कंगना मामला : जयंत पाटिल का फडणवीस से सवाल, हिंदी क्यों?

कंगना मामला : जयंत पाटिल का फडणवीस से सवाल, हिंदी क्यों?
बीएमसी की कार्रवाई पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए फडणवीस ने कहा कि यह एक तरह से राज्य में "सरकार द्वारा प्रायोजित आतंक" है. (File Photo)

Kangana Ranaut Property Demolish: शिवसेना शासित बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) ने बुधवार को अभिनेत्री कंगना रनौत के बांद्रा स्थित बंगले में कथित 'अवैध हिस्से' को गिरा दिया. बाद में बम्बई उच्च न्यायालय ने इस प्रक्रिया पर रोक लगाने का आदेश दिया लेकिन तब तक बीएमसी अभिनेत्री के बंगले के कथित अवैध हिस्सों में से ‘‘अधिकतर’’ को गिरा चुकी थी.

  • भाषा
  • Last Updated: September 10, 2020, 12:09 AM IST
  • Share this:
मुंबई. महाराष्ट्र राकांपा प्रमुख जयंत पाटिल (Maharashtra NCP Chief Jayant Patil) ने बुधवार को भाजपा नेता देवेंद्र फडणवीस (Devendra Fadnavis) पर हिंदी में बयान देने को लेकर निशाना साधा. इससे पहले फडणवीस ने मुंबई नगर निकाय द्वारा अभिनेत्री कंगना रनौत (Kangana Ranaut) के बंगले को आंशिक रूप से गिराने को लेकर राज्य सरकार पर हिंदी में निशाना साधा था. पाटिल ने ट्विटर पर फडणवीस को टैग करते हुए सवाल किया कि उन्होंने हिंदी में बात क्यों की जबकि यह मुद्दा महाराष्ट्र (Maharashtra) से जुड़ा था.

शिवसेना नीत महागठबंधन सरकार में जल संसाधन मंत्री पाटिल ने आश्चर्य जताया कि फडणवीस ने महाराष्ट्र विधानसभा में विपक्ष के नेता के रूप में या बिहार विधानसभा चुनाव (Bihar Assembly Elections) के लिए भाजपा के प्रभारी के रूप में अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की. फडणवीस ने अलग-अलग वीडियो में मराठी और हिंदी दोनों में प्रतिक्रिया व्यक्त की. उन्होंने ट्विटर पर हिंदी में अपना वीडियो संदेश पोस्ट किया.

ये भी पढ़ें- फेसबुक से भारतीय इंजीनियर ने दिया इस्तीफा, कहा- कंपनी नफरत फैलाने लगी है



बृहन्मुंबई महानगरपालिका (बीएमसी) की कार्रवाई पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए फडणवीस ने कहा कि यह एक तरह से राज्य में "सरकार द्वारा प्रायोजित आतंक" है.
ऐसे शुरू हुआ विवाद
गौरतलब है कि मुंबई पुलिस और महाराष्ट्र के बारे में कंगना के एक हालिया बयान से विवाद खड़ा हो गया है. उन्होंने दावा किया था कि वह मुंबई में असुक्षित महसूस करती हैं. इसके बाद शिवसेना के नेता संजय राउत ने उनसे मुंबई वापस नहीं आने को कहा था. राउत के इस बयान के बाद अभिनेत्री ने मुंबई की तुलना पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) से की थी.

बीएमसी की एक टीम बुधवार को बांद्रा के पाली हिल स्थित कंगना के बंगले पर बुलडोजर और अन्य भारी मशीनें लेकर पहुंची और स्थानीय निकाय की मंजूरी के बगैर किए गए कथित अवैध निर्माण को गिरा दिया. बंबई उच्च न्यायालय ने हालांकि बीएमसी की इस कार्रवाई पर स्थगनादेश देते हुए यह जानना चाहा कि जब मकान की मालकिन उपस्थित नहीं थी तो, स्थानीय निकाय की टीम अंदर कैसे गयी.

सत्तारूढ़ शिवसेना और कंगना के बीच समस्या उस वक्त शुरू हुई जब सुशांत सिंह राजपूत की मौत के बाद अभिनेत्री ने कहा कि उन्हें ‘‘फिल्म माफिया’’ से ज्यादा डर मुंबई पुलिस से लगने लगा है और उन्होंने मुंबई की तुलना पीओके से की.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज