Assembly Banner 2021

हिंदी को लेकर कमल हासन की धमकी, कहा- जल्लीकट्टू से बड़ी होगी तमिल भाषा के लिए लड़ाई

हिंदी को लेकर कमल हासन ने जल्लीकट्टू से बड़ी लड़ाई की धमकी दी है (फाइल फोटो)

हिंदी को लेकर कमल हासन ने जल्लीकट्टू से बड़ी लड़ाई की धमकी दी है (फाइल फोटो)

एक्टर से नेता बने दक्षिण भारत (South India) के बड़े एक्टर कमल हासन (Kamal Hassan) ने ट्विटर (Twitter) पर हिंदी को लेकर एक वीडियो जारी किया है. इसमें उन्होंने कहा है, 'कोई शाह, सुल्तान या सम्राट अचानक वादा नहीं तोड़ सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 16, 2019, 4:34 PM IST
  • Share this:
चेन्नई. एक्टर से नेता बने दक्षिण भारत (South India) के बड़े एक्टर कमल हासन (Kamal Hassan) ने ट्विटर (Twitter) पर हिंदी को लेकर एक वीडियो जारी किया है. इसमें उन्होंने कहा है, 'कोई शाह, सुल्तान या सम्राट अचानक वादा नहीं तोड़ सकता है.' दरअसल हिंदी पर केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह (Home Minister Amit Shah) के बयान के बाद कमल हासन का यह वीडियो में दिया बयान सामने आया है. इसके बाद से फिर तमिलनाडु (Tamilnadu) सहित दक्षिण भारतीय राज्यों में फिर से हिंदी विरोध के स्वर उठ खड़े हुए हैं.

पहले से ही तमिलनाडु हिंदी विरोध में अग्रणी रहा है. अब वहीं से एक्टर कमल हासन का यह वीडियो सामने आया है. इस वीडियो में कमल हासन (Kamal Hassan) कह रहे हैं कि देश में एक भाषा को थोपा नहीं जा सकता है. अगर ऐसा होता है तो इसपर बड़ा आंदोलन होगा.

कमल हासन ने कहा कोई नहीं तोड़ सकता वादा
ट्विटर पर जारी किए इस वीडियो में कमल हासन ने कहा है, "कोई शाह, सुल्तान या सम्राट अचानक वादा नहीं तोड़ सकता है. 1950 में जब भारत गणतंत्र बना तो ये वादा किया गया था कि हर क्षेत्र की भाषा और कल्चर का सम्मान किया जाएगा और उन्हें सुरक्षित रखा जाएगा."
कमल हासन ने यह भी कहा है, "राजाओं ने अपना राजपाठ देश की एकता के लिए न्योछावर कर दिया. लेकिन लोग अपनी भाषा, संस्कृति और पहचान को खोना नहीं चाहते हैं." कमल हासन ने अपने वीडियो में यह भी कहा है कि भारत एक ऐसा देश है जहां लोग एक साथ बैठकर खाते हैं, किसी पर कुछ थोपा नहीं जा सकता है. उन्होंने वीडियों में कहा कि तमिल को लंबे समय तक जीने दो, देश को समृद्ध होने दो.


इतना ही नहीं कमल हासन ने केंद्र सरकार को सुझाव भी दिया है कि किसी भी नए कानून को लाने से पहले सरकार को आम लोगों से बात करनी चाहिए. जल्लीकट्टू के लिए जो हुआ, वह सिर्फ एक प्रदर्शन था लेकिन भाषा को बचाने के लिए जो होगा, वह इससे बड़ा होगा.इसलिए भड़के हैं कमल हासनबता दें कि केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह ने हिंदी दिवस (Hindi Divas) के मौके पर कहा था, "हिंदी हमारी राजभाषा है. हमारे यहां कई भाषाए में बोली जाती हैं. लेकिन एक भाषा ऐसी होनी चाहिए जो दुनिया में देश का नाम बुलंद करे और पहचान को आगे बढ़ाए और ये सभी खूबियां हिंदी में हैं."सुब्रह्मण्यम स्वामी ने दिया है कमल हासन के वीडियो का जवाबकमल हासन (Kamal Hassan) के इस वीडियो के सामने आने के बाद भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रह्मण्यम स्वामी ने एक ट्वीट के जरिए इसका जवाब दिया है. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है, "मूर्ख  कमल हासन, एमके स्टालिन हिंदी थोपने की बात कर रहे हैं. तमिलनाडु में हिंदी ना पढ़ाने को लेकर वो क्या कहेंगे? हिंदी को भी तमिलनाडु में ऑप्शनल भाषा बनने देना चाहिए."


बता दें कि अमित शाह (Amit Shah) के हिंदी (Hindi) को लेकर दिए बयान के बाद से हिंदी को लेकर इस नए विवाद की शुरुआत हुई थी. दक्षिण भारत के कई नेताओं ने इसका विरोध किया था. इस विरोध में असदुद्दीन ओवैसी समेत कई नेताओं ने इस बयान की निंदा की थी.

यह भी पढ़ें: मंत्रियों की तरह सभी सांसदों को मिलेगी ये सुविधा!
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज