अपना शहर चुनें

States

कर्नाटक: सीएम बदलने की खबरों से येडियुरप्पा का इंकार, कहा- इस बात की कभी चिंता नहीं की

कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (फाइल फोटो)
कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा (फाइल फोटो)

Karnataka Politics: सीएम बीएस येडियुरप्पा (BS Yediyurappa) की आयु 77 वर्ष को देखते हुए ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि भाजपा आलाकमान आने वाले दिनों में कर्नाटक में नेतृत्व में बदलाव कर सकता है. हालांकि, सीएम ने सभी अटकलों को खारिज किया है.

  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) में जारी सत्ता परिवर्तनों की खबरों पर राज्य के मुख्यमंत्री बीएस येडियुरप्पा ने विराम लगा दिया है. गुरुवार को उन्होंने साफ किया है कि वे सीएम (Karnataka CM) का दायित्व निभाते रहेंगे. येडियुरप्पा ने गुरुवार को दावा किया कि वह दो साल से अधिक की शेष अवधि तक पद पर बने रहेंगे, अपना कार्यकाल पूरा करेंगे और सत्तारूढ़ भाजपा (BJP) के भीतर इसको लेकर कोई भ्रम नहीं है.

येडियुरप्पा ने कहा कि प्राकृतिक आपदाओं और कोविड-19 महामारी (Covid-19 Pandemic) के साथ पिछला एक वर्ष उनकी सरकार के लिए एक ‘अग्नि परीक्षा’ जैसा था. यहां पत्रकारों से बात करते हुए उन्होंने कहा कि उनकी सरकार की इच्छा देश के विकास मानचित्र पर कर्नाटक को पहले स्थान पर ले जाने की है. उन्होंने राज्य के सामने आई वित्तीय बाधाओं का भी उल्लेख किया.

नेतृत्व परिवर्तन और सरकार पर इसके प्रभाव के बारे में पूछे गए एक सवाल के जवाब में येडियुरप्पा ने कहा, 'मेरी सरकार के पिछले डेढ़ साल में एक दिन के लिए भी मैंने इसकी चिंता नहीं की. मेरा ध्यान अपने काम और विकास पर केंद्रित है. इन बातों का कोई असर नहीं हुआ.' इससे पहले भाजपा महासचिव व राज्य के प्रभारी अरुण सिंह ने स्पष्ट किया कि अगले ढाई साल तक कोई समस्या नहीं है और येडियुरप्पा मुख्यमंत्री बने रहेंगे.



उन्होंने कहा, 'हमारे मंत्रियों या विधायकों और लोगों के बीच कोई भ्रम नहीं है. यदि भ्रम है, तो यह मीडिया के दोस्तों के बीच है. अगर आप सहयोग करेंगे तो सब ठीक हो जाएगा.' येडियुरप्पा की आयु 77 वर्ष को देखते हुए ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि भाजपा आलाकमान आने वाले दिनों में कर्नाटक में नेतृत्व में बदलाव कर सकता है.
यह भी पढ़ें: कर्नाटक: विस्तार में देरी के बीच CM येडियुरप्पा ने 13 विधायकों को दी कैबिनेट रैंक की नियुक्तियां

हालांकि, प्रदेश भाजपा ने इस तरह की अटकलों को खारिज किया है, लेकिन पार्टी के भीतर कुछ विधायकों ने अपने बयानों से इस बात को हवा दी है. भाजपा विधायकों के खुले तौर पर बयान देने और उनके द्वारा असहमति व्यक्त करने वाले पत्र लिखे जाने के बारे में पूछे जाने पर, येदियुरप्पा ने कहा कि इतने सारे विधायकों में से एक या दो ने कुछ बयान दिए होंगे. उन्होंने कहा, 'उनकी चिंताओं को दूर करने के लिए, मैं अपने सभी विधायकों के साथ बैठक करूंगा.'

राज्य और इसकी अर्थव्यवस्था पर कोविड-19 के प्रभाव का उल्लेख करते हुए, मुख्यमंत्री ने कहा, 'हमें 25,000 से 30,000 करोड़ रुपये के वित्तीय नुकसान का सामना करना पड़ सकता है और अगले बजट में भी हमें इस समस्या का सामना करना पड़ सकता है.'
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज