कोविड-19 के चलते खाली पड़ा रहा प्रसिद्ध कामाख्या मंदिर, अंबुबाची अनुष्ठान से दूर रहे भक्त

कोविड-19 के चलते खाली पड़ा रहा प्रसिद्ध कामाख्या मंदिर, अंबुबाची अनुष्ठान से दूर रहे भक्त
इस साल, यह तय किया गया था कि इस अनुष्ठान के चार दिनों में सिर्फ पुजारी ही यहां पूजा-पाठ करेंगे (फोटो- News18)

कामाख्या मंदिर (Kamakhya temple) हिंदू धर्म (Hindu Religion) के 51 महत्वपूर्ण शक्तिपीठों (Shakti Peeths) में से एक है और यहां के अंबुबाची मेले में हर साल आमतौर पर लाखों घरेलू और विदेशी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है.

  • Share this:
(तूलिका देवी)

गुवाहाटी. पहले के सालों से उलट, सोमवार सुबह अंबुबाची अनुष्ठान (Ambubachi Rituals) के दौरान कामाख्या मंदिर (Kamakhya temple) खाली रहा. अंबुबाची मेला- जो कि पूर्वी भारत का सबसे बड़ा धार्मिक आयोजन होता है और जिसका आयोजन नीलाचल पहाड़ियों (Nilachal Hills) की चोटी पर स्थित कामाख्या में होता है, उसे इस साल कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के चलते रद्द कर दिया गया था. यह तय किया गया था कि इस अनुष्ठान के चार दिनों में सिर्फ पुजारी ही यहां पूजा-पाठ करेंगे और देवी कामाख्या के सालाना माहवारी चक्र (menstruation cycle) के मौके पर होने वाले उत्सव के दौरान मंदिर को मुख्य दरवाजे बंद रहेंगे.

कामाख्या मंदिर (Kamakhya temple) हिंदू धर्म (Hindu Religion) के 51 महत्वपूर्ण शक्तिपीठों (Shakti Peeths) में से एक है और यहां के अंबुबाची मेले में हर साल आमतौर पर लाखों घरेलू और विदेशी श्रद्धालुओं की भीड़ उमड़ती है. जो कि मंदिर और राज्य के लिए आय का मुख्य स्त्रोत होता है. इन चार दिनों में औसतन 30 लाख लोग कामाख्या देवी मंदिर में दर्शन करने आते हैं.



26 जून को होने वाली आम पूजा के लिए खोले जाएंगे कामाख्या मंदिर के मुख्य द्वार
इस साल, कामाख्या देवी मंदिर में जब सोमवार सुबह 07:53 पर अंबुबाची अनुष्ठान शुरू हुआ तो मंदिर परिसर में सन्नाटा छाया हुआ था. यह समारोह 25 जून, दिन गुरुवार को शाम में 08:16 तक चलेगा.

मंदिर के पुजारी 'गर्भगृह' के बाहर रोज केवल फल देंगे और रोजाना के अनुष्ठान करेंगे. मंदिर का मुख्यद्वार केवल 26 तारीख की रोजाना होने वाली पूजा के लिए खोला जाएगा.

गुवाहाटी और राज्य के अन्य हिस्सों की जानकारी लेकर होगा मंदिर खोलने का निर्णय
केंद्र सरकार के अनलॉक 1.0 के आदेश के अंतर्गत देश के अन्य हिस्सों की तरह असम के कई मंदिर, सावधानी के साथ खोले जा रहे हैं, लेकिन कामाख्या देवी मंदिर नए कोरोना वायरस के प्रसार के डर के चलते बंद रहेगा.

यह भी पढ़ें:- ऑनर किलिंग के मामले में मद्रास हाईकोर्ट ने 5 की सजा पलटी, लड़की का पिता बरी

यह धार्मिक स्थल श्रद्धालुओं के लिए 30 जून तक बंद रहेगा और मंदिर प्रशासन गुवाहाटी और राज्य के अन्य हिस्सों में कोविड-19 से जुड़ी परिस्थितियों का अध्ययन करने के बाद तय करेगा कि मंदिर को कब खोला जाना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज