लाइव टीवी

कर्नाटक: सुप्रीम कोर्ट में बागी विधायकों का मामला लंबित, नॉमिनेशन के लिए बचे सिर्फ 9 दिन

News18Hindi
Updated: September 22, 2019, 12:03 AM IST
कर्नाटक: सुप्रीम कोर्ट में बागी विधायकों का मामला लंबित, नॉमिनेशन के लिए बचे सिर्फ 9 दिन
कर्नाटक में कांग्रेस और जेडीएस के बागी नेताओं का राजनीतिक करियर खतरे में पड़ता दिख रहा है.

कर्नाटक (Karnataka) में कांग्रेस (Congress) और जेडीएस (JDS) के बागी नेताओं का राजनीतिक करियर खतरे में पड़ता दिख रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 22, 2019, 12:03 AM IST
  • Share this:
बेंगलुरु. कर्नाटक (Karnataka) में कांग्रेस (Congress) और जेडीएस (JDS) के बागी नेताओं का राजनीतिक करियर खतरे में पड़ता दिख रहा है. कर्नाटक में 23 जुलाई को कांग्रेस-जेडीएस सरकार तब गिर गई थी जब तत्कालीन मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी (HD Kumaraswamy) द्वारा लाया गया विश्वास प्रस्ताव विधानसभा में गिर गया था.

कर्नाटक के इन बागी विधायकों की याचिका को लंबित रखा हुआ है. चुनाव आयोग (Election Commision) ने शनिवार को महाराष्ट्र (Maharashtra) और हरियाणा (Haryana) में विधानसभा चुनावों की तारीखों की घोषणा कर दी है. इन्हीं चुनावों के साथ कर्नाटक की 15 विधानसभा सीटों के लिए उपचुनाव भी होने हैं. दोनों राज्यों समेत 18 राज्यों की 64 विधानसभा सीटों के साथ-साथ एक लोकसभा सीट पर उपचुनाव के लिए 21 अक्टूबर को मतदान होगा. इसके नतीजों की घोषणा 3 दिन बाद यानी 24 अक्टूबर को होगी. चुनाव की तारीखों की घोषणा के साथ, उप-चुनाव के लिए नामांकन दाखिल करने के लिए केवल नौ दिन बचे हैं. इसके लिए 30 सितंबर आखिरी तारीख है.

23 सितंबर को सुप्रीम कोर्ट में होगी सुनवाई
सुप्रीम कोर्ट (Supreme Court) 23 सितंबर को अयोग्य ठहराए गए विधायकों की याचिका पर सुनवाई करेगा, चुनाव आयोग ने शनिवार को तारीखों की घोषणा करने के बाद, भाजपा के सूत्रों ने कहा कि अयोग्य ठहराए गए कुछ विधायकों ने कर्नाटक के मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा के निजी सहायक, एनआर संतोष से मुलाकात की है.

आपको बता दें जिन सीटों पर उपचुनाव कराए जाएंगे उनका प्रतिनिधित्व अयोग्य ठहराये गये कांग्रेस-जद (एस) के पूर्व विधायक कर रहे थे. हालांकि अयोग्य ठहराये गये विधायकों का कहना है कि वे चुनाव प्रक्रिया पर रोक लगाये जाने की सोमवार को मांग करेंगे क्योंकि अयोग्य ठहराये जाने को चुनौती देने वाली उनकी याचिका उच्चतम न्यायालय के समक्ष लंबित है.

इन सीटों पर होना है चुनाव
जिन 15 सीटों पर उपचुनाव होगा उनमें अथानी, कगवाड, गोकाक, येलापुरा, हिरेकेरुर, रानीबेन्नूर, विजयनगर, चिकबल्लापुरा, के आर पुरा, यशवंतपुरा, महालक्ष्मी लेआउट, शिवाजिनगारा, होसाकोटे, के आर पेट और हुंसुर शामिल हैं. मास्की और राजराजेश्वरी नगर विधानसभा सीटों के लिए चुनावों की घोषणा नहीं की गई है.
Loading...

दो सीटों पर उपचुनाव नहीं कराए जाने के बारे में सीईओ ने कहा कि इन्हें अभी नहीं कराया जा सकता क्योंकि 2018 के विधानसभा चुनावों से संबंधित चुनाव याचिकाएं उच्च न्यायालय में लंबित हैं जो उच्चतम न्यायालय में चल रहे 17 अयोग्य विधायकों के मामले से अलग है.

(भाषा के इनपुट के साथ)

ये भी पढ़ें-
Assembly Election: प्रत्याशियों पर मंथन जारी, BJP में टिकट के लिए घमासान!

One Nation One Poll का क्या है फ्यूचर? CEC अरोड़ा ने दिए ये संकेत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 21, 2019, 10:56 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...