लाइव टीवी
Elec-widget

कर्नाटक उपचुनाव: 15 विधानसभा सीटों पर वोटिंग, तय होगा येडियुरप्पा सरकार का भविष्य

News18Hindi
Updated: December 5, 2019, 11:53 AM IST
कर्नाटक उपचुनाव: 15 विधानसभा सीटों पर वोटिंग, तय होगा येडियुरप्पा सरकार का भविष्य
15 सीटों पर उपचुनाव के लिए वोटिंग शाम 6 बजे तक होगी.

कर्नाटक उपचुनाव (Karnataka By poll) में बीजेपी (BJP) को राज्य की सत्ता में बने रहने के लिए 225 सदस्यीय विधानसभा (स्पीकर सहित) में 15 सीटों (जिन पर उपचुनाव हो रहे हैं) में कम से कम छह सीटें जीतने की जरूरत है. हालांकि, अब भी मास्की और आर आर नगर सीटें रिक्त रहेंगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 5, 2019, 11:53 AM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) की 15 विधानसभा सीटों पर उपचुनाव के लिए गुरुवार को मतदान हो रहा है. वोटिंग सुबह 7 बजे शुरू हुई और 6 बजे तक चलेगी. 11 बजे तक 17.60  फीसदी  मतदान हुआ था.कर्नाटक में हो रहा उपचुनाव (Karnataka By poll)  राज्य में मुख्यमंत्री बी एस येदियुरप्पा (BS Yediyurappa) नीत भाजपा सरकार (BJP Government) की किस्मत तय करेगा. हालांकि, राजनीतिक दलों को उपचुनाव में कम मतदान होने की संभावना है. बीजेपी (BJP) को राज्य की सत्ता में बने रहने के लिए 225 सदस्यीय विधानसभा (स्पीकर सहित) में 15 सीटों (जिन पर उपचुनाव हो रहे हैं) में कम से कम छह सीटें जीतने की जरूरत है. हालांकि, अब भी मास्की और आर आर नगर सीटें रिक्त रहेंगी.

ये उपचुनाव 17 विधायकों को अयोग्य करार देने से पैदा हुई रिक्तियों को भरने के लिये हो रहे हैं. इन विधायकों में कांग्रेस और जद(एस) के बागी नेता शामिल थे. इन विधायकों की बगावत के चलते जुलाई में एचडी कुमारस्वामी नीत कांग्रेस-जद(एस) सरकार गिर गई थी और भाजपा के सत्ता में आने का मार्ग प्रशस्त हुआ. विधानसभा में अभी बीजेपी के पास 105 (एक निर्दलीय सहित), कांग्रेस के 66 और जद (एस) के 34 विधायक हैं. बसपा का भी एक विधायक है. इसके अलावा एक मनोनीत विधायक और स्पीकर हैं. अयोग्य करार दिए गए 13 विधायकों को बीजेपी ने अपना उम्मीदवार बनाया है. उपचुनाव लड़ने के लिए सुप्रीम कोर्ट से इजाजत मिलने के बाद पिछले महीने वे भाजपा में शामिल हो गए थे.

बीजेपी और कांग्रेस ने किया जीत का दावा
गुरुवार को जिन 15 सीटों पर उपचुनाव हो रहे हैं, उनमें 12 पर कांग्रेस और तीन पर जद (एस) का कब्जा है. बीजेपी के एक पदाधिकारी ने कहा कि किसी भी उपचुनाव में मतदान प्रतिशत कम होता है. कांग्रेस के भी एक पदाधिकारी ने कहा कि पार्टी के आंतरिक सर्वेक्षण के मुताबिक मतदान प्रतिशत कम रहने की उम्मीद है, लेकिन इसका फायदा कांग्रेस को होगा. राज्य में ये उपचुनाव 21 अक्टूबर को होने थे लेकिन चुनाव आयोग ने इसे पांच दिसंबर के लिए टाल दिया. दरअसल, शीर्ष न्यायालय ने अयोग्य करार दिए विधायकों की याचिकाओं की सुनवाई करने का फैसला किया था.

यह भी पढ़ें...
कर्नाटक उपचुनावों से पहले पूर्व PM एचडी देवेगौड़ा के पोते और 6 अन्य के खिलाफ BJP कार्यकर्ता पर हमले के लिए केस दर्ज

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 5, 2019, 7:00 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...