Home /News /nation /

कर्नाटक: गांधी जयंती पर बेंगलुरु में मांस बिक्री पर प्रतिबंध, BBMP ने लिया फैसला

कर्नाटक: गांधी जयंती पर बेंगलुरु में मांस बिक्री पर प्रतिबंध, BBMP ने लिया फैसला

BBMP ने मांस बिक्री पर लगाया प्रतिबंध.

BBMP ने मांस बिक्री पर लगाया प्रतिबंध.

Gandhi Jayanti: BBMP ने महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर मांस बेचने और पशु हत्या पर प्रतिबंध लगाया है. बीबीएमपी इससे पहले भी मांस ब्रिकी पर प्रतिबंध की घोषणा कर चुका है.

    बेंगलुरु. महात्मा गांधी की जयंती के मौके पर बेंगलुरु में मांस की बिक्री पर प्रतिबंध रहेगा. ब्रुहट बेंगलुरु महानगर पालिका (BBMP) ने 2 अक्टूबर को पशु वध और मांस बेचने पर प्रतिबंध लगाने का फैसला किया है. इससे पहले गणेश चतुर्थी पर भी बेंगलुरु में मांस की बिक्री पर बैन लगाया गया था. पशु अधिकारों के लिए काम करने वाली संस्था पीपुल्स फॉर द एथिकल ट्रीटमेंट ऑफ एनिमल्स (PETA) ने भी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) को पत्र लिखकर महात्मा गांधी के सम्मान में 2 अक्टूबर को ‘नेशनल मीट फ्री डे’ घोषित करने की अपील की थी.

    पीएम मोदी को लिखे पत्र में पेटा ने कहा था कि शाकाहारी होना महात्मा गांधी के लिए ‘नैतिक सिद्धांत का मामला था.’ पत्र में पेटा इंडिया के सीईओ डॉक्टर मणिलाल वेल्लियाते ने लिखा था, ‘हमारे राष्ट्र को गांधी के सिद्धांतों पर चलने के लिए प्रोत्साहित करना संवेदनशील जानवरों को गंदगी में बंद होने, बच्चों से अलग होने और शरीर के अंगों के लिए बुरी तरह मारे जाने से बचाएगा.’

    पत्र में आगे कहा गया, ‘ऐसी परंपरा शुरू करना, जो शाकाहार को बढ़ावा देती है. यह गांधी के अथाह प्रवाह को श्रद्धांजलि देने का स्थाई तरीका है.’ पेटा ने इस बात पर भी जोर दिया था कि मांस छोड़ने से कैंसर, दिल की बीमारियों, डायबिटीज और मोटापे का जोखिम कम होता है. साथ ही यह ग्रीन हाऊस गैस एमिशन्स को कम कर जलवायु परिवर्तन से लड़ने में भी मदद करती है. इसके अलावा यह भविष्य की महमारियों से बचाने में भी मददगार है.

    Tags: BBMP, Gandhi Jayanti, Karnatka, Meat Ban

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर