरव से जुड़ी कुछ ख़ास बातें और काल भैरव जयंती के दिन किन कामों को नहीं करना चाहिए...

काल भैरव से जुड़ी कुछ महत्वपूर्ण बातें

-जो जातक मंगल, शनि या राहु-केतु के बुरे प्रभावों से परेशान हैं उन्हें कालभैरव की पूजा करनी चाहिए.

काल भैरव की अराधना करके व्यक्ति मृत्यु के भय पर विजय पा लेता है.
-इन्हें रात्रि का देवता माना जाता है इसलिए रात में ही इनकी पूजा आराधना की जानी चाहिए.

-मंगलवार औऱ शनिवार को इनकी अराधना करके नकारात्मक शक्तियां दूर हो जाती हैं.

-काल भैरव की उपासना चमेली के फूल से की जानी चाहिए, औऱ इनकी अराधना करने वाले को कुत्तों को कभी नहीं दुतकारना चाहिए.



काल भैरव जयंती के दिन न करें यह काम

-इस दिन भूलकर भी अन्न ग्रहण न करें.

-अपशब्दों का प्रयोग और झूठ बोलने से इस दिन बचें.

-इस दिन नमक न खाएं.

-इस दिन माता पार्वती और भगवान शिव की पूजा न करें.

-आसपास के वातावरण को साफ-सुथरा रखें.

-गुरुजनों और माता-पिता से गलत तरीके से बातचीत न करें. (Disclaimer: इस लेख में दी गई जानकारियां और सूचनाएं मान्यताओं पर आधारित हैं. Hindi news18 इनकी पुष्टि नहीं करता है. इन पर अमल करने से पहले संबंधित विशेषज्ञ से संपर्क करें.) (साभार-AstroSage.com)

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज