...तो मैं हमेशा के लिए ट्विटर छोड़ दूंगी- जानिए कंगना रनौत ने ऐसा क्यों कहा?

कंगना रनौत ने ट्विटर छोड़ने की बात कही है.
कंगना रनौत ने ट्विटर छोड़ने की बात कही है.

किसानों से जुड़े विधेयकों पर कंगना रनौत (Kangana ranaut) ने 20 सितंबर को ट्वीट किया था. इसके बाद लोगों ने कंगना पर किसानों को आतंकी कहने के आरोप लगाए थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2020, 10:57 AM IST
  • Share this:
नई दिल्‍ली. पंजाब और हरियाणा के किसान (Farmers) केंद्र सरकार की ओर से लाए गए कृषि विधेयकों (Farmers bill) का विरोध कर रहे हैं. इसके तहत वह कई जगह धरना-प्रदर्शन भी कर रहे हैं. इस बीच मामले में राजनीति गरमा गई है. वहीं इस मामले में बॉलीवुड एक्‍ट्रेस कंगना रनौत (Kangana ranaut) भी कूद पड़ी हैं. हालांकि उनके एक ट्वीट को लोगों ने आड़े हाथों लेते हुए उन पर निशाना साधा. लोगों ने उन पर किसानों को आतंकी कहने का आरोप लगाया है. इसके बाद कंगना ने ट्विटर छोड़ने तक की बात कह डाली है.

दरअसल किसानों से जुड़े विधेयकों पर कंगना रनौत ने 20 सितंबर को ट्वीट किया था, 'प्रधानमंत्री जी कोई सो रहा हो उसे जगाया जा सकता है, जिसे गलतफहमी हो उसे समझाया जा सकता है मगर जो सोने की ऐक्टिंग करे, नासमझने की ऐक्टिंग करे उसे आपके समझाने से क्या फर्क पड़ेगा? ये वही आतंकी हैं. CAA से एक भी इंसान की सिटिजनशिप नहीं गई मगर इन्होंने खून की नदियां बहा दी.' इसके बाद उनके इस ट्वीट को किसान विरोधी बताया जाने लगा. उन पर आरोप लगे कि वह किसानों को आतंकी कह रही हैं.






इस मामले में अब फिर कंगना रनौत ने ट्वीट किया है. उन्‍होंने इसमें लिखा है, 'जैसे श्री कृष्ण की नारायणी सेना थी, वैसे ही पप्पू की भी अपनी एक चंपू सेना है जो कि सिर्फ अफ़वाहों के दम पे लड़ना जानती है, यह है मेरा ओरिजिनल ट्वीट है. अगर कोई यह सिद्ध कर दे कि मैंने किसानों को आतंकी कहा, तो मैं माफी मांगकर हमेशा के लिए ट्विटर छोड़ दूंगी.'

कंगना ने एक ट्वीट में लिखा है, 'जिन लोगों ने सीएए के खिलाफ गलत सूचनाएं और अफवाह फैलाईं, वहीं लोग अब किसान बिल को लेकर भी गलत सूचनाएं फैला रहे हैं. साथ ही यही लोग देश में आतंक फैला रहे हैं. वे आतंकी हैं. आप जानते हैं मैंने क्‍या कहा था.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज