लाइव टीवी
Elec-widget

कर्नाटक उपचुनाव: कुछ सीटों पर बागियों से होगा बीजेपी का सामना!

भाषा
Updated: November 14, 2019, 2:30 AM IST
कर्नाटक उपचुनाव: कुछ सीटों पर बागियों से होगा बीजेपी का सामना!
कर्नाटक में कुछ महीने पहले अपने ही विधायकों के पाला बदलने से कांग्रेस और जेडीएस की गठबंधन सरकार गिर गई थी.

सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) ने कर्नाटक (Karnataka) के अयोग्य विधायकों को उपचुनाव (By-Elections) लड़ने की अनुमति दे दी है.

  • Share this:
बेंगलुरू. कर्नाटक (Karnataka) में सत्तारूढ़ भाजपा  (BJP) को उपचुनाव वाले कुछ क्षेत्रों में बगावत का सामना करना पड़ सकता है और ऐसे संकेत हैं कि कांग्रेस (Congress) और जद (एस - JD-S) के अयोग्य ठहराए गए 17 विधायक पार्टी में शामिल हो सकते हैं और उनमें से कुछ को पांच दिसंबर के उपचुनाव में टिकट मिल सकता है.

भाजपा सांसद बी एन बचेगौड़ा के पुत्र शरत बचेगौड़ा और राजू केगे ने खुलेआम पार्टी के खिलाफ विद्रोह कर दिया है. वे 15 निर्वाचन क्षेत्रों में उपचुनाव में टिकट नहीं मिलने के संकेत से नाराज हैं.

होसकोटे से निर्दलीय के रूप में नामांकन दाखिल करेंगे शरत
दोनों नेता 2018 के विधानसभा चुनाव में मैदान में उतरे थे और कांग्रेस उम्मीदवारों से पराजित हो गए थे. दोनों विजयी उम्मीदवार अयोग्य विधायकों में शामिल हैं. केगे ने भाजपा छोड़ने और कांग्रेस में शामिल होने के अपने फैसले की घोषणा पहले ही कर दी थी जबकि शरत ने बुधवार को कहा कि वह होसकोटे से निर्दलीय के रूप में नामांकन दाखिल करेंगे.

शरत की घोषणा ऐसे दिन हुई जब सुप्रीम कोर्ट ने अयोग्य ठहराए गए विधायकों को उपचुनाव लड़ने की अनुमति दे दी. अब सभी की निगाहें भाजपा के अगले कदम पर हैं कि वह उन्हें टिकट देगी या नहीं. मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा ने कहा कि अयोग्य ठहराए गए विधायक गुरुवार को भाजपा में शामिल होंगे.

यह भी पढ़ें: सुप्रीम कोर्ट के फैसले से दिलचस्प हुई कर्नाटक की राजनीति, बीजेपी को 15 में 6 सीटें जीतना जरूरी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 14, 2019, 2:19 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...