कन्नड़ सिनेमा और ड्रग्स: सेल्युलॉइड ने खड़ा किया गंभीर संकट, मुख्यमंत्री को राज्य की छवि की चिंता

कन्नड़ सिनेमा और ड्रग्स: सेल्युलॉइड ने खड़ा किया गंभीर संकट, मुख्यमंत्री को राज्य की छवि की चिंता
अभिनेत्री रागिनी द्विवेदी की फाइल फोटो (Facebook)

इस दौरान जारी छापों के कारण कर्नाटक (Karnataka) की ब्रांड छवि पर नकारात्मक प्रचार के प्रभाव से चिंतित मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (Chief Minister BS Yediyurappa) ने पुलिस (Police) को सख्ती बरतने का आदेश दिया है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 5, 2020, 6:13 PM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कन्नड़ सिनेमा (Kannada Cinema) अस्तित्व के सामने खड़े एक संकट (existential crisis) का सामना कर रहा है, एक अलग तरह का संकट. राज्य में चल रहे ड्रग रैकेट (drug rackets) का भंडाफोड़ करने के लिए सिनेमा सितारों पर चल रही पुलिस छापेमारी (police raids) और अभिनेता रागिनी द्विवेदी की गिरफ्तारी ने फिल्म उद्योग (film industry) को बड़ा झटका दिया है. जो पहले ही कोरोना वायरस महामारी (coronavirus pandemic) के कारण अपने सबसे बुरे दौर से गुजर रहा था. अभिनेताओं के बीच नशीली दवाओं के दुरुपयोग के चौंकाने वाले खुलासों ने वस्तुतः संघर्ष कर रही सेल्युलाइड दुनिया (celluloid world) को वर्चुअल तरीके से बांट दिया है. कुछ इस वाकये को बाद सभी को एक जैसा बताये जाने पर इसे बदले की कार्रवाई कह रहे हैं, जबकि अन्य लोग सिल्वर स्क्रीन (silver screen) को पूरी तरह से साफ किये जाने की मांग कर रहे हैं.

85 साल का हो चुका कन्नड़ सिनेमा (Kannada cinema) दो दशक पहले अत्यधिक रूढ़िवादी था. वैश्वीकरण (Globalisation), सैटेलाइट टेलीविजन उभार, और बेंगलुरु (Bengaluru) के एक महानगर के रूप में हुए विकास ने इसे बदल दिया और उद्योग को बाहरी प्रभाव के प्रति संवेदनशील बनाया. हालांकि इस दौरान जारी छापों के कारण कर्नाटक (Karnataka) की ब्रांड छवि पर नकारात्मक प्रचार के प्रभाव से चिंतित मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा (Chief Minister BS Yediyurappa) ने पुलिस को सख्ती बरतने का आदेश दिया है. एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी के अनुसार येदियुरप्पा, कर्नाटक को पंजाब (Punjab) के रास्ते पर नहीं जाने देना चाहते हैं.

लॉकडाउन और सिनेमा उद्योग को हुए भारी नुकसान के बाद यह बड़ा झटका
छह महीने के लॉकडाउन और सिनेमा उद्योग को हुए भारी नुकसान के बाद कुछ उम्मीदें जगाते हुए कुछ महीने पहले ही शूटिंग फिर से शुरू हुई थी. ऐसे में ये छापे और गिरफ्तारियां उन लोगों के लिए एक कठोर आघात के रूप में सामने आई है, जिनका ड्रग संकट से कोई लेना-देना नहीं है.
यह भी पढ़ें: राजनाथ सिंह की चीन को चेतावनी, कहा- हमारे इरादों को लेकर भ्रम न पालें



यह सब पिछले हफ्ते शुरू हुआ, जिसमें बेंगलुरु पुलिस की एक नारकोटिक्स शाखा ने एक ड्रग रैकेट का भंडाफोड़ करने के लिए एक अपार्टमेंट में छापा मारा. उन्होंने तीन लोगों को गिरफ्तार किया, जिनमें एक कथित महिला ड्रग पेडलर भी शामिल है, जिसकी पहचान डी अनिका के रूप में की गई है. पुलिस के अनुसार उसने ड्रग्स और सिनेमा के सांठगांठ का खुलासा किया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading